Header Ads

  • BREAKING NEWS

    डीएम कुमार रवि ने जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति, वाल विवाह एवं दहेज़ उन्मूलन मानव सृंखला रथ प्रचार को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

    We News 24 Hindi »पटना,बिहार
     संवाददाता राजकुमार की रिपोर्ट 
    पटना :डीएम  कुमार रवि ने आज समाहरणालय परिसर से जल-जीवन-हरियाली, नशा-मुक्ति, बाल विवाह एवं दहेज उन्मूलन के लिए दिनांक-19.01.2020 को आयोजित राज्य व्यापी मानव श्रृंखला के प्रचार-प्रसार हेतु कला जत्था को हरी झंडी दिखा कर विदा किया। कुमार रवि ने पटना जिला के सभी निजी विद्यालयों के प्रबंधकों एवं शिक्षकों के साथ मानव श्रृंखला के तैयारी के लिए एस0के0एम0 में बैठक की। निजी विद्यालयों के शिक्षकों एवं प्रबंधकों को संबोधित करते हुए कहा कि आज जलवायु परिवर्तत वहुत तेजी से हो रहा है। कहीं अत्याधिक वर्षा हो रही है तो कहीं बुहत कम वर्षापात होता है। कहीं अत्याधिक गर्मी है तो कहीं अत्याधिक ठंड पर रही है। हम ने प्रकृति के संसाधनों को सही ढंग से इस्तेमाल करना नहीं सीखा है। 

    ये भी पढ़े :IPL:पानी पूरी बेचनेवाले यशस्वी को राजस्थान रायल्स ने 2.40 करोड़ रुपये की बोली लगायी

    पटना जिला अन्तर्गत तीन दिनों में इतनी बारिश हुई कि पटना शहर में जल जमाव हो गया तथा बाढ़ का सामना करना पड़ा। लोगों ने नाले एवं सड़कों पर अतिक्रमण कर घर बना लिया है। हमे पर्यावरण का जितना ख्याल रखना चाहिए, हम ख्याल नहीं रख पाते हैं। आने वाले पीढ़ी को हम क्या देना चाहते हैं। जमीन के नीचे का जल स्तर बहुत तेजी से नीचे जा रहा है। ऐसा न हो कि भावी पीढ़ी को जल संकट का सामना करना पड़े। जल संकट एक ऐसा संकट न हो की उनका जीवन ही दुश्वार हो जाय। बाल विवाह, दहेज प्रथा के उन्मूलन, शराबबंदी एवं जल-जीवन-हरियाली के लिए बिहार सरकार द्वारा आयोजित राज्य व्यापी मानव श्रृंखला दिनांक-19.01.2020 को पूर्वाह्न 11.30 बजे से 12.00 बजे मध्याह्न तक आयोजित है। उन्होंने कहा कि जल-जीवन-हरियाली, बाल विवाह, दहेज प्रथा के उन्मूलन एवं शराबबंदी के समर्थन में आयोजित मानव श्रृंखला का संदेश बच्चों तक जाना चाहिए। शराबबंदी से समाज को अच्छा संदेश गया है, अब सड़क पर झगड़े नहीं होते हैं। 

    ये भी पढ़े :सलमान की दबंग 3 बेसब्री से इंतजार कर रहे फैंस का इंतजार आज खत्म हुआ

    शराब पीने वाले लोग शराब पीना छोड़कर पौष्टिक आहार लेते हैं। इससे घरों की उन्नति हुई है। समाज ने इसे सराहा है। मानव श्रृंखला का केन्द्र बिन्दु एवं मुख्य कार्यक्रम स्थल गाँधी मैदान पटना है। गाँधी मैदान में मानव श्रृंखला से बिहार के नक्शा का निर्माण होगा। गाँधी मैदान से मानव श्रृंखला की चार श्रृंखलाएं निकलेगी जो राज्य के विभिन्न क्षेत्रों की ओर जायेगी। विभिन्न दिशाओं में समीपवर्ती जिलों की सीमा तक जाकर संबंधित जिला के श्रृंखला से मिलेगी। पटना जिला अंतर्गत मानव श्रृंखला हेतु 696 कि0मी0 की दूरी के लिए 696 सेक्टर इंचार्ज एवं 3480 समन्वयक नियुक्त किये गये हैं। प्रत्येक सिगमेंट के लिए मानव बल की पहचान अनुमंडल पदाधिकारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा कर ली गई है। 

    ये भी पढ़े :नागरिकता कानून पर देशभर में प्रदर्शन के मद्देनजर देश के कई हिस्सों में इंटरनेट सेवा बंद

    19 जनवरी, 2020 को आयोजित होने वाली मानव श्रृंखला में विद्यालयों की आम भूमिका है। 19 जनवरी, 2020 को रविवार है। रविवार होने के कारण विद्यालयों को मानव श्रृंखला में समाजिक कारणों से गैर-शैक्षणिक गतिविधियों में भाग लेकर महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया जाना है। 
    सभी निजी विद्यालय के शिक्षकों एवं प्रबंधकों से कहा कि अधिक से अधिक संख्या में मानव श्रृंखला में भाग लें। सभी निजी विद्यालयों एवं सरकारी विद्यालयों को मानव श्रृंखला के आयोजन में अपने महत्वपूर्ण दायित्वों का निर्वहन करना है। इसके लिए माईक्रो प्लानिंग बना लें। 50 बच्चों पर एक शिक्षक रहें। 05वीं कक्षा तक के बच्चे एवं बीमार बच्चों को मानव श्रृंखला में शामिल नहीं करें। गाँधी मैदान में मावन श्रृंखला बनाकर बिहार का नक्शा बनाया जा सकता है। जल-जीवन-हरियाली पर बच्चों की बीच बाव-विवाद प्रतियोगिता एवं पेंटिंग कराएँ। 

    ये भी पढ़े :एनआरसी के विरोध में गुरुवार को वामदलों के बंद का सीतामढ़ी में व्यापक असर दिखा

    मानव श्रृंखला के लिए वातावरण का निर्माण हो रहा है। पंचायतों एवं शहरी क्षेत्रों में जन प्रतिनिधियों के द्वारा भी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया जा रहा है। जगह-जगह जल-जीवन-हरियाली से संबंधित रंगोली बनाया जा रहा है। प्रत्येक कि0मी0 पर सेक्टर बनाया गया है। 200 मीटर पर सब सेक्टर का निर्माण हो रहा है। पूरे सेक्टर का प्रभारी प्रखंड विकास पदाधिकारी को बनाया गया है। कला जत्था के द्वारा व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त प्रत्येक वार्ड में 100 मीटर की छोटी लाईन अलग से बनायी जायेगी। जिलाधिकारी ने सभी निजी विद्यालयों से अनुरोध किया कि अपने-अपने संस्थान से मानव श्रृंखला में अधिकतम भागीदारी निभाएँ। उन्होंने कहा कि विद्यालय के छात्र इसके प्रचार-प्रसार के लिए पद यात्रा निकालें, साईकिल रैलियाँ करें, विभिन्न प्रकार के खेल-कूद की प्रतियोगिता एवं नुक्कड़ नाटक का आयोजन हो। उन्होंने कहा कि अन्तर विद्यालय स्पीच एवं निबंधन लेखन आदि की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाए। विजयी विद्यालय एवं छात्रों को जिला प्रशासन पुरस्कृत करेगी।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad