Header Ads


  • BREAKING NEWS

    COVID19:नहीं थम रहा है कोरोना का कहर,इटली में मरने वालों की संख्या चीन से भी ज्यादा हो गयी

    We News 24 Hindi »दिल्ली/राज्य
    NCR/ब्यूरो संवाददाता कविता चौधरी

    नई दिल्ली : दुनिया में भी नहीं थम रहा है कोरोना का कहर, ढाई लाख से ज्यादा लोग संक्रमित, मरने वालों का आंकडा 10 हजार के पार, इटली में मरने वालों की संख्या चीन से भी ज्यादा हो गयी है। श्रीलंका में शुक्रवार से 60 घंटे का कर्फ्यू लगाया गया है तो कई और देशों ने  कडे कदम उठाए हैं। उधर डब्ल्यूएचओ ने पीएम मोदी के प्रयासों की तारीफ की है।

    ये भी पढ़े-COVID19:से निपटने के लिए केंद्र सरकार कर रही है युद्दस्तर की तैयारी

    वैश्विक महामारी कोविड-19 का फैलाव अब लगभग पूरी दुनिया में हो चुका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया के 168 देशों में कोरोना वायरस पहुँच चुका है। इस वायरस से संक्रमण के कुल मामले ढ़ाई लाख के क़रीब हो गए हैं और मरने वालों की संख्या 10,000 पार कर गई है। दुनिया भर के देश इस महामारी के फैलाव से चिंतित हैं।

    ये भी पढ़े -Corona Virus:महाराष्ट्र के बाद अब दिल्ली में सभी मॉल को 31 मार्च तक बंद करने का आदेश,आदेश आज से लागु

    दुनिया के कुल 6 देश ऐसे हैं जहां अभी तक संक्रमण के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। इनमें चीन, इटली, ईरान, स्पेन, दक्षिण कोरिया और जर्मनी शामिल हैं। इटली में मौतों का आंकड़ा चीन से भी आगे बढ़ गया और वहाँ मरने वालों की संख्या 3,400 से भी ज्यादा हो गई है। ऑस्ट्रेलिया में क्रूज पर 3 लोग संक्रमित पाए गए हैं। हालाँकि कोरोना संक्रमण का केंद्र रहे चीन के वुहान शहर और आसपास के हुबेई प्रांत में पिछले 2 दिनों में कोई नया मामला दर्ज नहीं किया। इस खबर से कोरोनावायरस के खिलाफ जारी वैश्विक संघर्ष को नई उम्मीद मिली है। दक्षिण कोरिया में 87 नए मामले आने के साथ ही कुल 8652 लोग संक्रमित हो चुके हैं। खतरे से निपटने के लिए दक्षिण कोरिया, जापान और चीन के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई।

    ये भी पढ़े-CoronaVirus:महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला, मुंबई समेत ये चार शहर पूरी तरह Lock Down

    श्रीलंका में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते 25 अप्रैल को होने वाला संसदीय चुनाव स्थगित कर दिया गया है। श्रीलंका में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 50 के पार हो चुकी है जिसके मद्देनजर देश में 60 घंटे का कर्फ्यू लगा दिया गया है। लोगों के घर ही में रहने के बारे में इजरायल के राष्ट्रपति के फैसले के बावजूद पूर्वी यरुशलम में अल-अक्सा मस्जिद में प्रार्थना करने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी जिससे इज़राइली पुलिस के साथ उनकी हाथापाई हुई। लेसबोस में समुद्र के ज़रिए आने वाले प्रवासियों को एक चैपल के बाहर कंबल के ढेर के नीचे एक साथ बैठना पड़ा क्योंकि कोई भी उन्हें लेने के लिए नहीं आया। इस बीच कोविड 19 के खिलाफ जंग में तमाम देश अपने अपने स्तर पर कदम उठाकर इस संक्रमण को नियंत्रित करने के प्रयास कर रहे हैं। 

    संपर्क कम से कम करने की दिशा में काम करते हुए कई देश अपनी सीमाएँ बंद कर रहे हैं और आवाजाही पर रोक लगा रहे हैं। फ्रांस में पुलिस ड्रोन से लोगों के जागृत कर रही है तो इजरायल में लोगों ने कोविड-19 से निपटने में लगी मेडिकल टीम का उत्साहवर्द्धन किया। बार्सिलोना में हवाई अड्डे को को किटाणुमुक्त किया गया। उधर बाल्टिक देशों ने जर्मनी पोलैंड सीमा से अपने नागरिकों को लाने के लिए जहाज़ भेजा है। अर्जेंटिना भी अब उन देशों में शामिल हो गया है जहाँ लोगों को अपने घरों में ही रहने के लिए कहा गया है।

    ये  भी पढ़े -Nirbhaya Case Update:अभी भी जिन्दा है निर्भया के एक गुनाहगार ,चंद लोग ही देख पाए हैं उसका चेहरा

    कोविड-19 से न्यूयॉर्क में अभी तक 22 मौत,हो चुकी है और कुल 4215 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं कैलिफोर्निया के गवर्नर ने लोगों को घरों में रहने को कहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते प्रकोप के बीच अमेरिकी स्वास्थ्य नियामकों से कोविड-19 के इलाज के लिए संभावित उपचारों पर तेज़ी से आगे बढ़ने का आह्वान किया है। इसी दिशा में अमेरिका ने मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरीन को कोरोना के उपचार के लिए मंज़ूरी दे दी है।
     

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad