Header Ads

  • BREAKING NEWS

    बड़ी खबर :चीन का हिमायती WHO की अमेरिका ने रोकी फंड

    We News 24 Hindi »अमेरिका/वाशिगटन
    अन्तर्राष्ट्रीय/खबर 

    वॉशिंगटन :विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पर चीन की तरफदारी करने का आरोप लगाते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को फंडिंग रोकने का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि WHO ने चीन में फैले कोविड-19 की गंभीरता को छिपाया और बाद में यह पूरी दुनिया में फैल गया। ट्रंप ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वह अपने प्रशासन को फंडिंग रोकने का आदेश दे रहे हैं। दरअसल, अमेरिका में लगातार हो रही मौतों को न रोक पाने के कारण ट्रंप की भी आलोचना हो रही है। 

    COVID-19 INDIA UPDATE : राज्यवार स्थिति


    ट्रंप के अनुसार, WHO ने इस महामारी को लेकर पारदर्शिता नहीं रखी और यूएन की इस संस्था को सबसे ज्यादा फंड देने वाला अमेरिका अब इस पर विचार करेगा कि उस पैसे का क्या किया जाए जो संगठन को जाता है। अमेरिका ने पिछले साल विश्व स्वास्थ्य संगठन को 400 मिलियन डॉलर दिए थे। हाल में डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अदहानोम गेब्रेयेसस ने कहा था कि कोविड-19 के मामले में राजनीतिक रंग देने से केवल मौत के आंकड़े ही बढ़ेंगे। 

    ये भी पढ़े-गैस एजेंसी, जन वितरण प्रणाली एवं किराना दुकानों पर छापामारी कर जांच की गई


    ट्रंप बोले, WHO ने नहीं निभाई अपनी ड्यूटी 
    ट्रंप ने कहा कि WHO कोरोना के प्रकोप में अपनी बेसिक ड्यूटी पूरी करने में नाकाम साबित हुआ है। उन्होंने आरोप लगाया कि चीन में जब यह वायरस फैला तो यूएन संस्था ने उसे छिपाने का प्रयास किया और इसके लिए उसे जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। इससे पहले भी ट्रंप ने डब्लूएचओ पर चीन का पक्ष लेने का आरोप लगाया था। 

    अपने देश में घिरे हैं ट्रंप, यह वजह तो नहीं? 
    कोरोना से अमेरिका बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। यहां दुनिया में सबसे ज्यादा लोग करीब 6 लाख कोरोना से संक्रमित हुए हैं और 25 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में ट्रंप अपने देश में कोरोना को फैलने से रोकने में नाकाम रहने को लेकर घिरे हैं और उनकी आलोचना हो रही है। समझा जा रहा है कि उन्होंने WHO को हालात के लिए दोषी ठहराकर खुद का बचाव करने की भी कोशिश की है। 

    ये भी पढ़े-पशु चारा, मीट,मुर्गा,मछली अंडा की दुकानों को खुलवाया गया


    राष्ट्रपति ट्रंप ने आरोप लगाया है कि चीन के वुहान शहर में जब कोरोना वायरस के मामले सामने आए तो डब्लूएचओ उसका आकलन करने में फेल रहा। उन्होंने पत्रकारों से कहा, 'क्या WHO ने मेडिकल एक्सपर्ट के जरिए चीन के जमीनी हालात का आकलन किया। इस प्रकोप को उसके मूल स्थान पर ही सीमित किया जा सकता था और काफी कम जानें जातीं।' उन्होंने कहा कि हजारों जानें बच जातीं और विश्व की अर्थव्यवस्था को भी नुकसान नहीं पहुंचता। इसके बजाय WHO चीन के ऐक्शन का बचाव ही करता रहा। 

    वीडियो देखने के लिए यंहा क्लिक करे :

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad