Header Ads


  • BREAKING NEWS

    मतदान एक मात्र ऐसा त्योहार है, जो पांच वर्षों में एक बार आता है,डीएम पटना



    We News24  Hindi » बिहार पटना 
    ब्यूरो संवाददाता राजकुमार 
    पटना : जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी  कुमार रवि ने आज समाहरणालय (हिन्दी भवन) सभा कक्ष में लोक सभा निर्वाचन-2019  स्वच्छ, निष्पक्ष, भयमुक्त, शांतिपूर्ण एवं सहभागितापूर्ण  सम्पन्न कराने के लिए महिला पीठासीन पदाधिकारी, मतदान पदाधिकारी एवं महिला ट्रेनरों को प्रशिक्षण दिया।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने सभी महिला पीठासीन/मतदान पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए पूरी तन्मयता से मतदान सम्पन्न कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ई0वी0एम0 की प्रक्रिया को अच्छी तरह समझ लेना है। यह भी समझ लेना है कि अगर ई0वी0एम0 खराब है तो उसे ठीक कैसे करना है। पीठासीन/मतदान पदाधिकारी न केवल राजनैतिक रूप से निष्पक्षता( Neutrality )के साथ कार्य करें, बल्कि नागरिकों में उतनी निष्पक्षता परिलक्षित होना चाहिए।

    यह भी पढ़े :महाविद्यालय में छात्रों के साथ हो रहा शोषण एवं लूट खसोट और भ्रष्टाचार,के विरोध में छात्र संघ ने अनिश्चित कालीन किया बंद एलान

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि All Women  Booth पर शत-प्रशित मतदान होगा। मतदान एक मात्र ऐसा त्योहार है, जो पांच वर्षों में एक बार आता है।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि 28 संसदीय लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र के 178-मोकामा एवं 179-बाढ़ विधान सभा क्षेत्रांतर्गत दो-दो बूथ All Women Booth होगा, जिसमें पीठासीन पदाधिकारी, पी0-1, पी0-2, पी0-3, पी0-4, दंडाधिकारी, सेक्टर पदाधिकारी एवं सेक्टर पुलिस पदाधिकारी महिलाएं होंगी। All Women Booth पर महिलाओं को  मतदान करने में अच्छा लगेगा।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने बताया कि जिला निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार पूरे देश में प्रत्येक विधान सभा में कम से कम एक बूथ All Women Booth बनाया गया है।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने सभी पीठासीन पदाधिकारी/मतदान पदाधिकारी से कहा कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम-1951 की धारा 28क के तहत पीठासीन/मतदान पदाधिकारी अधिसूचना की तारीख प्रारंभ होने से निर्वाचन परिणाम के घोषित किए जाने की  तारीख तक भारत निर्वाचन आयोग में प्रतिनियुक्त समझे जायेंगे और तद्नुसार उस अवधि के दौरान भारत निर्वाचन आयोग के नियंत्रण, अधीक्षण और अनुशासन (Control, Superntendence and Discipline) के अधीन कार्यरत रहेंगे।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि पीठासीन पदाधिकारी के रूप में निर्वाचन संचालन में आपकी महत्वपूर्ण भूमिका है। आपके प्रभाराधीन मतदान केन्द्र के कार्यवाही को नियंत्रित करने हेतु आपको सम्पूर्ण कानूनी शक्तियाँ प्राप्त है। आपके मतदान केन्द्र पर स्वतंत्र तथा निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करना आपका प्रमुख कर्तव्य एवं उत्तरदायित्व है। इस प्रयोजन के लिए आवश्यक है कि आप चुनाव कराने एवं ई0वी0एम0-वी0वी0पैट संचालन की प्रक्रिया तथा चुनाव संबंधी प्रमुख विधि-विधानों की पूर्ण जानकारी प्रशिक्षण में प्राप्त कर लें।

    यह भी पढ़े :देखे कटिहार में लोकसभा चुनाव का लोगो ने किया बहिष्कार ,कहा रोड नहीं तो वोट नहीं

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने ने कहा कि आप अपने मतदान दल के सभी सदस्यों के साथ निर्धारित योगदान स्थल पर सही समय पर योगदान देंगे एवं अंतिम प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे तथा सभी कर्मियों के बीच निकट संबंध बनाये रखेंगे एवं चुनाव को टीम वर्क समझकर कार्य-सम्पादित करेंगे।

    * पीठासीन पदाधिकारी सामग्री प्राप्त करते समय सुनिश्चित कर लें कि उन्हें समस्त मतदान सामग्री दे दी गई हैं सभी सामग्री की जांच अवश्य कर लें।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि विशेष रूप से मतदाताओं का रजिस्टर (17-A) मतदाता स्लीप,  के लिए उपयोग में लिए जानेवाला मतपत्र, मतदाता स्लीप के लिए एरो क्रास ,मार्क्स रबर की स्टाम्प, ग्रीन पेपर सील, स्ट्रीपसील, एड्रेस टैग, मुहरबंद करने के लिए मोम, अमिट स्याही आदि की जांच कर लें।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि निर्वाचक नामावली की चिन्हित प्रति से अन्य प्रतियों का मिलान करें और यह देख लें कि समस्त प्रतियाँ समरूप है और निर्वाचक नामावली के चिन्हित प्रति में Postal Ballot, EDC, Proxy Voter को चिन्हित किया गया है और उसकी सूची ढंग से लगे हैं।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने  कहा कि यह सुनिश्चित कर लें कि- आपको ई0वी0एम0 का जो सी0यू0 , बी0यू0 और वी0वी0पैट प्राप्त हुआ है उसका आपके मतदान केन्द्र पर उपयोग किया जाना है। अपने नियुक्ति पत्र से इनका नम्बर मिला लें। सी0यू0, बी0यू0 एवं वी0वी0पैट का सीलिंग सही ढंग से किया हुआ है या नहीं ? तथा Bollot Unit पर Side Switch सही नम्बर में लगा हुआ है या नही ?

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि माॅडल ले आउट के अनुसार मतदान केन्द्र स्थापित करें। मतदान केन्द्र पर मतदाताओं के आने-जाने के लिए अलग-अलग दरवाजा होना चाहिए। मतदान के दिन आपके मतदान केन्द्र के बाहर एक सूचना टांगे, जिसमें निर्वाचन लड़ने वाले सभी अभ्यर्थियों की सूची अंकित करना सुनिश्चित करें।

    यह भी पढ़े :देखें: कन्हैया कुमार को बेगूसराय में अपने रोड शो के दौरान विरोध का सामना करना पड़ा

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि यदि मतदान केन्द्र पर कर्मियों की संख्या कम है तो, सेक्टर पदाधिकारी/जोनल पदाधिकारी को तुरंत सूचना दें एवं कर्मी की मांग करें। यदि सुरक्षित कर्मी नहीं उपलब्ध हो पाये है, तो स्थानीय मतदान अधिकारी नियुक्त कर अपने पीठासीन पदाधिकारी की डायरी में इसका उल्लेख करेंगे। अगर कोई मतदान अधिकारी/कर्मी अनुपस्थित रहेंगे तो उनके विरूद्ध धारा-134 आर0पी0 अधिनियम 1951 के अन्तर्गत कार्रवाई की जायेगी।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि मतदान प्रारंभ करने के लिए निर्धारित समय से कम से कम एक घंटा पूर्व ई0वी0एम0 की तैयारी प्रारंभ कर दें।

    * जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी ने कहा कि Mock Poll के संबंध में ध्यान देने योग्य बातें निम्न हैः-

    1. वास्तविक मतदान प्रारंभ होने के निर्धारित समय से एक घंटा पूर्व Mock Poll प्रारंभ कर दें, यदि कम-से-कम दो प्रत्याशियों के मतदान अभिकर्ता उपस्थित हों।

    2. यदि ऐसा नहीं हो तो 15 मिनट की प्रतीक्षा करें। यदि 15 मिनट की प्रतीक्षा के पश्चात् भी कम-से-कम दो प्रत्याशियों के मतदान अभिकर्ता उपस्थित नहीं होते हैं, तो मॉक  पोल प्रारंभ कर दें।

    3.Mock Poll के समय NOTA बटन सहित सभी प्रत्याशियों के बटन को randomly कम से कम तीन बार दबाना है। प्रत्याशियों की संख्या कम होने की स्थिति में भी Mock Poll के दौरान कम से कम 50 मत डालना है।

    यह भी पढ़े :सारे मोदी चोर है ,राहुल गाँधी के इस बयान पर सुशिल मोदी ने करया केस दर्ज , राहुल गाँधी को हो सकतीं है दो साल तक की सजा

    4. यह विशेष ध्यान देना होगा कि Ballot बटन दबाने पर LED लाईट सही प्रत्याशी के पक्ष में तथा बीप ध्वनि अच्छी तरह सुनाई दें। यदि ऐसा नहीं होता है तो उस ई0वी0एम0 मशीन का प्रयोग मतदान हेतु नहीं किया जाय एवं उसे बदल दिया जाय।               

    * बैठक में जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी श्री कुमार रवि के अलावे वरीय प्रभारी पदाधिकारी प्रशिक्षण कोषांग श्री मोईजुद्दीन, नोडल पदाधिकारी कार्मिक कोषांग श्री सुवीर रंजन, नोडल पदाधिकारी ई0वी0एम0 कोषांग श्री सुधीर कुमार, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी श्री अनिल कुमार चौधरी सहित सभी संबंधित पदाधिकारी तथा सभी महिला ट्रेनर, पीठासीन पदाधिकारी एवं मतदान पदाधिकारी उपस्थित थें।

    कविन्द्र नेगी द्वारा किया गया पोस्ट  

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad