Header Ads

  • BREAKING NEWS

    जगत जननी मां सीता की जन्म स्थली सीतामढ़ी रविवार की शाम भक्ति में हो गई,देखे वीडियो

    We News 24 Hindi »सीतामढ़ी,बिहार

    ब्यूरो संवाददाता  संजू गुप्ता के साथ कैमरामैन अभिषेक गुड्डू की रिपोर्ट 

    सीतामढ़ी: माँ सीता की जन्मस्थली  रविवार की शाम आस्था के भाव विभोर में पूरा शहर डूबा नजर आया चारो तरफ र्रंग विरेंगे गुब्बारों के साथ पूरा शहर रौशनी से जगमगा रहा था अवसर था अयोध्या से चल कर प्रभु राम बरात का इस अवसर पर महिला और पुरूष भक्ति गीतों की धून पर नाचते-गाते और भक्ति में डूबे नजर आए तो युवा पीढ़ी आतिशबाजी कर जश्न का इजहार करते नजर आये । सोहर, बधाईयां और मंगलगीतों लोगो के कानो में गूंजती रही।



    रविवार की शाम सीतामढ़ी शहर में जैसे ही बरात दाखिल हुई, लोगों ने हर्षोल्लास के साथ  बरातियों का स्वागत  किया। जगह-जगह बरात को रोक कर मंगल गीत गाती  महिलाओ ने आरती उतारी । ऐसा प्रतीत हो रहा रहा था की दीवाली और होली एक साथ मन्ये जा रहे है | लोगों ने गुलाल उड़ाए और खुशी के दीप भी जलाए।  राम-जानकी विवाहोत्सव को लेकर राम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुध्न तथा साधु-संतों की बरात रविवार की शाम जानकी जन्मस्थली सीतामढ़ी पहुंची। शंकर चौक, शांतिनगर, कारगिल चौक, मेहसौल चौक, वीर कुंवर सिंह चौक, गांधी चौक, सोनापट्टी, आजाद चौक, जानकी स्थान, गोशाला, ललितनगर व पुनौरा गांव के भ्रमण के बाद बरात पुनौरा धाम मंदिर में दाखिल हुई। 



    उसके बाद बरात सीतामढ़ी से बाजपट्टी और पुपरी के रास्ते दरभंगा के अहिल्यास्थान से मधुबनी और जयनगर होते हुए 28 नवंबर को जनकपुर पहुंचेगी। जहां 29 नवंबर को भगवान श्रीराम का दशरथ मंदिर प्रांगण में तिलकोत्सव का आयोजन होगा। इसके बाद 30 नवंबर को कन्या पूजन के अलावा मटकोर और एक दिसंबर को रामलीला का मंचन धनुष यज्ञ प्रसंग पर होगा। इसके उपरांत देर रात्रि भगवान श्रीराम व माता जानकी का विवाह विधिपूर्वक संपन्न कराया जाएगा |  

    ये भी पढ़े :दिल्ली :में हवा की रफ्तार से कम हुआ प्रदूषण

    इस अवसर पर विश्व हिदू परिषद मुख्यालय कारसेवकपुरम धर्मयात्रा महासंघ के संयोजक राजेंद्र पंकज, क्षेत्रीय मंत्री वीरेंद्र विमल, संगठन मंत्री केशव राजू, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जगन्नाथ शाही, प्रांत अध्यक्ष कृष्णदेव झा और राज किशोर के साथ अयोध्या से पहुंची बरात में अयोध्या संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैया दास दशरथ, दिगंबर अनी के मंत्री महंत वैष्णो दास महर्षि वशिष्ठ, हरिद्वार सिद्ध पीठ हनुमान मंदिर के महंत डॉ. वैष्णोदास महर्षि विश्वामित्र की भूमिका में, रामायणी महंत राम अवतार दास के नेतृत्व दो रथ और दर्जनों वाहन के 30 मुख्य संत और 100 अन्य संत बरात में शामिल है।

    खुशबु सिंह द्वारा किया गया पोस्ट 



    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad