Header Ads

  • BREAKING NEWS

    मुंबई क्वारंटाइन सेंटर बनया गया होटल में आग लगने से हड़कंप

    We News 24 Hindi »महाराष्ट्र/राज्य
    मुंबई/ब्यूरो रिपोर्ट

    मुंबई :के नागपाड़ा में बेलासिस रोड पर रिपन होटल में आग लगने से हड़कंप मच गया। इस होटल का उपयोग क्वारंटाइन सेंटर के रूप में किया जा रहा था, जहां कि कुछ लोगों को रखा भी गया था। आग लगने के बाद आनन-फानन में अधिकांश मरीजों को बाहर निकाल लिया गया है। फायर ब्रिगेड विभाग ने बताया कि 25 मरीजों सहित कुल 27 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है।

    ये भी पढ़े-महाराष्ट्र: आज कोरोना संक्रमण के 552 मामले सामने आए,मरीजो की संख्या 5 हजार के पार ,251 की मौत

    फिलहाल आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। मुंबई फायर ब्रिगेड विभाग ने बताया है कि यह आग लेवल-2 की है। यह आग होटल के लॉजिंग रूप में लगी हुई थी जिसका उपयोग कोरोना वायरस के संदिग्ध रोगियों के लिए क्वारंटाइन सेटर के रूप में किया जा सकता है। विभाग ने बाताया कि अधिकांश रोगियों को समय रहते बचा लिया गया है।

    ये भी पढ़े-International:किम जोंग उन के ब्रेन डेड ,बहन किम यो जोंग संभाल सकती हैं उत्तर कोरिया की सत्ता

    बता दें कि मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के 155 नए मामले सामने आने के साथ यहां कोविड-19 के कुल मामले बढ़ कर 3,000 के पार पहुंच गये। वहीं, बृह्न्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) मुताबिक, सात और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या बढ़ कर 138 हो गई है। इस बीच, महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 466 नए मामले सामने आए। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि राज्य में अभी तक 4,666 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। 


    अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 से आज राज्य में नौ लोगों की मौत हुई। राज्य में अभी तक 232 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से जान गंवा चुके हैं। इस बीच, बीएमसी के के 24/7 आपदा प्रबंधन नियंत्रण कक्ष के दो कर्मचारी संक्रमित पाए गए हैं। एक अधिकारी ने यह बताया। बीएमसी की विज्ञप्ति के मुताबिक, मुंबई में कोविड-19 के कुल 3,090 मामले अब तक सामने आए हैं। सिर्फ चार दिनों के अंदर संक्रमण के 1000 नए मामले सामने आने से अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है।

    ये भी देखे -VIDEO:सीतामढ़ी:लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस हुई सख्त ,कराया उठक बैठक

    बीएमसी ने कहा कि 84 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई। कुल 394 मरीज स्वस्थ हुए हैं। उन्होंने कहा, ''मरने वाले सात लोगों में से छह पहले ही अन्य बीमारियों से ग्रसित थे।'' मामले बढ़ने के कारणों पर प्रकाश डालते हुए बीएमसी ने कहा कि विभिन्न प्रयोगशालाओं में 14-17 अप्रैल के बीच 137 लोगों के नमूनों में संक्रमण की पुष्टि हुई और सोमवार को इनकी जानकारी मिलने के बाद इन्हें तालिका में जोड़ा गया।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad