Header Ads

  • BREAKING NEWS

    महाराष्ट्र:में सियासी संकट की आहट,सरकार के फैसलों से कोंग्रेस अलग,संजय राउत ने दी सफाई


    We News 24 Hindi »महाराष्ट्र/मुंबई  

    ब्यूरो संवाददाता अनिल पाटिल की रिपोर्ट 

     नई दिल्‍ली:पुरे देश में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस ने महाराष्‍ट्र में आंतक मचा रखा है । पुरे देश के 36 फीसद से ज्‍यादा कोरोना वायरस का केस अकेले महाराष्‍ट्र में हैं। महाराष्‍ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की संयुक्‍त सरकार है और उद्धव ठाकरे मुख्‍यमंत्री हैं। पर महाराष्ट्र की संयुक्त सरकार कोरना वायरस पर ब्रेक लगाने में नाकाम साबित हो रही है | और विपक्ष इस हालत के लिए सरकार को कटघरे में खड़ी करते नजर आ रही है | और महाराष्‍ट्र में सियासी संकट की सुगबुगाहट तेज हो गई है। 


    ताजा उदाहरण इसी ओर इशारा करती है। मंगलवार को एक ओर जहां एनसीपी चीफ शरद पवार ने उद्धव से मुलाकात की। वहीं कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी महाराष्‍ट्र में सरकार का साथ तो दे रही है मगर 'की डिसिजन मेकर' नहीं हैं।

    ये भी पढ़े-VIDEO:रिगा चीनी मिल को बंद करने की साजिश,40 हजार किसानों का 185 करोड़ बकाया,किसानों की बेचैनी बढ़ी

    सरकार के फैसलों से अलग क्‍यों हो रही कांग्रेस?

    राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में साफ किया कि महाराष्‍ट्र सरकार को कांग्रेस सहयोग कर रही है। वहां पार्टी की बड़े फैसलों में भूमिका नहीं है, यह कहकर राहुल ने 'महाविकास आघाडी' की एकजुटता को लेकर अटकलों को हवा दे दी है। राहुल ने कहा कि हम महाराष्‍ट्र में सरकार को सपोर्ट कर रहे हैं मगर वहां 'की डिसिजन मेकर' नहीं हैं। हम पंजाब, छत्‍तीसगढ़, राजस्‍थान, पुड्डूचेरी में 'की डिसिजन मेकर' हैं। सरकार चलाने और सरकार का सपोर्ट करने में फर्क होता है। जबकि सच यह है कि कांग्रेस महाराष्ट्र और झारखंड में गठबंधन का हिस्सा है। दोनों राज्यों में कांग्रेस के विधायक मंत्री भी बनें है। एेसे में राहुल गांधी यह कहकर नहीं बच सकते कि हम डिसिजन मेकर की भूमिका में नहीं है। 

    ये भी पढ़े-भारत ने बिना युद्ध लड़े पाकिस्तान को हरा दिया,पाकिस्तानी आर्मी चीफ बाजवा भी घबरा गया



    राहुल से उलट थोराट का बयान 
    महाराष्‍ट्र कांग्रेस चीफ और सरकार में मंत्री बालासाहेब थोराट ने कहा कि कांग्रेस नाखुश नहीं हैं। उन्‍होंने कहा कि 'सभी तीन पार्टियां हर सप्‍ताह मीटिंग करती हैं जिसमें फैसले किए जाते हैं। सब पार्टियां मिलकर काम कर रही हैं।' थोराट का यह बयान राहुल के आज के बयान से उलट है जहां वो कह रहे हैं कि कांग्रेस केवल महाराष्‍ट्र में सपोर्ट करती है और फैसलों में उसकी बड़ी भूमिका नहीं है।

    ये भी पढ़े-बिहार में कोरोना बढ़ते संक्रमण को देखते हुए,सभी जिलों केआइसोलेशन वार्ड में बेडों की संख्या बढ़ाने के निर्देश


    महाराष्‍ट्र में क्‍यों फैला कोरोना, राहुल ने बताया कारण
    राहुल गांधी ने यह भी बताया कि महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली जैसी जगहों पर कोरोना वायरस का प्रकोप इतना ज्‍यादा क्‍यों हैं। उन्‍होंने कहा कि जितनी ज्‍यादा कनेक्‍टेड जगह है, वहां कोरोना ज्‍यादा एग्रेसिव हैं। आप दिल्‍ली देखें, मुंबई देखें, पुणे देखें। महाराष्‍ट्र भारत के सबसे कनेक्‍टेड राज्‍यों में से एक है इसलिए वहां पर कोरोना के ज्यादा मामले होंगे ही। उन्‍होंने कहा कि महाराष्‍ट्र अपनी कनेक्टिविटी के नेचर की वजह से इतना संघर्ष कर रहा है। राहुल के मुताबिक, महाराष्‍ट्र व्यापार का केंद्र है इसलिए केंद्र सरकार को उसे पूरी तरह से सहयोग करना चाहिए।

    ये भी पढ़े-कोंग्रेस नेता अलका लांबा पर पीएम मोदी और सीएम योगी पर आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में FIR दर्ज

    संजय राउत ने दी सफाई
    वहीं शिवसेना के सांसद संजय राउत ने मंगलवार को कहा कि महाविकास अघाड़ी की स्थिरता को लेकर चिंता की जरूरत नहीं है। उन्‍होंने पुष्टि की कि पवार ने उद्धव से मुलाकात की है। ऐसी अटकलें हैं कि कोविड-19 महामारी से निपटने के तरीके को लेकर शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के बीच मतभेद पैदा हो गए हैं। राउत ने संभावित राजनीतिक संकट की ओर इशारा करते हुए कहा कि विपक्ष को अभी भी कोरोना के लिए टीका और उद्धव ठाकरे की सरकार को गिराने के लिए खुराक खोजना बाकी है लेकिन प्रयास जारी हैं। उन्होंने कहा कि सरकार मजबूत है और उस पर कोई खतरा नहीं है।
     Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad