Header Ads

  • BREAKING NEWS

    भारत के आगे झुका नेपाल , कहा बातचीत से सुलझाएंगे सीमा विवाद





    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    संवाददाता कविता चौधरी

    नई दिल्ली:कालापानी और लिपुलेख को नक्शे में शामिल करने के बाद पैदा हुए सीमा विवाद में  जब चीन ने अपना पल्ला झाडा तो नेपाल को अपनी हैसियत का पता चल  गया और गिरगिट के तरह रंग बदलते हुए अब कह रहा है की बातचीत के जरिये सुलझाएंगे |


    इसका ताजा उदाहरण  विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली का बयाँन ग्यावली ने कहा  कि भारत से हमारे नजदीकी  रिश्ते हैं. ग्यावली ने कहा कि नेपाल का भारत के साथ विशिष्ट व करीबी रिश्ता है. लिपुलेख पर बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि नेपाल सरकार को विश्वास है कि कालापानी का मुद्दा बातचीत के जरिए सुलझाया जाएगा. विदेश मंत्री के इस बयान के बाद नेपाल के नरम रुक को भी समझा जा सकता है.तेवर में नरमी क्यों आई 

    ये भी पढ़े-भारत पर निर्भर रहने वाले नेपाल की एक और चाल,सीमा पर कर रहा ऐसी हरकत

    ग्यावली ने अंग्रेजी अखबार 'रिपब्लिका' को दिए क इंटरव्यू में कहा कि 'हमने हमेशा कहा है कि इस मुद्दे के समाधान का एकमात्र तरीका अच्छी भावना के साथ बातचीत करना है. बिना किसी आवेग या अनावश्यक उत्साह और पूर्वाग्रह के साथ नेपाल बातचीत के जरिए सीमा विवाद सुलझाना चाहता है. हमें विश्वास है कि द्विपक्षीय बातचीत से यह मुद्दा सुलझ सकता है.' हालांकि उन्होंने लिंपियाधुरा और लिपुलेख का जिक्र नहीं किया. जिस पर नेपाल अपना दावा ठोंकता है.

    ये भी पढ़े-पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने देशवासियों को दी ईद की बधाई ,कहा इतिहास में ऐसा पहली बार ईद के मौके पर मस्जिदों में इतना सन्नाटा,





    आपको बता दें कि नेपाल और भारत के रिश्तों में तनाव देखने मिल रहा है. यह तनाव तब शुरू हुआ जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आठ मई को उत्तराकंड में लिपुलेख पास को धारचुला से जोड़ने वाली रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण 80 किलोमीटर लंबी सड़क का उद्घाटन किया था.

    नेपाल का झुठ  और पाखण्डका होगा अन्तर्राष्ट्रिय मंच पर बेनकाब।
    भारतको बदनाम करने के  लिए नेपाल ने जो नक्शा जारी किया है वह बिलकुल झुठा है। संयुक्त राष्ट्र संघ में  जो देश रजिस्टर होता है उन्हें अपने देशका नक्शा देना पडता है। नेपाल और भारत दोनो संयुक्त राष्ट्र संघ सदस्य है। दोनो देश अपना नक्शा रजिस्टर कराए हुए है। नेपाल का जो नक्शा है उसमे नेपाल ने जो अभि दावा किया है कालापानी लिपुलेक लिप्मियाधिरा उसके देश के  नक़्शे में नहि है जब कि भारत द्वारा पेश किया हुआ नक्शा मे वह हिस्सा  है।Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad