Header Ads

  • BREAKING NEWS

    DELHI:क्या आज निर्भया के दोषी को मिल सकता है सुप्रीमकोर्ट से राहत

    We News 24 Hindi »नई दिल्ली
    संवाददाता अमरेन्द्र कुमार 

    नई दिल्ली: निर्भया के दो गुनहगारों की क्यूरेटिव पिटीशन पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। जस्टिस एन वी रमन्ना की अध्यक्षता में पांच जजों की बेंच इस पर सुनवाई करेगी। विनय और मुकेश कुमार ने अपनी फांसी की रिव्यू पेटीशन खारिज हो जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल की है। ये दोनों के पास आखिरी कानूनी विकल्प है और क्यूरेटिव पिटीशन की सुप्रीम कोर्ट के बंद चैंबर में सुनवाई होती है।

    ये भी पढ़े -BEGUSARAI:सिपाही भर्ती परीक्षार्थी का देर रात ट्रेन से कटकर मौत

    अगर सुप्रीम कोर्ट उनकी दलीलों को खारिज कर देता है तो इसके बाद दोनों के पास केवल मर्सी पिटीशन का ही सहारा होगा। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट निर्भया के गुनहगारों की फांसी तय कर चुकी है। चारों को 22 जनववरी की सुबह 7 बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी जाएगी। चारों दोषियों को फंदे से लटकाने का अभ्यास तिहाड़ जेल में डमी पर किया गया। जेल अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 

    ये भी पढ़े -BIHAR:मुजफ्फरपुर सहित राज्य के हिस्से कड़ाके की ठंड की चपेट में

    जेल अधिकारियों के एक दल ने रविवार को डमी को फांसी देने का अभ्यास किया। जेल के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि दोषियों के वजन के मुताबिक ही डमी बनाई गई थी। डमी के बोरे में मलबा और पत्थर भरे थे। उन्होंने बताया कि दोषियों को जेल संख्या तीन में फांसी दी जाएगी। उत्तर प्रदेश जेल प्रशासन ने पुष्टि कर दी है कि चारों दोषियों को फांसी देने के लिए मेरठ से पवन जल्लाद को भेजा जाएगा। 

    ये भी पढ़े -SITAMARHI:डुमरा जेल में बंद कैदी की मौत ,शराब मामले में कट रहा था सजा

    तिहाड़ जेल प्रशासन ने यूपी जेल प्रशासन से दो जल्लाद भेजने का अनुरोध किया है। चारों दोषियों को एक ही वक्त पर फांसी दी जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि जेल के अधिकारी दोषियों से नियमित संवाद कायम रख रहे हैं ताकि उनका मानसिक स्वास्थ्य अच्छा बना रहे। इस बर्बर कांड के एक आरोपी राम सिंह ने तिहाड़ जेल में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी जबकि एक अन्य दोषी नाबालिग था और तीन साल तक सुधार गृह में रहने के बाद उसे रिहा कर दिया गया था।


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad