Header Ads

  • BREAKING NEWS

    CHINA:जानलेवा कोरोना वायरस ने ली 17 लोगों की जान वुहान शहर हुआ लॉक डाउन,भारत में भी सतर्कता बढ़ी

    We News 24 Hindi »दिल्ली,एनसीआर 
    राज्य/दिल्ली/ब्यूरो संवाददाता विजय प्रसाद 

    चीन: में कोरोना वायरस कहर ढा रहा है । कोरोना वायरस केपर लगाम लगाने के लिए  चीन ने अपने मुख्य वुहान शहर को पूरी तरह से बंद यानि लॉक डाउन कर दिया है। चीन के हुबेई प्रांत की सरकार ने वुहान शहर में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए स्थानीय लोगों के शहर छोड़ने पर अस्थायी रुप से रोक लगा दी है।

    कोरोनावायरस से 17 लोगों की मौत

     चीन में कोरोनावायरस से 17 लोगों की मौत के बाद करीब 11 मिलियन की आबादी वाले वुहान शहर में रेलवे, प्राइवेट ट्रांसपोर्ट समेत सभी प्रकार के यातायात बंद कर दिए गए हैं। बता दें कि कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान हुआ है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हुबेई प्रांत की सरकार ने वुहान शहर में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुये स्थानीय लोगों के शहर छोड़ने पर अस्थायी रुप से रोक लगा दी है, ताकि वायरस को फैलने से रोका जा सके। गुरुवार की सुबह से पब्लिक ट्रांसपोर्ट, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट बंद रहेंगे। इस शहर में न तो हवाई परिचालन होगा और न ही बस एंव ट्रेनों का संचालन। बताया जा रहा है कि वुहान में 600 इस वायरस से प्रभावित हुए हैं। 

    ये भी पढ़े -BIHAR:शिवहर तरियानी के अंचल निरीक्षक को निगरानी टीम ने घूस लेते धर दबोचा

    एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशनों को बंद करने का फैसला 

    समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने रिपोर्ट किया कि अगले नोटिस तक आज सुबह 10 बजे से वुहान में सभी पब्लिक ट्रांसपोर्ट को सस्पेंड करने और एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशनों को बंद करने का फैसला लिया गया है। इसके साथ ही नागरिको शहर से बाहर नहीं जाने के लिए कहा गया है। जब तक को विशेष कारण न हो तब तक कोई भी नागरिक शहर से बाहर नहीं जा सकता। बता दें कि चीन से थाईलैंड, जापान और कोरिया के बाद अब यह वायरस अमेरिका व हांगकांग में भी पहुंच गया है। 

    509 मामले सामने आ चुके हैं

    वहीं, चीन में इससे मरने वालों की संख्या बुधवार को 17 हो गई, जबकि वहां संक्रमण के कुल 509 मामले सामने आ चुके हैं। नया कोरोना वायरस महामारी की तरह फैल रहा है। कोरिया-जापान में इसके एक-एक तो थाईलैंड में तीन मामले पहले ही सामने आ चुके हैं। वहीं, अब अमेरिका और हांगकांग भी इसकी जद में हैं। अमेरिकी अधिकारियों ने मंगलवार को सिएटल में एक व्यक्ति के नए कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि की। वहीं, मकाऊ ने बुधवार को एक महिला उद्योगपति में संक्रमण का खुलासा किया। दोनों पीड़ित हाल ही में वुहान (चीन) की यात्रा कर अपने-अपने देश लौटे थे।

    ये भी पढ़े -SITAMARHI: MLC से मिलकर सीतामढ़ी जिले के पूर्व सैनिकों की समस्या से अवगत कराया

    स्वास्थ्य आपदा घोषित करने पर विचार
    -उधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने बुधवार को बुलाई गई आपातकालीन बैठक में नए कोरोना वायरस को अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य आपदा घोषित करने पर विचार किया। डब्ल्यूएचओ स्वाइन फ्लू और इबोला के फैलाव के समय भी ऐसा कदम उठा चुका है।


    कोरोना और सार्स का जुड़ाव खतरनाक
    -चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बुधवार को बताया कि नए कोरोना वायरस का सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (सार्स) से जुड़ाव खतरनाक है। संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए 2200 संदिग्ध जांच के दायरे में हैं। वहीं, 715 संदिग्धों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।


    नववर्ष की छुट्टियों पर अधिक सतर्कता बरतें
    -चीन ने अपनी प्रांतीय सरकारों को नए कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतने को कहा है। दरअसल, 24 जनवरी से शुरू हो रहे चीनी नववर्ष की छुट्टियों में लाखों लोग लंबी यात्रा करेंगे। इस दौरान वायरस के प्रसार का जोखिम कई गुना बढ़ जाएगा।  

    ये भी पढ़े -PATNA:भाई ने ही रची थी आरटीआई कार्येकर्ता पंकज की हत्या की साजिश

    भारत में भी सतर्कता
    -केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदन ने बताया कि मंगलवार तक भारत के सात हवाईअड्डों पर 43 उड़ानों में सवार कुल 9156 यात्रियों की अत्याधुनिक थर्मल इमेजिंग कैमरे से विस्तृत स्वास्थ्य जांच की गई। इस दौरान किसी भी यात्री के नए कोरोना वायरस से संक्रमित होने के संकेत नहीं मिले।


    ट्रंप बोले, हम स्थिति को संभाल लेंगे

    -अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावोस में विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की सालाना बैठक में कहा, अमेरिका का केंद्रीय रोग नियंत्रण विभाग (सीडीसी) बहुत सतर्क, सक्षम और पेशेवर है। हमें लगता है कि वह कोरोना संक्रमण से जुड़े मामलों को बहुत अच्छे से संभाल लेगा।


    कहां क्या तैयारी
    -भारत : राष्ट्रीय वायरोलॉजी संस्थान, पुणे और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने 10 प्रयोगशालाओं में नए कोरोना वायरस पर शोध शुरू किया
    -चीन : 12 राष्ट्रीय, 91 प्रांतीय और 800 अस्पतालों की प्रयोगशालाओं में शोध शुरू, कंपनियों ने कर्मियों को मास्क दिए, विदेश यात्रा पर रोक लगाई
    -तुर्की : हवाईअड्डों पर विदेश, खासकर चीन से आए यात्रियों की थर्मल कैमरों से जांच, संक्रमित मरीजों के लिए विशेष एंबुलेंस और चिकित्सा केंद्र बनाया
    -उत्तर कोरिया ने विदेशी पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया में स्वास्थ्य विभाग ने सभी एयरपोर्ट पर व्यापक जांच शुरू की


    3.55 लाख करोड़ का नुकसान

    -एक करोड़ से अधिक आबादी वाला वुहान चीन का सातवां सबसे बड़ा शहर और एक प्रमुख परिवहन केंद्र है। पर्यटकों की संख्या में कमी, संक्रमित मरीजों की निगरानी और स्वास्थ्य तैयारियों पर खर्च से वैश्विक अर्थव्यवस्था को करीब 3,55,923 करोड़ रुपये के नुकसान की आशंका है।


    क्या है कोरोना वायरस
    -कोरोना वायरस एक संक्रामक रोग है, जो जानवर या प्रभावित इनसान से इनसान में फैलता है। सबसे पहले 2003 में चीन में कोरोना वायरस सीवियर एक्यूट रिस्पिरेटरी सिंड्रोम (सार्स) पाया गया। यह चमगादड़ों से इनसानों में आया था। 2012 में खाड़ी देशों में मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम वायरस (मर्स) खोजा गया था। यह ऊंट से इनसानों में पहुंचा था। छह तरह के कोरोना वायरस इनसान में फैलते रहे हैं।


    क्या है लक्षण 

    -बुखार, सर्दी-जुखाम, खांसी, सांस लेने में तकलीफ
    सलाह
    -मांस-मच्छी और अंडे को अच्छी तरह से पकाकर खाएं, सर्दी या फ्लू जैसे लक्षणों वाले किसी भी जीव से यथा संभव दूर रहें |

    1.        अंशु गुप्ता द्वारा किय गया पोस्ट 

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad