Haider Aid

  • Breaking News

    महाराष्ट्र: में मई के अंत तक लॉकडाउन रहने के संकेत

    फोटो: @OfficeofUT । ट्विटर
    We
     News 24 Hindi »महाराष्ट्र/राज्य

    मुम्बई /संवाददाता अर्जुन राणे की रिपोर्ट

    महाराष्ट्र :के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए सर्वदलीय बैठक में नेताओं से बातचीत के दौरान संकेत दिया कि राज्य के रेड जोन में मई अंत तक लॉकडाउन को बढ़ाया जा सकता है। इसमें विशेष रूप से मुंबई और पुणे महानगरीय क्षेत्र शामिल हैं, जिनका महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में 90% योगदान है। वैसे लॉकडाउन तीन 17 मई को समाप्त होने वाला है। 

    ये भी पढ़े-महाराष्ट्र: के औरंगाबाद रेल हादसे में हुयी मौत पर प्रधानमंत्री मोदी ने दुख जताया


    इस बैठक में विपक्ष के नेताओं ने राज्य सरकार को सुझाव दिया कि कैसे स्थिति को अधिक प्रभावी ढंग से संभाला जा सकता है। बीजेपी के प्रवीण दरेकर, विधान परिषद में विपक्ष के नेता और वंचित बहुजन अघडी नेता प्रकाश अंबेडकर ने बताया कि सीएम तालाबंदी को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

    ये भी पढ़े -नालंदा बुद्ध पूर्णिमा: शोषित समाज दल के जिला संयोजक ने जनता को किया संबोधित, कहीं ये बड़ी बातें

    मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने कहा कि एसआरपीएफ प्लाटून को विशेष रूप से मुंबई में नियंत्रण क्षेत्रों में तैनात किया जाना चाहिए। कुछ अन्य नेताओं ने फंसे प्रवासियों और प्रशासन में समन्वय की कमी की बात कही जिसके परिणामस्वरूप शराब और स्टैंडअलोन की दुकानों के खुलने पर आदेश दिए गए थे। पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मुंबई में स्थिति गंभीर और कोविड -19 वार्ड में भर्ती मरीजों के बगल में शव पड़े है। उन्होंने कहा कि मुंबई में शराब की दुकानें खोलने का कदम सही नहीं था। रोगियों का परीक्षण किया जाना चाहिए। राज्य को औद्योगिक क्षेत्र को पुनर्जीवित करने के लिए एक राजकोषीय पैकेज की घोषणा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को फिर से शुरू करने की योजना पर काम किया जाना चाहिए।

    ये भी पढ़े-सीतामढ़ी शहर में आबादी के अनुसार नहीं हैं शौचालय,लोग अब भी खुले में जाते हैं शौच करने

    लोक भारती के कपिल पाटिल ने कहा कि कम से कम एमएमआर और पीएमआर में महीने के अंत तक लॉकडाउन जारी रहने के सभी संकेत दिखे हैं। “मैंने बिस्तरों की उपलब्धता की कमी का मुद्दा उठाया। यहां तक ​​कि पुलिसकर्मियों को भी बेड मिलना मुश्किल हो रहा है। इसके अलावा, स्व-नियोजित लोगों जैसे प्लंबर और नौकरानियों को काम करने की अनुमति दी जानी चाहिए। 

    ये भी पढ़े-बड़ा रेल हादसा :रेलवे ट्रैक पर सो रहे 15 प्रवासी मजदूरों को मालगाड़ी ने कुचला ,सभी की मौके पर ही मौत

    राज ठाकरे ने अपनी बात कहकर बैठक छोड़ दी थी। वह बैठक में एकमात्र नेता थे जिन्होंने मास्क नहीं पहना था। राज ने कहा कि राज्य को निकास योजना की घोषणा 10-15 दिन पहले ही कर देनी चाहिए ताकि लोग इस बात से अवगत हों कि क्या अनुमति है और कब से है। यह भ्रम की स्थिति से बचाएगा और ईद के दौरान भीड़ को नियंत्रित किया जाना चाहिए। 

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad