Haider Aid

  • Breaking News

    HIMACHAL: रिवालसर का ऐतिहासिक मेला भी कोरोना की भेंट

    We
     News 24 Hindi »हिमाचल प्रदेश/राज्य

    सोलन/रिपोर्टर सत्यदेव शर्मा सहोड़

    रामशहर (सोलन):यहाँ से करीब 2 कि मी दूरी पर स्थित रिवालसर का ऐतिहासिक मेला हर साल ज्येष्ठ मास के ज्येष्ठ शुक्रवार को होता है और अगले दिन शनिवार को कुश्तियां होती है । इस स्थान का सम्बंध मंडी जिले में स्थित रिवालसर झील से जुड़ा है। 

    ये भी पढ़े-HIMACHAL:महाराजा अग्रसेन विश्वविद्यालय द्वारा पीएचडी की आनलाइन पढाई शुरू

    सदियों पहले इस ऐतिहासिक तालाब में भी रिवालसर झील की तरह ही छोटे छोटे टीले तैरते रहते थे जिस कारण इसका नाम भी रिवालसर पड़ गया और साल में दो बार मेला लगने लगा। एक तो बैसाखी को और दूसरा ज्येष्ठ मास के ज्येष्ठ शुक्रवार को, जिनमे दूर दूर से श्रद्धालु आते है। 

    ये भी पढ़े-सीतामढ़ी:अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मलेन की सदस्याओं ने थैलीसीमिया डे मनाते हुए रक्तदान किया

    जब से यह मेला शुरू हुआ, पहला अवसर है कि दोनों ही मेले स्थगित हो गए है। मेला कमेटी के सदस्य नंद लाल शर्मा और नारायण दत्त शास्त्री ने बताया कि इस बार कोरोना कहर के चलते मेला कमेटी ने सरकारी अनुदेशो को देखते हुए दोनों ही मेले स्थगित रखने में फैसला लिया है और मेले को लेकर होने वाली सभी तैयारियां स्थगित कर दी है।

    Header%2BAid
    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad