Haider Aid

  • Breaking News

    HIMACHAL:बीबीएन केे लाखो प्रवासी मजदूर जाना चाहते है घर वापसी

    • बीबीएन केे एक लाख मजदूर घर जाना चाहते हैं
    • गृह मंत्रालय के निर्णय के बाद जगी आस
    • बीबीएन में कुशल व अकुशल करीब चार लाख प्रवासी मजदूर

    We News 24 Hindi »हिमाचल प्रदेश/राज्य
    बददी/नालागढ़/रिपोर्टर सत्यदेव शर्मा

    बददी:लॉक डाउन के  बिच केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा प्रवासी मजदूरों को घर जाने की अनुमति मिलने के बाद बददी-बरोटीवाला-नालागढ़ में कार्यरत लाखों मजदूरों को अपने घरों को जाने की आस जगी है। कोविड-19 के चलते बीबीएन में कई उद्योग लगभग बंद हो चुके हैं। इनमें काम करने वाले मजदूर, दिहाड़ीदार, कर्मचारी, अधिकारी, परोक्ष तथा प्रत्यक्ष तौर से जुड़े लाखों प्रवासी लोग बेरोजगार होकर किराये के मकानों में बैठेेे हैैैं। 

    ये भी पढ़े -HIMACHAL:पुलिस ने यात्रियों को जाती हुयी एम्बुलेंस को जब्त किया

    हालांकि केंद्र तथा प्रदेश सरकार द्वारा मकान मालिकों से किरायेदारों से किराया न लेने का आग्रह किया गया है। बावजूद इसके अपने घरों से बाहर रहने वाले लोगों को अन्य खर्चे भी उठाने पड़ते हैं। इसलिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने देश के विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों, विद्यार्थियों तथा अन्य लोगों को घरों को वापिस जाने की अनुमति प्रदान कर दी है। इसमें हर राज्य को अपनी सुविधा के अनुसार इनको वापिस भेजने की योजना बनानी होगी। 



    राज्य सरकार ने भी प्रदेश में फंसे प्रवासी लोगों को उनके राज्यों में भेजने का खाका तैयार कर लिया है। इसके लिए हर जिला में एक नोडल अधिकारी की नियुक्ती कर दी गई है। इसके अलावा उनके मोबाइल नंबर तक जारी कर दिए गए हैं, ताकि किसी भी प्रवासी व्यक्ति को कोई दिक्कत न झेलनी पड़े। बीते 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन के बाद कई प्रवासी लोग हिमाचल प्रदेश में फंसे हैं। जिनको अब घर वापिसी की उम्मीद जगी है। 

    इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के उद्योगों में काम करने वाले प्रवासी लोग भी उद्योग बंद होने के बाद वापिस अपने रा’यों में जाने का सपना संजो रहे हैं। लेकिन इन प्रवासी मजदूरों के वापिस चले जाने से बीबीएन के कुछ औद्योगिक घरानों के मालिकों के चहरे पर चिंता की लकीरें भी साफ देखी जा रही हैं। 


    नोडल अधिकारी नियुक्त

    कोविड-19 केे चलते अपने-अपने घरों को जाने के लिए बेताब बैठे लोगों के लिए राहत भरी खबर आई है। प्रदेश सरकार ने भी उत्तर प्रदेश को जाने वाले लोगों के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्त की है। हिमाचल प्रदेश से उत्तर प्रदेश जाने वाले लोगों के लिए प्रदेश सरकार ने अलग-अलग जिलों में एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। हिमाचल प्रदेश से उत्तर प्रदेश को जाने वाले लोग 9454400155 पर संपर्क कर सकते हैं। इस नंबर पर संपर्क करकेे उत्तर प्रदेश को जाने वाले लोग अपना पास बनवा सकते हैं। 

    ये भी पढ़े-कोरोना तेजी से बिहार में अपना पैर फैला रहा है,38 जिलों में से 29 जिले कोरोना से प्रभावित ,पढ़े पूरी खबर

    प्रवासी मजदूर रीढ़ की हड्डी
    लघु उद्योग भारती के प्रदेशाध्यक्ष राजीव कंसल ने बताया कि बददी में लाखों की संख्या में प्रवासी मजदूर काम करते हैं। इसमेें कुशल और अकुशल कारीगर भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों के वापिस चले जाने में बीबीएन के बहुत सारे उद्योग पंगु हो जाएंगे। यह मजदूर बीबीएन उद्योग की रीढ़ की हड्डी हैं, इनके वापिस चले जाने से कई उद्योगों को उत्पादन का संकट पैदा हो सकता है। उन्होंने कहा कि जो प्रवासी लोग बेरोजगार हुए हैं उनके रहने और खाने की व्यवस्था सरकार तथा कुछ सामाजिक संगठन मिलकर कर रहे हैं। लेकिन किसी को जबरदस्ती रोका भी नहीं जा सकता। अगर कोई वापिस जाना चाहता है तो उसे अवश्य भेजना चाहिए। लघु उद्योग भारती बीबीएन में कार्यरत प्रवासी मजदूरों को वापिस भेजने के हक में कतई नहीं है।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।


    Post Top Ad

    Post Bottom Ad