Haider Aid

  • Breaking News

    मिल गई कोरोनावायरस की दवाई , दवा से सात दिन में हो जायेंगे 100 प्रतिशत ठीक ,जाने कैसे करता है काम




    We News 24 Hindi »उत्तराखंड/राज्य 

    हरिद्वार  से देविंदर सिंह की रिपोर्ट।

    हरिद्वार :  योग गुरू बाबा रामदेव  ने मंगलवार को कोविड19  की आयुर्वेदिक दवा को लॉन्च किया. इसे कोरोनिल टैबलेट  नाम दिया गया है. बाबा रामदेव का कहना है कि यह कोरोना के लिए पहली आयुर्वेदिक क्लीनिकली कंट्रोल्ड, रिसर्च, प्रमाण और ट्रायल बेस्ड दवा है.

    ये भी पढ़े-तेजस्वी यादव को और बड़ा झटका,रघुवंश प्रसाद सिंह ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से दिया इस्तीफ़ा

    अंग्रेजी के अखबार लाइव मिंट के मुताबिक, कोरोनिल किट 545 रुपए में उपलब्ध होगी. योगगुरु रामदेव के मुताबिक, इस दवाई को बनाने में सिर्फ देसी सामान का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें मुलैठी-काढ़ा समेत कई चीज़ों को डाला गया है. साथ ही गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी, श्वासरि का भी इस्तेमाल किया गया. 

    ये भी पढ़े-भारत चीन तनाव को लेकर अच्छी खबर ,हटेगी गलवान घाटी से पीछे दोनों देश की सेना


     रामदेव ने कहा कि आयुर्वेद से बनी इस दवाई को अगले सात दिनों में पतंजलि के स्टोर पर मिलेगी, इसके अलावा सोमवार को एक ऐप लॉन्च किया जाएगा जिसकी मदद से घर पर ये दवाई पहुंचाई जाएगी. 

    ये भी पढ़े-नेपाल भड़का रहा भारत विरोधी भावनाएं,नेपाल की नीतियों से मधेशी नागरिक नाराज ,उतरे सड़क पर लोग

    बाबा रामदेव ने बताया कि इस दवाई पर हमने दो ट्रायल किए हैं. 100 लोगों पर क्लीनिकल स्टडी की गई उसमें 95 लोगों ने हिस्सा लिया. 3 दिन में 69 फीसदी मरीज ठीक हो गए, जबकि 7 दिन में 100 फीसदी मरीज स्वस्थ हो गए. कोरोनिल को पतंजलि योगपीठ ने बनाया है. बाबा रामदेव ने 3 दवाओं की एक किट लॉन्च की. कोरोनिल के क्लीनिकल कंट्रोल्ड ट्रायल्स पतंजलि रिसर्च सेंटर और NIMS जयपुर ने मिलकर किए हैं. 

    ये भी पढ़े-चीन ने पहली बार माना कि गलवन घाटी के संघर्ष में चीनी सेना का कमांडर मारा गया.सीमा के सभी मोर्चा पर सेना की तैनाती



    आचार्य बाल कृष्ण के मुताबिक दिव्‍य कोरोनिल टैबलेट में शामिल अश्वगंधा कोविड-19 के आरबीडी को मानव शरीर के एसीई से मिलने नहीं देता. इससे संक्रमित मानव शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं में प्रवेश नहीं कर पाता. वहीं गिलोय भी संक्रमण होने से रोकता है.


     तुलसी का कंपाउंड कोविड-19 के आरएनए-पॉलीमरीज पर अटैक कर उसके गुणांक में वृद्धि करने की दर को न सिर्फ रोक देता है, बल्कि इसका लगातार सेवन उसे खत्म भी कर देता है. वहीं श्वसारि रस गाढ़े बलगम को बनने से रोकता है और बने हुए बलगम को खत्म कर फेफड़ों की सूजन कम कर देता है. 

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें


    Post Top Ad

    Post Bottom Ad