Header Ads


  • BREAKING NEWS

    21-Day Lock down: मोदी सरकार का बड़े आर्थिक पैकेज का ऐलान ,10 करोड़ों लोगों के खाते में सीधे डाले जाएंगे पैसे

    We News 24 Hindi »दिल्ली/राज्य
    NCR/ब्यूरो संवाददाता अनिल गौड़ 

    नई दिल्ली: रायटर। भारत की नरेंद्र मोदी सरकार कोरोनावायरस से मुकाबले के बीच 1.5 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा कर सकती है। इस मामले से जुड़े दो सूत्रों ने समाचार एजेंसी रायटर को यह जानकारी दी। यह बात ऐसे समय में सामने आई है जब कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए देशभर में तीन हफ्ते के लॉकडाउन की घोषणा हो चुकी है। 

    ये भी पढ़े-21-Day Lock down:पटना की सड़कें लॉकडाउन के चलते सुनसान पड़ी हैं ,डिएम ने लॉकडाउन को कड़ाई से अनुपालन का निदेश दिया

    हालांकि, सूत्रों के मुताबिक भारत सरकार ने अब तक पैकेज को अंतिम रूप नहीं दिया है। उनके मुताबिक इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी, वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक के बीच चर्चा चल रही है। एक सूत्र के मुताबिक प्रोत्साहन पैकेज का आकार 2.3 लाख करोड़ तक का हो सकता है। हालांकि, इसको लेकर अब भी चर्चा चल रही है।

    ये भी पढ़े-Corona virus: झारखण्ड मस्जिद में 5 दिन से छिपे थे 11 चीनी मौलवी ,मौलवियों को प्रशासन ने दबोचा

    10 करोड़ों लोगों के अकाउंट में सीधे डाले जाएंगे पैसे
    सूत्रों ने बताया कि इस पैकेज की घोषणा इस सप्ताह के आखिर में की जा सकती है। इस पैकेज के तहत देश के 10 करोड़ गरीब लोगों के खाते में सीधे रुपये ट्रांसफर किए जा सकते हैं। इसके अलावा लॉकडाउन से प्रभावित बिजनेसेज की सहायता का ऐलान भी किया जा सकता है।

    %25E0%25A4%25B9%25E0%25A5%2588%25E0%25A4%25A1%25E0%25A4%25B0%2B%25E0%25A4%25B5%25E0%25A4%25BF%25E0%25A4%259C%25E0%25A5%258D%25E0%25A4%259E%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%25AA%25E0%25A4%25A8%2B

    उल्लेखनीय है कि 1.3 अरब लोगों की जनसंख्या वाले देश में बुधवार से संपूर्ण लॉकडाउन अमल में आ गया। कोरोनावायरस को रोकने के लिए यह किसी भी देश की सरकार की तरफ से उठाया गया सबसे बड़ा फैसला है। भारत में अब तक 560 से अधिक लोगों को इस वायरस से पीड़ित पाया गया है। इनमें से दस लोगों की मौत हो चुकी है।

    ये भी पढ़े-21-Day Lock down:बिहटा‌-पुलिस ने लॉक डाउन सफल बनाने को शुरू की सख्ती,देखे वीडियो

    सूत्रों ने बताया कि सरकार ने रिजर्व बैंक से कुछ सरकारी प्रतिभूतियों को खरीदने के लिए कहा है। केंद्रीय बैंक ने कई दशक से ऐसा कोई कदम नहीं उठाया है क्योंकि इससे महंगाई दर के चढ़ने की आशंका पैदा हो जाती है।


    एक सूत्र ने कहा, ''RBI को विश्व के अन्य सेंट्रल बैंक की तरह बॉन्ड खरीदना होगा।''
    वित्त मंत्रालय ने इस योजना पर किसी तरह की टिप्पणी से इनकार कर दिया। आरबीआइ ने भी इस संदर्भ में भेजे गए इमेल का जवाब नहीं दिया है। 

    Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad