Haider Aid

  • Breaking News

    बिहार बन चुका इतिहास ,देश का सबसे इंडस्ट्रीयलाइज्ड एरिया कहलाता था बिहार


    We News 24 Hindi »बिहार/राज्य

    सीतामढ़ी /संवाददाता रोहित कुमार ठाकुर की रिपोर्ट

    सीतामढ़ी :बिहार बन चुका इतिहास महात्मा बुद्ध की शिक्षा स्थली और सम्राट अशोक की कर्म भूमी बिहार एक वक़्त था की मिथिला देश का सबसे इंडस्ट्रीयलाइज्ड एरिया हुआ करता था। लगभग हरेक जिले में कोई ना कोई औद्यौगिक मिल या संयंत्र था। 

    कटिहार, किशनगंज, भागलपुर से लेकर मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, चंपारण तक चीनी मिल, जुट मिल, खाद मिल, पेपर मिल, सिल्क उद्योग, सुत उद्योग, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग का जाल बिछा हुआ था। लाखों लोगों को डायरेक्ट रोजगार के साथ साथ करोड़ों किसानों को फायदा पहुंचता था। 

    मिथिला वाज वंस एन इंडस्ट्रीयल जोन, एक उत्पादक क्षेत्र हुआ करता था। हमारे यहां आने वाले ट्रक खाली आते थे और जाने वक्त औद्यौगिक उत्पादन से भर कर। 

    ये भी पढ़े-CBSE 10 वीं -12 वीं का रिजल्ट जल्द जारी होगा,अब नये नीति के अनुसार होगी पढाई

    आज मिथिला लेबर जोन बन गया है। आज हमारे सारे मिल और उद्योग बंद हो चुके हैं। हमारे यहां आने वाले ट्रक आज भर कर आते हैं और जाते वक्त खाली। आज औद्यौगिक उत्पादन के नाम पर हमारे यहां कुछ भी नहीं उत्पादित होता है। हमारे लोग हजारों किलोमीटर मजदूरी करने जाने को मजबूर हैं। हमारी मिलें खंडहर हो चुकी हैं।

    और भी कई सारे उद्योग जैसे की सहरसा पेपर मील, चंपारण सुगर मिल, रामेश्वर जुट मिल ऐसे बहुत सारे उद्योग है जो की बंद है बिहार सरकार को इस तरफ ध्यान देना चाहिए और जितना जल्दी हो सके इनको पुनर जीवित करना चाहिए ताकि लोग अपने राज्य में रहकर काम कर सके इससे राज्य का तरक्की होगा और लोग दर दर की ठोकरें खाने से बचेंगे।

    Header%2BAid
    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad