Header Ads


  • BREAKING NEWS

    बीजेपी सांसद रामा देवी विकासहीनता की प्रतिमूर्ति ,इलाके का में कोई विकास नहीं ,देखे वीडियो


    We News24  Hindi »बिहार शिवहर 
    ब्यूरो चीफ दीपक कुमार 
    संवाददाता रौशन कुमार साह 
    शिवहर:लोकसभा चुनाव महाकुंभ शुरू हो चूका है इस महाकुंभ में सभी दलों के नेता गोटा लगाने को तैयार है , की किसे गद्दी मिलती है और नाकामी । इस बात की चर्चा गांव के नुक्कड़, एवं चाय की दुकान व चौक चौराहों पर शरू हो चुकी है । 

    इसी कड़ी में  बीजेपी सांसद रामा देवी के लोकसभा के शिवहर क्षेत्र के पचनौरा घाट एवं और जगहों पर हो रही चर्चा में रमा देवी क्षेत्र की नकारा व असंवेदनशील तथा विकासहीनता की प्रतिमूर्ति हैं ऐसा वंहा के स्थानीय लोग बोले । न तो इलाके का विकास और न हीं क्षेत्रवासियों के जीवन यापन में कोई बदलाव नहीं  हुई। कुल मिलाकर रमा देवी हालात इस बार बेहद खस्ता दिख रहा है । रमा देवी के त्रुटिपूर्ण रवैये के कारण उनसे जुड़े परसेंटेज लोग अब उनके साथ पार्टी से भी मुहं मोड़ चुके हैं। यह जानकारी के बाद We news 24 की टीम जब शिवहर लोकसभा क्षेत्र के पचनौरा घाट  पहुँची तो रिपोर्ट और भी ज्यादा चौकाने वाले थे। अधिकांश लोग रमा देवी से असहमत व असंतुष्ट दिखे।

    यह भी पढ़े :आर्थिक तंगी :26 बरसों से सेवाएं दे रही जेट एयरवेज का ऑपरेशन बुधवार से रोक दिया गया जेट के कर्मचारी फूट-फूट कर रोए




    रमा देवी का संसदीय क्षेत्र का तस्वीर 




    असहमति का कारण
    विकास व अन्य योजनाओं का ध्वस्त होना तथा क्षेत्र के आमजनों के बीच समय नहीं देना रमा देवी के प्रति लोगों के असहमति का प्रमुख कारण है। रमा देवी के 5 वर्षों का कार्यकाल लगभग पूरा होने को है, वावजूद इसके क्षेत्र अबतक विकास कार्य से अछूता है। जिससे लोगों में आक्रोश का माहौल वयाप्त है।

    यह भी पढ़े :दहेज में मोटरसाईकिल और नगदी न मिलने पर नवविवाहित को गला दबाकर मार डाला

    – गोद लिए गांवों का भी बुरा है हाल
    सांसद रमा देवी के द्वारा गोद लिए गांव धनकौल की स्थिति भी बेहद खराब है। यहाँ बसर करने वाले लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित व असंतुष्ट है। लोग खुले में शौच करने जाना आम है। स्थानीय लोगों में का कहना है कि विद्यालय, रोड, पेयजल, प्लेग्राउंड की समुचित व्यवस्था अबतक नहीं हो पाई है।
    रमा देवी का संसदीय क्षेत्र का तस्वीर 

    – विकास कार्यों में कमीशन का भारी फेरा
    रमा देवी के संसदीय क्षेत्र में विकास कार्यों की भी हालात जर्जर है। इसका मुख्य कारण ठेकेदारों से कमीशन के रूप में मोटी रकम की उगाही बताई जा रही है। ज्यादा कमीशन देने वाले ठेकेदार कार्य एस्टीमेट को ताख पर रखकर किये। जिससे उनकी हालत समय से पहले ही खस्ता होती जा रही है। सड़को का बुरा हाल है। महज दो-तीन सालों में सड़क खंडहर में तब्दील हो चुका है।उक्त कथन स्थानीय आम लोगों का है।


    क्या होगा इस बार रमा देवी का 
    पड़ताल के दौरान क्षेत्र में पार्टी से मुहं मोड़ चुके कई लोगों ने बताया कि ऐसे सांसद जिनके कार्यकाल में सम्पूर्ण शिवहर क्षेत्र विकास से अछूता रहा। नैतिकता के आधार पर ऐसे प्रत्याशी को तो लोकतंत्र के महापर्व चुनाव हीं नहीं लड़ना चाहिए। पार्टी के शीर्ष नेतृत्वकर्ता यदि फिर से रमा देवी को टिकटदिया  हैं तो इस बार करारी हार तय माना जायेगा। इनके जगह पर किसी भी स्वच्छ छवि के लोगों को पार्टी टिकट देती है तो उनका स्वागत है, उनकी जीत भी सुनिश्चित है।

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad