Header Ads

  • BREAKING NEWS

    बिहार का एक गाँव ऐसा जंहा बूंद-बूंद पानी को तरस रहे है गाँव के लोग



    We News 24 Hindi » वैशाली.बिहार
    ब्यूरो  संवाददाता नागमणि की रिपोर्ट  
    बिहार :के वैशाली जिले में दर्जनों गांव ऐसे है जहां लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं |और ये हालात तक़रीबन पुरे बिहार होने वाला है और कुछ जिलो में हो भी गया है क्या आपने कभी सोचा है की ये स्थिति क्यों पैदा हो रही है | इसका मुख्य कारण है 2016 के चुनाव के समय नीतीश कुमार ने सात निश्चय किया था  इसमें एक निश्चय यह है जल नल  नल योजना इअसके तहत जगह जगह लगाए जा रहे सबमर्सिबल पंप जिसके वजह से बड़ी तेजी से भूमिगत जलस्तर कम हो रहा है | 

    ये भी पढ़े :बिहार में कुदरत का कहर जारी,ट्रेनों की रफ्तार पर लगा ब्रेक ,पटना के सड़कों पर चल रही नाव


    इसका खामियाजा वैशाली जिले का एक गाँव भुगत रहा है जहां इन दिनों दो बूंद पानी के लिए त्राहि-त्राहि मची हुई है और गाँव है   लालगंज :-प्रखंड क्षेत्र के गुरमिया पंचायत के वार्ड 14 इस वार्ड में तकरीबन सात सौ लोगो की आबादी है और इस वार्ड में मात्र 10 पुराने चापाकल है जिसमे से एक ही चापाकल चलता है जिसमे न के बराबर पानी गिरता है | गाँव की महिलाये घंटो लम्बी लाइन में लग कर पानी भरती है | जिसके कारण बच्चे बिना खाए बिना स्नान किये स्कुल चले जाते है | लोगो को हफ्ते हो जाते है नहाते हुए  तालाब का गन्दा पानी पिने को मजबूर है | ऐसे नारकीय जीवन जी रहे है इस गाँव के लोग |

    ये भी पढ़े :सीतामढी नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन की आपात बैठक

    ग्रामीणों ने कई बार समस्याओ को लेकर अपने जनप्रतिनिधि और मुखिया से गुहार लगा चुके है |पर इनकी समस्या को सुनने वाला कोई नहीं है | सिर्फ इनके जनप्रतिनिधियों को इनका वोट चाहिए समस्या नहीं  रोज-रोज के पानी की किल्लत के समस्या को लेकर ग्रामीण का आक्रोश फुट पड़ा.ग्रामीणों में बच्चे बूढ़े व औरतों ने जमकर  विरोध प्रदर्शन किया और प्रखंड  विकास पदाधिकारी, पंचायत सचिव,मुखिया गुंजा कुमारी के विरुद्ध मुर्दाबाद के नारे लगाए. ग्रामीणों का कहना है की जब मुखिया गूंजा कुमारी के पास जाते है अपनी समस्या को लेकर तो भगा देती है और उधर हमारे बच्चे को भी स्कुल से मास्टर ये कहकर भगा देता है शरीर से दुर्गन्ध आ रहा है इनका कहना है बड़ी मुश्किल से थोडा पानी मिलता है इसमें हम खाना बनाये पिए या स्नानं करे |
    VIDEO:-

    ये भी पढ़े :वैशाली के लालगंज में मवेशी हड्डियों अवैध कारोबार इलाके में चोरी छूपे चल रहा है बुचडखाने

    आपको बताते चले ये भयानक स्थिति आने वाले दिनों में पुरे बिहार में देखने को मिल सकता जिसका जीता जगता उदहारण बिहार का दरभंगा है | दरभंगा जैसे शहर में जहां सैंकड़ों की संख्या में तालाब थी, आज उनमें पानी नहीं है। इस ज़िले से गुज़रने वाली अधिक नदियों की धाराएं सूख चुकी हैं। बहुत सारी नदियां तो विलुप्त होती जा रही है । शहर का भूमिगत जलस्तर तेजी से नीचे है  सैंकड़ों की संख्या में हैंडपंप सूख गए। 

    जहां भी ऐसे पंप लगे हैं वहां साल दो साल में भूमिगत जल स्तर नीचे गया है।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी अगर पानीबचाने को नहीं सोंचेंगे तो आज तो आप  ज़मीन से खींच करलोगो तक  पानी पहुचा देंगे और  यह योजना  आज और कल का समाधान साबित तो होगी। लेकिन परसों या उआने वाले  दिन में सूखा आना ही आना है । तब यही आपके सूबे के लोग इस नल जल योजना का नाम बद्लर नीतीश सूखा योजना रख देंगे |

    काजल कुमारी द्वारा किया गया पोस्ट 


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad