Header Ads

  • BREAKING NEWS

    BIHAR:भारत नेपाल सीमा पर कोरोना वायरस को लेकर एडवायजरी जारी,नेपाल से आने वाले सभी यात्रियों पर पैनी नजर

    We News 24 Hindi»बिहार/राज्य 
    सीतामढ़ी /ब्यूरो/संवाददाता
    अवध बिहारी उपाध्याय के साथ पवन साह की रिपोर्ट

    सीतामढ़ी : बैरगनिया  भारत सरकार स्वास्थ्य विभाग के वरीय क्षेत्रीय निदेशक डॉ कैलाश कुमार एवं जिला भेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ रविंद्र कुमार यादव बुधवार को नेपाल सीमा पहूंच बैरगनिया बॉर्डर अथॉरिटी से समन्वय स्थापित कर मेडिकल कैंप लगाने का निर्देश दिया है.इससे पूर्व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर दो बेड वाले आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया जिसमें कोरोना वायरस के संदिग्ध  लोगों को रखा जाएगा। कोरोना वायरस को लेकर नेपाल से आने वाले रास्तों पर स्वास्थ्य कर्मी लगा दिए हैं।नेपाल से आने वाले सभी यात्रियों पर ध्यान दिया जा रहा 

    कोरोना वायरस को लेकर अब एहतियात बरतने को लेकर तैयारियां प्रारंभ कर दी गई हैं. स्वास्थ्य विभाग ने नेपाल से बिहार आने वाले मार्गो पर स्वास्थ्य शिविर लगाने के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा सभी जिलों में कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज मिलने की स्थिति के लिए एडवायजरी जारी की गई है. भारत सरकार स्वास्थ्य विभाग के वरीय क्षेत्रीय निदेशक डॉ कैलाश कुमार ने नेपाल के सीमावर्ती जिलों सीतामढ़ी, के बैरगनिया और पश्चिमी चंपारण में बॉर्डर अथॉरिटी से समन्वय स्थापित कर मेडिकल कैंप लगाने का निर्देश दिया है। बैरगनिया के बॉर्डर पर प्रवेश द्वार पर विशेष निगरानी रखने का निर्देश दिया गया है.

    ये भी पढ़े-सीतामढ़ी :केंद्रीय विद्यालय सुतिहरा में दादा-दादी और नाना-नानी दिवस का आयोजन

    कोरोना वायरस 
    इस क्रम में नेपाल से आने वाले सभी यात्रियों पर ध्यान दिया जाएगा तथा कोरोनावायरस के लक्षण पाए जाने पर तत्काल इलाज उपलब्ध कराया जाएगा. बुधवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का भी जायजा लेते हुए कोरोना वायरस से संदिग्ध मरीज के लिए  वार्ड बनाया गया है। बताया कि  उन्होंने  स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस वायरस से संबंधित एडवाइजरी पहले ही आमजनों के लिए जारी कर दी गई है. स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलों में दवा की उपलब्धता सुनिश्चित करवाई है।

    ये भी पढ़े-Patna:दुल्हिन बाजार प्रखंड के नियोजित शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ आक्रोश मार्च निकाला

     नेपाल देश से आने वाले सभी यात्रियों के थर्मल स्क्रीनिंग के जरिए जांच की जाएगी जिसके लिए इंफ्रारेड थर्मामीटर बॉर्डर पर उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि नेपाल से आने वाले सभी यात्रियों को जांच कर भारत में प्रवेश कराया जाएगा वही संदिग्ध पाए जाने के उपरांत स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा। मौके पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अब्दुल बहाव एवं स्वास्थ्य प्रबंधक प्रशांत कुमार उपस्थित थे

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad