Header Ads

  • BREAKING NEWS

    सीतामढ़ी में प्रेस और अभिव्यक्ति की आजादी पर कसता शिकंजा,सच दिखाने वाले पत्रकार पर FIR दर्ज

     

    We News 24 Hindi »बिहार/राज्य

    सीतामढ़ी/संवाददाता रोशन कुमार के साथ रोहित ठाकुर की रिपोर्ट

    सीतामढ़ी :देश में आपातकाल के दौर से पत्रकारों के दमन की डरावनी मिसालें मिलती रही. 90 के दशक में इसमें तेजी आई और इंटरनेट मीडिया ने रही सही कसर पूरी कर दी. अब पत्रकार सोशल मीडिया पर लिखे गए ट्वीट के लिए भी गिरफ्तार हो रहे हैं.उसके वावजूद भी चर्चाओं से दूर कई लेखक, पत्रकार और संवाददाता अदम्य साहस के साथ अपना काम कर रहे हैं  | 

    प्रशासन की कमी उजागर करने पर हुआ FIR
    ऐसे ही एक पत्रकार है सीतामढ़ी जिले के गुलशन कुमार मिट्ठू जिन्होंने जिले के एक क्वॉरेंटाइन सेंटर में होने वाले अनिमियता को उजागर किया ये रेंटाइन सेंटर रीगा प्रखंड के बुलाकीपुर उच्च विद्यालय में बनया गया गया इस क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रहे लोगो ने प्रशासन पर आरोप लगया की समय पर खाना नहीं मिलता है। लोगों को भेड़-बकरी की तरह क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा हुआ है |इसी खबर को पत्रकार गुलशन कुमार मिट्ठू ने कवर कर खबर को प्रसारित किया  |


    CO ने अपना ठीकरा पत्रकार के सर फोरा 
     रीगा के सीओ राम उरांव ने अपनी गलती पर पर्दा डालने के लिए  पत्रकार पर ही प्राथमिकी दर्ज करा दी। सीओ ने अपने  प्राथमिकी के लिए आवेदन में कहा कि गुलशन कुमार मिट्ठू में  मजदूरों को उकसाया है। हमारा सवाल है पत्रकार क्यों मजदुर को पत्रकार उकसाएगा उससे पत्रकार को क्या लाभ मिलने वाला है | इससे तो यही जाहिर होता है की सीओ ने अपना  ठीकरा पत्रकार के सर पर फोर दिया | साथ ही  नौकर शाह और अधिकारी  प्रेस और अभिव्यक्ति की आज़ादी छीन रहे है | 


    एक और मामला पुपरी कोरेंटाइन सेंटर का है यंहा पर रहने वाले लोगो ने वीडियो बनकर सोशल मिडिया पर डाला था की पुपरी कोरेनटाइन सेंटर  में भी खाना नहीं मिल रहा है शौचालय की भी व्यवस्था दुरुस्त नहीं है यही ही नहीं तक़रीबन बिहर के बहत सारे कोरेंटाइन सेंटर से इसी प्रकार की खबर आ रही है तभी तो सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए कोरेंटाइन सेंटर पर पत्रकार को जाने से रोक लगा रखा है |
     

    ये भी पढ़े-बिहार में कोरोना से 8वीं मौत, मुंबई से आये एक व्यक्ति की गई जान

    सीतामढ़ी प्रेस कल्ब ने जिला अधिकारी को पत्र लिख नाराजगी जताई 
    इस मसले पर सीतामढ़ी प्रेस क्लब के अध्यक्ष राकेश रंजन एवं महासचिव आदित्यनाथ आर्य ने कहा कि प्राथमिकी गलत ढंग से की गई है. और जिलाधिकारी को पत्र लिखकर पत्रकार के ऊपर दर्ज प्राथमिकी को रद्द कराने की मांग की है. साथ ही प्रेस क्लब ने ये भी कहा है कि यदि प्राथमिकी रद्द नहीं होता है तो प्रेस क्लब आगे की कार्रवाई के लिए स्वतंत्र होगा. 

    Header%2BAid
    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

     

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad