Header Ads

  • BREAKING NEWS

    प्रवासी मजदुर की मजबूरी घर जाने के लिए किया साईकल चोरी, साईकल मालिक के नाम रखा माफीनामे की चिट्ठी


    We News 24 Hindi »राजस्थान/राज्य

    भरतपुर/संवाददाता अजय सिंह की रिपोर्ट

    भरतपुर: कोरोनावायरस लॉकडाउन के कारण इस वक्त प्रवासी मजदूरों से ज्यादा मजबूर शायद ही कोई हो. और वो किसी भी तरह अपनों के पास पहुचना चाहता है . एक मजदुर ने अपने घर जाने के लिए साइकिल तक चोरी कर ली और चोरी के बाद उसने वहां माफीनामा भी लिख कर रखा दिया . 


    उसने माफीनामे में लिखा

    नमस्ते जी… मैं आपकी साइकिल लेकर जा रहा हूं. हो सके तो मुझे माफ कर देना जी, क्योंकि मेरे पास कोई साधन नहीं है. मेरा एक बच्चा है उसके लिए मुझे ऐसा करना पड़ा, क्योंकि वो विकलांग (दिव्यांग) है, चल नहीं सकता. हमें बरेली तक जाना है. आपका मजबूर मजदूर”

    ये भी पढ़े-Lockdown 4.0:जाने दिल्ली में कैसा होगा लॉकडाउन 4,0,क्या मेट्रो और बसे चलेगी

    दरअसल ये पत्र सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. ऑनलाइ मीडिया के मुताबिक, घटना राजस्थान के भरतपुर की है जहां उत्तर प्रदेश में बरेली के रहने वाले एक प्रवासी मजदूर ने अपने बेटे के साथ अपने घर जाने के लिए किसी की साइकिल चोरी की और चोरी करने का बाद वहां एक माफीनामा भी लिख कर रख गया.

    ये भी पढ़े-पंजाब सरकार ने 31 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन


    माफीनामे के मुताबिक, इस शख्स का नाम मोहम्मद इकबाल है, उसने सोमवार देर रात भरतपुर जिले के रारह गांव में साहब सिंह के घर से एक साइकिल चुरा ली. सिंह को अगले दिन सुबह अपने घर के बरामदे में झाडू लगाते हुए पत्र मिला.

    ये भी पढ़े-BREAKING:लॉकडाउन 4.0 की घोषणा कभी भी की जा सकती है, केंद्र सरकार से मिला संकेत


    इस माफीनामे के बाद साइकल मालिक उस मजदूर की मजबूरी को समझ कर उसे माफ किया या नहीं यह तो नहीं पता, लेकिन इस वायरल माफीनामे से किसी की मजबूरी का अंदाजा जरूर लगाया जा सकता है.

    Header%2BAid
    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad