Header Ads

  • BREAKING NEWS

    National News भारत-रुस में 14 सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर

    We News 24 Hindi »ऊतर प्रदेश/राज्य  
    लखनऊ/ब्यूरो/ संवाददाता अनिल कुमार 

    लखनऊ: में डिफेंस एक्सपो के दूसरे दिन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल के सेमिनार में लिया हिस्सा, कहा दोनों देशों का सहयोग हो सकता है इस सदी का सबसे बड़ा सहयोग, पांचवे भारत - रुस सैन्य औद्यौगिक कांफ्रेस का भी आयोजन, दोनों देशों के बीच मेक इन इंडिया के तहत 14 सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर ।

    लखनऊ में चल रहे भारत के सबसे बड़े डिफेंस एक्सपो का गुरुवार को दूसरा दिन था। दूसरा दिन व्यस्तताओं से भरा रहा । दिन के शुरुआत में ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मेडागास्कर के रक्षा मंत्री लेफ्टिनेंट जनरल रोकोटोनिरीना रिचर्ड से मुलाकात की। इस दौरान, रक्षा मंत्री ने क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा सहयोग में संबंधों को बढ़ाने पर जोर दिया।

    ये भी पढ़े-DELHI_पीएम मोदी ने संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का दिया जवाब

    बाद में  रक्षा मंत्री ने यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल की ओर से आयोजित सेमिनार में भी हिस्सा लिया उन्होंने कहा कि अमेरिका भारत और दुनिया के लिए सबसे बड़े रक्षा निर्यातकों में से एक है साथ ही भारत में रक्षा विनिर्माण क्षेत्र तेजी से आगे बढ़ रहा है। ऐसी स्थिति में, हमारा सहयोग इस सदी का सबसे बड़ा सहयोग साबित हो सकता है।

    ये भी पढ़े-Uttar Pradesh:आठवीं क्लास के बच्चे ने टीचर के गले और हाथ पर चाकू से हमला किया

    डिफेंस एक्सपो में पांचवे भारत - रुस सैन्य औद्यौगिक कांफ्रेस का आयोजन हुआ । इसमें रुस के 100 से ज्यादा और भारत के 200 से ज्यादा कारोबारियों ने हिस्सा लिया  । इसमें भारत और रुस की कंपनियों के बीच मेक इन इंडिया के तहत 14 सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किए गए । इसके तहत ही दोनों देशों ने भारत में Ka-226T helicopter के स्थानीय स्तर पर उत्पादन के लिए एक रोडमैप पर हसताक्षर किए । संयुक्त उपक्रम के तौर पर बनने वाले इन हेलीकॉप्टर की पहली खेप नौसेना को 2025 तक मिल जाएगी ।


    रक्षा मंत्री ने भारत अफ्रीका रक्षा मंत्रिय़ो के सम्मेलन को संबोधित किया । इस मौके पर उन्होंने संकेत दिया कि भारत  अफ्रीकी देशों के साथ अपने रक्षा संबंधों को नए स्तर पर ले जाने को तैयार है ।

     डिफेंस एक्सपो के दूसरे दिन ही  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 'डिफेंस एक्‍सपो- में 'उत्‍तर प्रदेश डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरीडोर' विषय पर आयोजित सेमिनार में हिस्सा लिया और कहा कि साल 2030 आते-आते भारत दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्‍यवस्‍थाओं में शामिल होगा। इसमें उत्तर प्रदेश का प्रमुख योगदान होगा। । उन्होंने कहा कि निवेशकों के लिये रक्षा मंत्रालय के दरवाजे भी खोले गये हैं।


    ये भी पढ़े-Patna:नूतन राजधानी एवं पाटलीपुत्र अंचल मे स्वीपिंग मशीन से सफाई अभियान चलाया गया

    डेफ एक्सपो में दुनियाभर के 70 देश हिस्सा ले रहे हैं. प्रदर्शनी में देश-विदेश की रक्षा विनिर्माण कंपनियां अपने उत्पादों और रक्षा क्षेत्र से जुड़ी सेवाओं का प्रदर्शन कर रही है। इसी दौरान वायुसेना के जांबाज  भी एक से बढ़कर एक हैरतअंगेज कारनामे पेश कर रहे है। इनके हैरतअंगेज प्रदर्शनों के जरिए वो अपने शौर्य का शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं ।
     

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad