Header Ads

  • BREAKING NEWS

    BREAKING:निर्भया के गुनहगारों को दी जाएगी 22 जनवरी को फांसी ,हुआ डेथ वारंट जारी

    We News 24 Hindi »नई दिल्ली
     संवाददाता अंजलि कुमारी  

    नई दिल्ली : निर्भया गैंगरेप मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में चारों दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी कर दिया गया है। चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी। दोषियों के खिलाफ मृत्यु वॉरंट जारी करने वाले अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सतीश कुमार अरोड़ा ने फांसी देने के आदेश की घोषणा की। मामले में मुकेश, विनय शर्मा, अक्षय सिंह और पवन गुप्ता को फांसी दी जानी है। उधर, निर्भया की मां ने दोषियों की फांसी की सजा की तिथि मुकर्रर किए जाने के बाद कहा कि यह आदेश कानून में महिलाओं के विश्वास को बहाल करेगा।

    यह भी पढ़ें- MOTIHARI:जिले सुगौली में पति पत्नी की निर्मम हत्या से पुलिस महकमे में हडकंप

    2012 के दिसंबर में देश की राजधानी दिल्ली में हुए गैंगरेप ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था। इससे पहले कोर्ट ने निर्भया मामले की सुनवाई सात जनवरी को करना तय किया था और तिहाड़ प्राधिकारियों को दोषियों को एक सप्ताह में नोटिस जारी करने को कहा था। वहीं, इस दौरान पीड़िता की मां के वकील ने कोर्ट में कहा कि डेथ वारंट जारी करने में कोई रुकावट नहीं है।

    यह भी पढ़ें- MADHYA PRADESH: में लहसुन चुराने के शक में युवक को नंगा कर बुरी तरह से पीटा

    निर्भया के गुनहगारों को ऐसे दी जाएगी फांसी, जानिये पूरी प्रक्रिया
    गौरतलब है कि दिल्ली में सात साल पहले 16 दिसंबर की रात को एक नाबालिग समेत छह लोगों ने एक चलती बस में 23 वर्षीय निर्भया का सामूहिक बलात्कार किया था और उसे बस से बाहर सड़क के किनारे फेंक दिया था। इस घटना की निर्ममता के बारे में जिसने भी पढ़ा-सुना उसके रोंगटे खड़े हो गए। इस घटना के बाद पूरे देश में व्यापक प्रदर्शन हुए और महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने को लेकर आंदोलन शुरू हो गया था।

    यह भी पढ़ें- SITAMARHI:पुलिस थानों में महिलाओं के लिए सभी आवश्यक सुविधाओ की उपलब्धता सुनिश्चित हो

    निर्भया केस: दोषियों के वकील बोले, SC में दायर करेंगे क्यूरेटिव याचिका
    इस मामले के चार दोषियों विनय शर्मा, मुकेश सिंह, पवन गुप्ता और अक्षय कुमार सिंह को मृत्युदंड सुनाया गया। एक अन्य दोषी राम सिंह ने 2015 में तिहाड़ जेल में कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी और नाबालिग दोषी को सुधार गृह में तीन साल की सजा काटने के बाद 2015 में रिहा कर दिया गया था।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad