Header Ads

  • BREAKING NEWS

    BIHAR:के आश्रय गृहों में बच्चों के उत्पीड़न को रोकने में बिहार सरकार नाकाम ,25 जिलाधिकारियों पर हो कार्यवाई

    We News 24 Hindi »पटना,बिहार
     संवाददाता राजकुमार 

    पटना :बिहार के आश्रय गृहों को लेकर सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में स्थिति रिपोर्ट सोमवार को दाखिल की। सीबीआई ने कहा कि उसने आश्रय गृह के सभी 17 मामलों में अपनी जांच पूरी कर ली है और 13 में चार्जशीट दाखिल कर दी है।


    सीबीआई ने कोर्ट को बताया बिहार में विभिन्न आश्रय गृहों में बच्चों के उत्पीड़न को रोकने में सरकारी अधिकारी अपनी ड्यूटी निभाने में नाकाम रहे हैं। इसके साथ ही सीबीआई ने सुझाव दिया है कि बिहार सरकार को 25 जिलाधिकारियों और अन्य सरकारी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

    ये भी पढ़े -PATNA:बंदूक की नोक पर छात्रा को कॉलेज से अपहरण कर सामुहिक दुष्कर्म

    इसके साथ ही सीबीआई ने बिहार सरकार से आग्रह किया है कि उन गैर सरकारी संस्थाओं  के पदाधिकारियों के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई की जाए, जिनके नाम रिपोर्ट में हैं। आपको बता दें कि सीबीआई ने सात अन्य आश्रय गृहों के लोगों के खिलाफ चार्जशीट पिछले साल नवंबर-दिसंबर में दायर की थी।
    सीबीआई की इस रिपोर्ट में अधिकारियों की घोर लापरवाही को उजागर किया गया है। सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल करने के बाद कहा है कि मुख्य मामले में दिल्ली की साकेत कोर्ट आगामी 14 जनवरी को अपना फैसला सुना सकती है।

    ये भी पढ़े -VARANASI:गंगा को गन्दा करनेवाले को अब खैर नहीं ,गंदगी फैलाने वालों को भरना होगा 25,000 रुपये का जुर्माना

    मुख्य मामले में पीपुल्स पार्टी का पूर्व विधायक बृजेश ठाकुर समेत अन्य आरोपी हैं। बृजेश ठाकुर द्वारा चलाए जा रहे बालिका आश्रय गृह में 40 से अधिक नाबालिग लड़कियों का कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया गया था। सीबीआई ने चार आश्रय गृहों के खिलाफ अपनी प्रारंभिक जांच में किसी भी अपराध के सबूत नहीं पाए और इनके खिलाफ कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है।

    गौतम कुमार द्वारा किया गया पोस्ट 

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad