Haider Aid

  • Breaking News

    अगर लॉकडाउन बढ़ा तो तिन जोन में बंट जायेगा देश ,सबसे मुश्किल इस जोन वाले को होगा ,पढ़े पूरी खबर

    We News 24 Hindi »दिल्ली/राज्य
    NCR/ब्यूरो संवाददाता आरती गुप्ता

    नई दिल्ली: देश में कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए राष्ट्रव्यापी ‘लॉकडाउन' कम से कम 30 अप्रैल तक बढ़ सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई एक बैठक में इस पर व्यापक रूप से आम सहमति बनी है। यदि लॉकडाउन की अवधि बढ़ती है तो देश को तीन जोन में बांटा जाएगा, जो होंगे रेड, ऑरेंज और ग्रीन स्पॉट।

    हॉटस्पॉट वाले जिलों को रेड जोन में, जिन जिलों में कोरोना संक्रमित लोगों को आइसोलेट किया गया है उन जिलों को ऑरेंज जोन तथा जहां पर कोरोना के कोई भी मरीज नहीं मिले हैं उन्हें ग्रीन जोन में रखा जाएगा। ग्रीन और ऑरेंज जोन में खेती से जुड़े काम को कुछ नियमों के साथ छूट मिल सकती है। वहीं एक लिमिट में हवाई, ट्रेन सफर की छूट भी मिल सकती है। दिल्ली जैसे शहरों में मेट्रो सर्विस भी चालू की जा सकती है। लेकिन यात्रियों की संख्या को सीमित रखने पर विचार हो रहा है।

    ये भी पढ़े-दक्षिणी दिल्ली पार्षद के पति पर दर्ज महामारी एक्ट के तहत दर्ज हुआ FIR

    सूत्रों के मुताबिक सरकार महामारी की रोकथाम के लिये कोविड-19 के हॉटस्पॉट (कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित क्षेत्रों) पर और लॉकडाउन हट जाने पर अर्थव्यस्था को रफ्तार देने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। लॉकडाउन बढ़ाये जाने के साथ-साथ आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिये कुछ छूट भी दी जाएगी। सूत्रों ने बताया कि कई प्रस्तावों पर विचार किया जा रहा है, जिनमें वायरस के प्रसार से अछूते इलाकों में अपेक्षाकृत कम पाबंदियां लगाना भी शामिल है। 

    ये भी पढ़े- लाख समझाने के बावजूद भी लोग नहीं माने तो हुआ पूरा दिल्ली 6 सील

    सरकारी अधिकारियों ने बताया कि लॉकडाउन के दूसरे चरण के लिये दिशानिर्देशों की अगले कुछ दिनों में घोषणा की जाएगी। आधिकारिक बयान में आर्थिक मोर्चे पर चुनौतियों पर भी प्रधानमंत्री की टिप्पणी का हवाला दिया गया।

    ये भी पढ़े-PMO का आदेश आज से केंद्र सरकार के सभी मंत्रि अपने कार्यालय में जाकर काम करे

     बयान में कहा गया कि मोदी ने इस संकट को भारत को आत्मनिर्भर बनाने और राष्ट्र को आर्थिक शक्ति में तब्दील करने का एक अवसर बताते हुए स्वास्थ्य सेवाओं के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने और टेली-मेडिसीन के जरिये रोगियों तक पहुंचने के बारे में भी बात की। पीएम मोदी ने स्पष्ट रूप से यह भी भरोसा दिलाया कि भारत के पास आवश्यक दवाइयों की पर्याप्त आपूर्ति है और कहा कि अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों के लिये व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण तथा आवश्यक उपकरण की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये कदम उठाये जा रहे हैं। 

    वीडियो देखने के लिए यंहा क्लिक करे :

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।


     


    Post Top Ad

    Post Bottom Ad