Header Ads

  • BREAKING NEWS

    हिमाचल, उत्तराखंड में बर्फबारी, पंजाब और हरियाणा में बारिश के आसार,मध्य भारत में और गिरेगा पारा

    We News 24 Hindi »नई दिल्ली
     संवाददाता हिरा रोहिल्ला की रिपोर्ट 

    नई दिल्‍ली:एजेंसियां। मौसम विभाग की मानें तो जम्मू कश्मीर के इलाकों में एक पश्चिमी विक्षोभ पहुंच गया है जिसका प्रभाव उत्तर भारत के पर्वतीय राज्यों पर दिखाई देगा। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग व पिथौरागढ़ जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश व बर्फबारी हो सकती है। वहीं, हिमाचल में भी अगले दो दिन बर्फबारी और बारिश की संभावना जताई है। वहीं उत्‍तर भारत के अधिकांश इलाकों में कोहरे से जनजीवन प्रभावित हुआ है। दिल्‍ली एयरपोर्ट पर भी कोहरे की मार पड़ी है जिससे 46 फ्लाइटों को डाइवर्ट करना पड़ा है। 

     पहाड़ों पर लगातार बर्फबारी के कारण मैदानों में उत्तर-पश्चिमी सर्द हवाएं तेज हो गई हैं। इससे उत्तर भारत और हिमालयी क्षेत्र में तापमान लगातार गिर रहा है। आने वालों दिनों में मध्य भारत में तापमान कम होगा। मौसम विज्ञानी कुलदीप श्रीवास्तव ने यह दावा किया है।

    उन्होंने कहा कि एक नया पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय में है। इसके अलावा चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र गुजरात में विकसित होगा। इन हालातों में शुक्रवार से हिमाचल, उत्तराखंड में बर्फबारी और मैदानी राज्यों दिल्ली, पंजाब, हरियाणा में बारिश का नया दौर शुरू हो सकता है। पूरे उत्तर भारत में 500 से 1000 मीटर की ऊंचाई पर बादल की परत छा गई है। इससे सूरज की किरणें धरती तक नहीं पहुंच पा रही हैं। इसका असर भी तापमान पर हो रहा है। मैदानी इलाकों में सामान्य से 6.5 डिग्री तापमान कम होने पर भीषण सर्दी मानी जाती है।


    यह भी पढ़ें:CAA और NRC के विरोध में आज फिर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन जारी मोदी और साहा का पुतला फूंका

    पहाड़ों समेत मैदानी इलाके शीतलहर की चपेट में हैं। कश्मीर में चिल्ले कलां (सबसे सर्द 40 दिन) आज यानी शनिवार से शुरू हो गए। उच्च पर्वतीय इलाकों के साथ कश्‍मीर घाटी के निचले इलाकों में भी बर्फबारी देर रात तक जारी रही। हर साल चिल्ले कलां के दौरान ही तापमान जमाव बिंदु से नीचे जाता है, लेकिन इस बार पहले से ही चला गया जिससे जलस्रोत जमने लगे हैं। पंजाब और हरियाणा के ज्यादातर शहरों में शीतलहर से हाल बेहाल है। पंजाब के बठिंडा और हरियाण के हिसार में तो शिमला से भी कम तापमान दर्ज किया गया। 


    यह भी पढ़ें:तेजस्वी यादव को बिहार पुलिस की चेतावनी, ADG बोले- बंद के दौरान उपद्रव किया तो बख्शे नहीं जाएंगे

    स्‍काईमेट वेदर के मुताबिक, यही नहीं अरब सागर के उत्तर-पूर्वी भागों से दक्षिण-पूर्वी राजस्थान तक एक ट्रफ भी दिखाई दे रहा है। इससे महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में ओलावृष्टि के साथ मध्यम बौछारें पड़ने की आशंका है। यही नहीं अगले 24 घंटों में उत्तर और उत्तर-पूर्वी राजस्थान, दक्षिणी हरियाणा और दक्षिण-पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है। पूर्वोत्तर भारत के राज्यों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र है जिसकी वजह से अरुणाचल प्रदेश और पूर्वी असम में भी कुछ स्थानों पर हल्की बारिश दर्ज की गई है। 


    यह भी पढ़ें:खैनी के खेत में खैनी कि बर्बादी को देख कर अवाक रह गए

    देश के अधिकांश इलाकों में जारी शीतलहर और कुहरे से यातायात सेवाओं पर भी तगड़ी मार पड़ी है। उत्‍तर भारत की ओर आने-जाने वाली 17 ट्रेनें काफी देर से चल रही हैं। दिल्‍ली एयरपोर्ट पर भी कोहरे की तगड़ी मार पड़ी है जिससे 46 फ्लाइटों को डाइवर्ट करना पड़ा है। स्‍काईमेट वेदर के मुताबिक, तमिलनाडु, दक्षिणी आंध्र प्रदेश, केरल, अरुणाचल प्रदेश और पूर्वी असम में कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश हो सकती है जबकि बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और उत्तरी उत्तर प्रदेश में दिन का तापमान सामान्य से नीचे रहेगा।


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad