Header Ads


  • BREAKING NEWS

    राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के 6 मंत्री सहित 17 विधायक बेंगलुरु पहुंचे

    We News 24 Hindi »मध्यप्रदेश/राज्य
    भोपाल/ब्यूरो रिपोर्ट

    मध्य प्रदेश: में पिछले सप्ताह शुरू हुए राजनीतिक उठापटक का दूसरा हिस्सा सोमवार को शुरू हुआ। 26 मई को होने वाले रागए। ये सभी लोग ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के बताए जा रहे हैं। सरकार के संकट में आने की खबर मिलते ही सोनिया गांधी से दिल्ली में मुलाकात कर मुख्यमंत्री कमलनाथ तुरंत भोपाल पहुंच गए और वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के साथ देर शाम उनकी मीटिंग हुई।संकट दूर करने में जुटी कांग्रेस की ओर से संकेत मिल रहे हैं कि ज्योतिरादित्य को राज्यसभा के लिए उम्मीदवार बनाकर पार्टी इस मसले का समाधान निकाल सकती है।

    ये भी पढ़े-DELHI:दिल्ली सरकार इन रुटो पर चलाई 100 अत्याधुनिक बस ,जाने क्या है विशेषता इन बसों की

    दूसरी तरफ, कमलनाथ सरकार को संकट में घिरता देख बीजेपी ने कल अपने विधायकों की बैठक बुलाई है। बताया जा रहा है कि बीजेपी विधायकों की मीटिंग में कमलनाथ सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने पर मुहर लग सकती है।  16 मार्च से शुरू होने वाले मध्य प्रदेश विधानसभा सत्र के पहले दिन ही बीजेपी कमलनाथ सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव  ला सकती है।


    महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कैबिनेट की बैठक बुलाई है। राज्य के मुख्य सचिव सीएम हाउस पहुंच चुके हैँ। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश तीन राज्यसभा सीटों के लिए 26 मार्च को मतदान होने हैं और संकेत मिल रहे थे पार्टी ज्योतिरादित्य सिंधिया की उम्मीदवारी पर विचार नहीं कर रही है।  हालांकि, अब जबकि सरकार संकट में फंसती दिख रही है तो पार्टी इस मसले पर नए सिरे से सोच सकती है। मुख्यमंत्री कमलनाथ से जब सोमवार को यह सवाल पूछा गया कि क्या पार्टी ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा उम्मीदवार बनाएगी, तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

    ये भी पढ़े-UTTAR PRADESH: आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी को योगी सरकार करेगी टेकओवर

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलुरु पहुंचने वाले मंत्रियों में इमरती देवी, प्रद्युमन सिंह तोमर, गोविंद सिंह राजपूर और महेन्द्र सिंह सिसोदिया शामिल हैं। इन मंत्री और विधायकों को बेंगलुरु के बाहरी इलाके के रिसॉर्ट में ठहराया गया है। 

    ये भी पढ़े-सुप्रीम कोर्ट ने कहा NGO की विदेशी फंडिंग को नहीं रोका जा सकता है

    गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ आदिवासी विधायक एवं पूर्व मंत्री बिसाहूलाल सिंह रविवार शाम को भोपाल पहुंचे और मुख्यमंत्री निवास में कमलनाथ से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद एक फोटो भी सामने आया, जिसमें बिसाहूलाल सिंह, मुख्यमंत्री और अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ दिखाई दिए थे। अभी दो विधायक हरदीप सिंह डंग और रघुराज कंसाना भी पिछले एक सप्ताह से 'लापता' हैं। डंग ने तो विधानसभा की सदस्यता से अपना त्यागपत्र भी कथित तौर पर भेज दिया है।


    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad