Header Ads


  • BREAKING NEWS

    Corona virus: झारखण्ड मस्जिद में 5 दिन से छिपे थे 11 चीनी मौलवी ,मौलवियों को प्रशासन ने दबोचा

    We News 24 Hindi »झारखण्ड/राज्य
    रांची/ब्यूरो रिपोर्ट

    रांची: जिले के तमाड़ स्थित राड़गांव मस्जिद में कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित देश  चीन और अन्य दो देशों के 11 मौलवियों को प्रशासन ने हिरासत में ले लिया है। इनमें चीन के तीन, किर्गिस्तान के चार और कजाकिस्तान के चार मौलवी शामिल हैं। जांच में उनके पास से मिले पहचान-पत्र के अनुसार इनकी पहचान चीन के मा मेंनाई, ये देहाइ, मा मेरली, किर्गिस्तान के नूर करीम, नारलीन, नूरगाजिन, अब्दुल्ला और कजाकिस्तान के मिस्नलो, साकिर, इलियास आदि के तौर पर हुई है।

    सभी मौलवियों की स्वास्थ्य जांच करने के बाद रेस्क्यू करते हुए क्वारंटाइन के लिए मुसाबनी स्थित कांस्टेबल ट्रेनिंग स्कूल भेज दिया गया।

    19 मार्च से रुके थे

    पूछताछ पर मौलवियों ने खुद को धर्म प्रचारक बताया। वे एक महीने से भारत के विभिन्न मस्जिदों में पनाह लेकर 19 मार्च को रांची से बस द्वारा जमशेदपुर जाने के दौरान तमाड़ में रड़गांव के पास स्थित एक मस्जिद में रुके। कोरोनावायरस की अफवाह के बीच मस्जिद में मौलवियों के छिपे होने की जानकारी पर ग्रामीणों में सुगबुगाहट बढ़ी। गांव में इसकी दबी जुबान चर्चा भी होने लगी। आखिर में प्रशासन को इसकी जानकारी मिली। 

    ये भी पढ़े-सीतामढ़ी जिले में क्या है लॉक डाउन का असर ,लोग कितने सजग और सावधान है कोरोना वायरस को लेकर,देखे वीडियो

    बुंडू डीएसपी अजय कुमार ने बताया कि चीन के तीन, कजाकिस्तान के चार व किर्गिस्तान के चार संदिग्ध मौलवी मस्जिद में रुके थे। ग्रामीण एसपी ऋषभ कुमार झा ने बताया कि पूछताछ में सभी 11 नागरिकों ने बताया है कि वे भारत के मुस्लिम कल्चर पर स्टडी के लिए यहां आए थे। उन्होंने खुद को स्कॉलर भी बताया है। उनके पासपोर्ट, वीजा वैध लग रहे हैैं। हालांकि उनके यहां आने और उनके दस्तावेजों का सत्यापन किया जा रहा है। वीजा-पासपोर्ट जब्त किया गया है।


    %25E0%25A4%25B9%25E0%25A5%2588%25E0%25A4%25A1%25E0%25A4%25B0%2B%25E0%25A4%25B5%25E0%25A4%25BF%25E0%25A4%259C%25E0%25A5%258D%25E0%25A4%259E%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%25AA%25E0%25A4%25A8%2B

    ये भी पढ़े-21-Day Lock down:सीतामढ़ी लॉक डाउन उल्लंघन करने वाले से वसूले गए लाखो का जुर्माना , कई पर प्रथमिकी दर्ज।

    प्रारंभिक जांच में कोरोना के नहीं मिले लक्षण
    तमाड़ चिकित्सा प्रभारी आशुतोष त्रिपाठी ने बताया कि सभी 11 विदेशियों की प्रारंभिक जांच कर ली गई है। किसी के कोरोना संक्रमित रोग के लक्षण नही मिले हैं। फिर भी सभी को भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मुसाबनी स्थित कांस्टेबल ट्रेनिंग स्कूल जमशेदपुर में 15 दिनों के क्वारंटाइन के लिए भेजा गया। बताया जा रहा है कि सभी मौलवी 19 मार्च को दिल्ली से रांची पहुंचे थे। रांची से जमशेदपुर जाने के क्रम में सभी रडग़ांव स्थित मस्जिद में शरण लिए थे। तब से वे सभी रडग़ांव में ही रह रहे थे। अपने आप को धर्म प्रचारक भी बताया है। वे पिछले डेढ़ महीने से भारत में हैं।

    Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad