Header Ads

  • BREAKING NEWS

    उतराखंड :गंगोली हाट में आदमखोर बाघ का 06 साल की मासूम बना शिकार

    We News 24 Hindi »उतराखंड,गंगोलीहाट
    ब्यूरो संवाददाता किशन सिंह वोहरा की रिपोर्ट

    उतराखंड: दुखदाई घटना -गंगोलीहाट के न्यायपंचायत पोखरी के बिरगोली ग्राम सभा के सूलीगैर  में आज शाम को करीब 5बजे घर के आंगन से बाघ (गुलदार)एक 5 साल के बच्चे को उठा ले गया ग्रामीणों के शोरगुल से तेंदुए ने मृत बच्चे को छोड़ जंगल की ओर भाग गया। 

    न्यायपंचायत पोखरी की दो साल के अंतराल में नरभक्षी बाघ की ये दूसरी घटना है।पूरे क्षेत्र में बाघों की गतिविधि व  आबादी इतनी बढ़ गई है कि ग्रामीणों का अपने घरों से बाहर-भीतर निकलने में काफी परेशानी हो रही है।पोखरी गांव में इन दिनों रामलीला चल रही है गंगोलीहाट से गये डीजे आपरेटर पर दो दिन गुलदार ने बाइक सवार युवकों पर भी हमला किया था।

    ये भी पढ़े ;पटना मनेर शरीफ में धूमधाम से मनाया गया जश्न-ए मिलाद- उन-नबी

    वो अब बाइक में मशाल लेकर रामलीला समाप्त होने के बाद गंगोलीहाट लौटते हैं। सुबह की सैर करने वालों को अक्सर दिखाई देता है। पिछले दिनों की घटनाओं के बाद भी न वन विभाग चेता औन ही नागरिक प्रशासन क्योंकि जो बाघ पूर्व में पिंजरे में कैद हुआ पोखरी गांव के लोगों उसी बक्त कहा था कि बच्चे को ले गया बाघ ये नहीं है।तब से इस क्षेत्र में बाघ के दिखाई देने की घटनाओं में वृद्धि होती गई और वन विभाग व प्रशासन ने मुवावजे की खानापूर्ति वह जनप्रतिनिधियों के घड़ियाली आंसुओं की नौटंकी चली और फिर एक परिवार का चिराग बुझ गया।

    अगर जनप्रतिनिधि वह वन विभाग चेता होता तो उस समय ही नरभक्षी बाघ को पकड़ने की पुख्ता व्यवस्था हो होती तो ये अप्रिय स्थिति न होती। वैसे भी पूरा क्षेत्र पलायन के जबरदस्त संकट से जूझ रहा है ये ऐसी घटनाएं हैं जो इसको और गति देगा, क्योंकि कोई भी अपने नौनिहालों को बाघ का निवाला बनाने के लिए क्यो गांव में रहे जहां नरभक्षी बाघ कभी भी घटनाओं की पुनरावृत्ति करता रहा है। 

    ये भी पढ़े :वैज्ञानिकों ने कहा लोगों को देगी सेहत ब्लैक राईस

    केन्द्र वह राज्य सरकार को चाहिए कि बाघों की संख्या में हुई जबरदस्त बढ़ोतरी के पहाड़ी इलाकों में इसके  दुष्प्रभाव का अध्ययन कराया जाना चाहिए जिससे उनके प्राकृतिक आवास व मानव जीवन का संकट दोनों का समाधान हो सके


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad