Header Ads


  • BREAKING NEWS

    BIHAR:कोरोना वायरस से नहीं 23 मार्च को प्रस्तावित महा सम्मेलन से डर गई है सुशासन सरकार।

    We News 24 Hindi »बिहार/राज्य
    शिवहर/ब्यूरो संवाददाता रौशन कुमार साह 

    शिवहर:बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर शांतिपूर्ण अनिश्चितकालीन हड़ताल आज सताइसवें दिन भी जारी है। तथाकथित सुशासन की सरकार कोरोना वायरस से नहीं 23 मार्च को पटना में प्रस्तावित, शिक्षा बचाओ बिहार बचाओ महा सम्मेलन से डर गई है।

    ये भी पढ़े-Maharashtra:नागपुर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से 5 कोरोना वायरस के संदिग्ध भागे,पूरे शहर में नाकाबंदी

    उक्त बातें शिक्षक न्याय मोर्चा के प्रदेश संयोजक सह शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के प्रदेश कोर कमिटी के सदस्य श्री शिवेंद्र कुमार पाठक ने पिपराही, शिवहर एवं डुमरी कटसरी प्रखण्ड संसाधन केंद्र पर हड़ताली शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा है।


    उन्होंने कहा कि राज्य में एक भी कोरोना वायरस के  मरीज अभी तक सामने नहीं आया  है फिर भी राज्य सरकार कोरोनावायरस के नाम पर जानबूझकर हमारे सम्मेलन को नहीं होने देना चाहती है परंतु हम डरने वाले नहीं हैं।

     श्री पाठक ने कहा कि याद किजिए 2015 का हड़ताल पूरे 43 दिनों तक चलता रहा परंतु माननीय मुख्यमंत्री जी मुंह तक नहीं खोले थे और अब हड़ताल प्रथम दिन से ही सफल है, नौवें दिन ही विधानसभा का बहुमूल्य समय 20 मिनट तक केवल शिक्षकों के हड़ताल पर ही बोलना पड़ा है,भले ही वह हमारे खिलाफ बोले हैं जनता को शिक्षकों के खिलाफ भड़काया है, शिक्षकों का उपहास उड़ाया है, लेकिन उन्हें यह भी बोलना पड़ा कि हमें शिक्षकों से सहानुभूति है, राज्य सरकार शिक्षकों से इतना डरी हुई है कि आनन फानन में बिहार के मंत्रियों का विभिन्न जिलों में कार्यक्रम रद्द किया जा रहा है।

    ये भी पढ़े-दिल्ली दंगा में नया खुलासा, आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के तार पीएफआई से जुड़े

     
    उन्होंने ने शिक्षकों से आग्रह करते हुए कहा कि हड़ताल पर डटे रहें, अडिग रहें, क्योंकि शुरुआती रूझान में ही राज्य सरकार बहुत अधिक दबाव में और फ्रस्ट्रेशन में दिख रही है , माननीय मुख्यमंत्री के वक्तव्य का मुंहतोड़ जवाब धीरे धीरे दिया जाएगा और मैच हम ही जीतेंगे, पूर्ण वेतनमान, राज्य कर्मी का दर्जा,समान सेवा शर्त मिलने तक हड़ताल जारी रहेगा, राज्य सरकार अप्रैल के प्रथम सप्ताह तक ही घुटने टेक देगी।

    ये भी पढ़े-MP Political Crisis:कोंग्रेस नेताओ की कोई जुगाड़ नहीं बचा पा रही है कमलनाथ के सरकार

      प्रदेश कोर कमिटी के सदस्य अभय कुमार सिंह सुरेश सिंह, नवनीत कुमार मनोरंजन, अरविन्द कुमार सिंह, जिला संयोजक शंकर प्रसाद सिंह, कोर कमिटी के सदस्य राधेश्याम सिंह सुधीर कुमार सिंह, मोहम्मद शर्फुद्दीन, उमेश कुमार तिवारी, मनोज कुमार यादव, संजय प्रसाद, धीरेन्द्र कुमार सिंह, ने कहा कि शिक्षकों के वेतन बढ़ाने के नाम पर माननीय मुख्यमंत्री जी तरह-तरह की बातें बना रहे हैं, जबकि खुद माननीय मुख्यमंत्री जी चार तरह के वेतन उठा रहे हैं।


    शिक्षक नेताओं ने कहा कि राज्य सरकार के मुखिया, विधायक, सांसद,विधान पार्षद एवं मुख्यमंत्री पद का वेतन, पेंशन,भत्ता व अन्य प्रकार का लाभ ले रहे हैं तथा बिहार की जनता को ठगने का काम कर रहे हैं, बिहार के लाखों शिक्षकों ने राज्य सरकार के दमनात्मक कार्रवाई के खिलाफ होली नहीं मनाया है अब राज्य सरकार भी अगली दिवाली नहीं मना पाएगी।

    ये भी पढ़े-DELHI:इस शख्स ने प्रधानमंत्री मोदी के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की कामना

     
    मौके पर सत्येन्द्र कुमार यादव, रमेश कुमार,नवल किशोर, मुकेश कुमार गुप्ता, सिंह,सुखाड़ी पासवान,पवन कुमार मुनचुन कुमार, उदय शंकर गुप्ता, अनील कुमार यादव, जमीरी लाल, रामप्रवेश शर्मा,लाल बिहारी साह शिवचंद्र चौधरी, नीरज कुमार, ब्रजेश कुमार,मिफताह आलम, दिनेश पासवान, अशोक कुमार दिप्तांशु, सुनील कुमार सिंह,रामदर्शन,अरूण कुमार सिंह, सुरेश कुमार बारी,दिव्याभुषण,सीमा कुमारी, संगीता कुमारी, कामिनी कुमारी, सरोज झा,सोनी कुमारी, रेखा कुमारी नूर मोहम्मद, मोहम्मद अलताफ, मनोज कुमार,फेकन झा, फिरोज आलम, सहित सैकड़ों शिक्षक शिक्षिका मौजूद थे।

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad