Header Ads

  • BREAKING NEWS

    दिल्ली:पुलिस एफआईआर दर्ज करने में उर्दू और फारसी शब्दों का प्रयोग क्यों करती है,दिल्ली हाईकोर्ट

    We News 24 Hindi »नई दिल्ली
     ब्यूरो संवाददाता अंजलि की रिपोर्ट  

    दिल्ली: पुलिस एफआईआर दर्ज करने में उर्दू और फारसी शब्दों का प्रयोग क्यों करती है, जब शिकायतकर्ता आम भाषा में अपनी शिकायत देता है। पुलिस को एफआईआर दर्ज करने में साधारण भाषा का प्रयोग करना चाहिए ताकि एक आम आदमी भी उसे पढ़कर समझ सके। इस मामले में दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने यह टिप्पणी की।  

    ये भी पढ़े :बिहार में शिक्षा व्यवस्था को लेकर नीतीश सरकार के विरुद्ध ,उपेन्द्र कुशवाहा का आमरण अनशन

    अदालत ने मामले की सत्यता की जांच के लिए एफआईआर की 100 प्रतियां पेश करने का आदेश दिल्ली पुलिस को दिया है। इस मामले में अगली तारीख 11 दिसंबर 2019 को होगी।
    मुख्य न्यायमूर्ति डीएन पटेल और न्यायमूर्ति सी. हरि शंकर की खंडपीठ ने कहा कि दिल्ली पुलिस को एफआईआर दर्ज करने में उर्दू और फारसी के उन शब्दों का उपयोग बंद करना चाहिए जो बिना सोचे समझे इस्तेमाल किए जा रहे हैं। एफआईआर दर्ज करने में साधारण भाषा का ही प्रयोग किया जाना चाहिए ताकि शिकायतकर्ता उसे समझ सके कि उसने जो शिकायत दी वह वैसी ही दर्ज हुई।

    ये भी पढ़े :सावधान:सीतामढ़ी खतरे वाली जोन में शामिल, AQI पंहुचा 400


    दिल्ली पुलिस ने खंडपीठ के समक्ष दलील दी कि 20 नवंबर को सभी पुलिस थानों को सर्कुलर जारी कर कहा गया है कि एफआईआर लिखने में उर्दू और फारसी के 383 शब्दों की जगह साधारण शब्दों का प्रयोग किया जाए। दिल्ली पुलिस की इस दलील के बाद पीठ ने उक्त आदेश दिया कि एफआईआर की भाषा साधारण होनी चाहिए या शिकायतकर्ता की भाषा में इसे दर्ज किया जाना चाहिए। 

    ये भी पढ़े :हम सबने ठाना है, नशा मुक्त समाज बनाना है ,गगनभेदी नारों के साथ निकाली गई विशाल जागरूकता रैली

    पीठ ने दिल्ली पुलिस सर्कुलर के लागू होने की सत्यता परखने के लिए 10 थानों में दर्ज की गईं 10-10 एफआईआर की प्रतियां पेश करने आदेश दिया ताकि यह पता लग सके कि दिल्ली पुलिस के सर्कुलर का पालन किया जा रहा है या नहीं। पेश याचिका दायर कर वकील विशालक्षी गोयल ने हाईकोर्ट से अपील की थी कि दिल्ली पुलिस को एफआईआर दर्ज करने में उर्दू और फारसी शब्दों का प्रयोग करने से रोका जाए क्योंकि यह आम लोगों को समझ नहीं आते।

    प्रियंका जयसवाल द्वारा किया गया पोस्ट

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad