Header Ads

  • BREAKING NEWS

    झारखण्ड विधानसभा चुनाव 201:बागी सरयू राय ने कहा भाजपा विधानसभा चुनाव में सत्‍ता से बेदखल करेंगे

    We News 24 Hindi »रांची,झारखण्ड
    ब्यूरो संवाददाता राजकुमार की रिपोर्ट

    रांची: झारखंड की भाजपा सरकार के मुख्‍यमंत्री रघुवर दास की कैबिनेट में खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय रविवार को अब से कुछ देर बाद बड़ा एलान करने वाले हैं। आर-पार के मूड में आए सरयू के फैसले पर पक्ष-विपक्ष सबकी नजरें टिकी हैं। रांची से दिल्‍ली तक उनके निर्णय पर नेताओं की नजरें टिकी हैं। इससे पहले सरयू राय ने भाजपा से बगावत करते हुए कहा कि मुझे भाजपा का टिकट नहीं चाहिए। उन्‍होंने पार्टी नेतृत्व से साफ शब्‍दों में कहा कि अब मेरे नाम पर विचार न करें। इधर सरयू राय के बागी होते ही भाजपा को इस विधानसभा चुनाव में सत्‍ता से बेदखल करने का दम भर रही विपक्षी पार्टियां जोर-शोर से उनके समर्थन में सामने आई हैं।

    यह भी पढ़ें:BREAKING: बिहार के सीतामढ़ी में स्कूल संचालक को बदमाशो ने घात लगाकर मारी गोली

    हेमंत सोरेन बोले, पूरा विपक्ष करे सरयू राय का समर्थन
    सरयू राय के बागी रुख के बाद विपक्षी दलों ने भी उन्हें खुला समर्थन देने की घोषणा कर दी है। झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि सरयू राय ने पिछले 5 सालों में रघुवर सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाकर एक अलग पहचान बनाई है। यूपीए झारखंड को भ्रष्ट्राचार मुक्त बनाने को कृतसंकल्पित है। सरयू राय मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ते है तो इन्हें पूरा विपक्ष समर्थन दे मैं ये अपील करता हूं। उधर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, डॉ. इरफान अंसारी समेत तमाम वरिष्ठ नेताओं ने भी सरयू के फैसले को सही बताते हुए समर्थन की बात कही है।


    यह भी पढ़ें:तिन महीने पहले मरा हुआ कृष्णा मांझी ,जीवित हो कर घर लौटा




    जमशेदपुर पूर्वी-पश्चिमी से खरीदा है नामांकन पत्र

    वर्तमान में जमशेदपुर पश्चिम सीट से विधायक सरयू राय ने जमशेदपुर पूर्वी और पश्चिमी दोनों विधानसभा क्षेत्र से नामांकन पत्र खरीदा है। ऐसे में रविवार को उनके फैसले पर नेता-कार्यकर्ता टकटकी लगा रखे हैं। सरयू ने बीते दिन जमशेदपुर में कहा कि पार्टी नेतृत्व मुझे लेकर असमंजस की स्थिति में था। इसलिए मैंने उन्हें चिंतामुक्त कर दिया है। मैंने पार्टी नेतृत्व को आदरपूर्वक टिकट देने से मना कर दिया। सरयू ने कहा कि भाजपा ने मुझे बहुत कुछ दिया। एमएलसी बनाया, दो बार एमएलए बनाया, मंत्री भी बनाया। इसके लिए मैं पार्टी नेतृत्व का शुक्रगुजार हूं। मैं अभी तक भाजपा में हूं। भाजपा द्वारा इस बार 10 विधायकों के टिकट काटे जाने की वजह पूछने पर सरयू ने कहा कि बॉस कोई भी कार्रवाई का कारण नहीं बताता है। 'बॉस इज ऑलवेज राइट' होता है। बॉस से कोई कारण पूछ भी नहीं सकता, न वह बताने के लिए बाध्य है।

    अनिकेत शर्मा द्वारा किया गया पोस्ट 

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad