Header Ads

  • BREAKING NEWS

    पाकिस्तान का नसीब खराब ,70 साल बाद भारत को मिलेगा हैदराबाद के 7वें निजाम का अरबों रुपया

    लंदन: भारत ने एक बार पाकिस्तान को शिकस्त का स्वाद चखाया है. आपको बता दें कि इस बार भारत ने पाकिस्तान को विदेशी धरती पर धूल चटाई है. जी हां लंदन में सालों से चल रही एक कानूनी लड़ाई में पाकिस्तान हार गया है. जानकारी के मुताबिक यह मामला  70 साल पुराने 35 मिलियन पाउंड से जुड़ा हुआ है. बुधवार (02 अक्टूबर) को लंदन की अदालत ने इस मामले में भारत के पक्ष में फैसला सुनाया है.


    लंदन में यह केस भारत-पाकिस्तान और हैदराबाद के 7वें निजाम  के वंशजों के बीच पिछले 70 सालों से चल रहा था. दरअसल, हैदराबाद  के सातवें निजाम ने 1948 में लंदन बैंक में 1 मिलियन पाउंड सा 1948 से ही पाकिस्तान के तत्कालीन उच्चायुक्त रहे यूके रहीमटोला के अकाउंट में जमा हैं.


    लंदन कोर्ट ने पाकिस्तान के उस दावे को खारिज कर दिया जिसमें उसकी ओर से कहा गया था कि हथियारों के बदले में निजाम ने उन्हें यह पेमेंट की थी. जानकारी के मुताबिक कोर्ट ने 1948 और उससे पहले के दस्तावेजों की लंबी जांच के बाद पाकिस्तान  का दावा खारिज कर दिया है.
    इस फैसले के बाद अब करीब तीन अरब रुपये सरकार को लंदन बैंक से मिलने की संभावना है जो हैदराबाद के निजाम  उस्मान अली खान ने लंदन के नेटवेस्ट बैंक में जमा करवाए थे. कहा जाता है कि निजाम का पाकिस्तान से बेहद लगाव था और वे पाकिस्तान की मदद करना चाहते थे. लेकिन, उस वक्त के नियम ऐसे थे कि सीधे तौर पर भारत से पाकिस्तान पैसे नहीं भेजे जा सकते थे. इसी वजह से निजाम ने वह रकम लंदन के बैंक  में जमा कराई थी.

    ये भी पढ़े :चीन का ये विध्वंसक हथियार दुनिया तबाह कर सकता है ,30 मिनट में अमेरिका पर कर सकता है परमाणु हमला

    भारत सरकारको यह बात किसी तरह पता चल गई और इस वजह पाकिस्तान के उच्चायुक्त  निजाम का पैसा इस्तेमाल नहीं कर सके. बाद में निजाम के वंशजों ने भी इन पैसों पर अपना दावा ठोंक दिया जिस वजह से इस केस में कुल तीन पार्टियां बनीं पाकिस्तान, भारत और निजाम के वंशज. अंत में करीब 70 सालों तक चले इस केस में कोर्ट ने भारत सरकार और निजाम के दो वंशजों के पक्ष में फैसला लिया.

    कुंदन कुमार द्वारा किया गया पोस्ट 

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad