Haider Aid

  • Breaking News

    Nizamuddin Corona Caset:तबलीगी जमात कार्यक्रम ने उड़ाई सरकार की नींद ,कार्यक्रम में शामिल लोग हो सकते है कोरोना बम्ब

    We News 24 Hindi »दिल्ली/राज्य
    NCR/एडिटर एंड चीफ दीपक कुमार 

    नई दिल्ली:जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस से निजात पाने में जुटी थी  देश में भी लोगो को जागरूक किया जा रहा था की शोशल डिस्टेंट का बारे में कहा जा रहा था की ज्यादा भीड़ वाले जगह से बचे कोई कार्यक्रम का आयोजन ना करे | तभी हमारे देश में एक कोम ऐसा था जो इन सभी बातो को दरकिनार कर अपने धार्मिक कार्यक्रम के आयोजन में लगा हुआ था जिसके वजह से पुरे देश में भारी संकट पैदा होने का डर है जिसने  सरकार की नींद उड़ाकर रख दिया पूरा सिस्टम को परेशान कर दिया |

    ये भी पढ़े-NOBA ने जरूरतमंदों के लिए बढ़ाया हाथ ,कोरोना से बचाव के लिए लोगों को किया जागरूक।।

    और वो धर्मिक सभा है तबलीगी जमात जो 13 से 15 मार्च के बीच निजामुद्दीन में हुई हुआ था  इस सभा में शामिल  होने वाले 6 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से सोमवार को तेलंगाना में मौत हो गई. सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि तबलीगी जमात के नाम पर किसी विदेशी को वीजा नहीं दिया जाता है.


    क्या मतलब होता है तबलीगी जमात का 
     तबलीगी का मतलब होता है अल्लाह की कही बातों का प्रचार करने वाला। वहीं जमात का मतलब होता है समूह। यानी अल्लाह की कही बातों का प्रचार करने वाला समूह। मरकज का मतलब होता है मीटिंग के लिए जगह।

    ये भी पढ़े-PATNA:कोरोनाने लगाया चैती छठ पर ग्रहण , गंगा के घाटो पर चैती छठ आयोजन पर रोक

    तबलीगी जमात में शामिल लोग भारत आने के दौरान वीजा में इन जानकारियों को छुपाते हैं. वीजा में ज्यादातर मामलों में ये बताया जाता है कि वो भारत घूमने जा रहे हैं. सूत्रों ने बताया कि निजामुद्दीन से लेकर पूरे देश मे तबलीगी जमात के लोग मौजूद हैं जिनमें इंडोनेशिया से लेकर कई विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.


    बताया जा रहा है कि फरवरी महीने में मलेशिया में हुए तबलीगी जमात से पूरे मलेशिया में कोरोना वायरस फैला. भारत में मौजूद कई तबलीगी जमात के लोग मलेशिया से वापस लौटे हैं जिनसे कोरोना फैलने का खतरा बढ़ गया है. 

    ये भी पढ़े-21-Day Lock downपटना मे नौ आपदा राहत केंद्र शुरू किया गया जिसमे रहने खाने की व्यवस्था की गई है

    इस पूरे मामले ने केंद्र सरकार की चिंता बढ़ा दी है. सरकार इसे कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक बड़ी चुनौती मान रही है. पूरे हालात की समीक्षा करने के लिए ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक बुलाई गई है. जिसमें ये फैसला लिया जाएगा कि इस चुनौती से किस तरह से निपटा जाए.
    गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में कुछ दिनों पहले पाबंदियों के बावजूद एक बड़ा धार्मिक कार्यक्रम चल रहा था. इस कार्यक्रम में करीब 1400 लोग शामिल थे. सोमवार रात को इनमें से 34 लोगों की तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद उन्हें दिल्ली के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इनमें से एक बुजुर्ग की मौत हो गई. अब निजामुद्दीन इलाके में जमा हुए सभी 1400 लोगों को कोरोना जांच के लिए अस्पताल भेजा रहा है.

     दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस्लामिक संगठन तबलीगी जमात पर FIR दर्ज करने का आदेश दिया है. इन पर लॉकडाउन के दौरान कार्यक्रम कर बड़ी संख्या में लोगों को जमा करने का आरोप है.

    %25E0%25A4%25B9%25E0%25A5%2588%25E0%25A4%25A1%25E0%25A4%25B0%2B%25E0%25A4%25B5%25E0%25A4%25BF%25E0%25A4%259C%25E0%25A5%258D%25E0%25A4%259E%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%25AA%25E0%25A4%25A8%2Bये भी पढ़े-Crime News::पटना में लॉक डाउन के दौरान किसान को घर में घुसकर मारकर हत्या कर दिया ,देखे वीडियो

    ये कार्यक्रम सुन्नी इस्लाम से संबंधित संस्था तबलीगी जमात का था जो सालभर चलता है. इस कार्यकम्र में हिस्सा लेने के लिए 1400 लोग निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के सेंटर पर आए थे. इनमें 100 विदेशियों के अलावा, देश के अलग अलग राज्यों से आए लोग भी शामिल थे.
    अब इस मामले की जांच विश्व स्वास्थ्य संगठन, दिल्ली सरकार का स्वास्थ्य विभाग और दिल्ली पुलिस मिलकर कर रही है. इस घटना के बाद अब तक 300 लोगों को यहां से निकाल कर अलग-अलग जगहों पर रखा गया है.

    Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad