Haider Aid


 

  • Breaking News

    BJP का कांग्रेस पर हमला, क्यों राजीव गांधी फ़ाउंडेशन को चीन से तीन लाख अमेरिकी डॉलर मिले


    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    कविता चौधरी  की रिपोर्ट

    नई दिल्‍ली: भारत और चीन के बीच सर हद पर तनातनी को लेकर कांग्रेस सरकार पर लगातार सवाल खड़े कर रही है. कांग्रेस पर पलटवार करते हुए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आरोप लगाया कि 2005-06 में राजीव गांधी फ़ाउंडेशन को (करीब 2.26 करोड़ रुपये) की राशि मिली थी.

    ये भी पढ़े-चीन के मदद से पाकिस्तान भारत के खिलाफ बना रहा है परमाणु हथियार


    पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस को यह बताना चाहिए कि इतनी मोटी रकम किस बात के लिए राजीव गांधी फ़ाउंडेशन को मिली थी? इस फ़ाउंडेशन की अध्यक्ष कांग्रेस नेता सोनिया गांधी हैं तथा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इसके सदस्य हैं.

    ये भी पढ़े-LAC पर चीन बढ़ा रहा है विवाद ,मजबूरी में भारत को भी सेना की तैनाती बढ़ानी पड़ी


    नड्डा ने ये गंभीर आरोप मध्य प्रदेश ‘जनसंवाद’ नाम से आयोजित एक डिजिटल रैली को दिल्ली से संबोधित करते हुए लगाए. इस रैली को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी संबोधित किया. रैली में नड्डा ने हालांकि अपने भाषण के दौरान कहा था कि फाउंडेशन को ‘तीन हजार सौ अमेरिकी डालर’ मिले . एक मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि फाउंडेशन को ‘तीन सौ हजार करोड़ अमेरिकी डालर’ मिले.

    ये भी पढ़े-भारत और अन्‍य देशों के लिए खतरा बने चीन से निपटने के लिए होगी अमेरिकी सेना तैनात



    लेकिन बाद में भाजपा अध्यक्ष के कार्यालय ने स्पष्ट किया कि नड्डा ने जिस राशि का उल्लेख अपने भाषण में किया था वह ‘तीन लाख अमेरिकी डॉलर’ है.


    रैली में नड्डा ने मुख्य विपक्षी पार्टी को निशाने पर लेते हुए कहा, ‘‘मुझे आश्चर्य होता है कि राजीव गांधी फाउंडेशन को 2005-06 में पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना और चीनी दूतावास ने तीन लाख यूएस डॉलर क्यों दिए?’’ नड्डा ने कहा कि विपक्ष के लोग विरोध के नाम पर किस तरीके से ‘‘दोस्ती’’ निभाते हैं, यह इसका एक उदाहरण है.

    ये भी पढ़े-भारत और अन्‍य देशों के लिए खतरा बने चीन से निपटने के लिए होगी अमेरिकी सेना तैनात

    भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘देश जानना चाहता है कि राजीव गांधी फाउंडेशन को तीन लाख अमेरिकी डॉलर किस लिए दिए गए थे? एक परिवार की गलतियों के कारण 43 हजार वर्ग किलोमीटर हमारी भूमि चली गई. चीन से ये फंड लेते हैं और उसके बाद वो स्टडी कराते हैं, जो देश के हित में नहीं है और ये उसके लिए वातावरण तैयार करते हैं.’’ उन्होंने कहा कि लोगों को अपने पक्ष में करने के बहुत से तरीके होते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘आज चीन के खिलाफ ऐसे खड़े हैं जैसे इनके बराबर का कोई दूसरा प्रहरी ही नहीं हो.’’

    (इनपुट: एजेंसी भाषा)

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad