Haider Aid

  • Breaking News

    कांग्रेस, भ्रष्टाचार व षडयंत्र की पूरक:सुमीत






    We News 24 Hindi »हिमाचल प्रदेश/राज्य

    ऊना /रिपोर्टर सत्यदेव शर्मा सहोड़


    ऊना। यहां जारी बयान में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मीडिया सह प्रभारी सुमीत शर्मा ने बताया कि कांग्रेस, करप्शन और कंसीप्रेसी यह तीनों एक-दूसरे के पूरक हैं। उन्होंने बताया कि देश मे किसी भी आपदा काल में 130 करोड़ देशवासी अपनी खून-पसीने की कमाई से  प्रधानमंत्री नेशनल राहत कोष में राष्ट्र के प्रति समर्पण के भाव से धनराशि दान करते हैं।

     दूसरी ओर राहत कोष के ऑडिटर के माध्यम से कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने पूर्व यूपीए सरकार के काल में तीन बार धन राशि को राजीव गांधी फाउंडेशन में ट्रांसफर करवा कर देशवासियों की भावनाओं को आहत कर भ्रष्टाचारी चेहरे का प्रदर्शन किया है।ऐसा करना देश के लोगों के साथ विश्वासघात है और अक्षम्य अपराध की श्रेणी में आता है।

    ये भी पढ़े-हिमाचल:व्यापार मंडल मैहतपुर ने फूंका चीन के राष्ट्रपति का पुतला

    सुमीत ने कहा कि जहां देश के वीर सपूत और सैनिक देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान देकर मातृभूमि के मान सम्मान को बनाये रखने के लिए तैयार हैं तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी अपनी खोई हुई राजनीतिक भूमि की तलाश में सेना द्वारा चीन के सैनिकों पर की गई कार्रवाई के सबूत मांग कर सेना के मनोबल को गिराने का प्रयास कर रही है।

    उन्होंने बताया कि आज ऐसा प्रतीत हो रहा है कि देश में कांग्रेस पार्टी सिर्फ एक ही परिवार को बचाने की खातिर देश की अस्मिता को क्षीण करने में निर्लज्जता के साथ प्रयासरत है।उन्होंने बताया कि देश का प्रत्येक राष्ट्रवादी अपने वीर सपूतों और सैनिकों के साथ कंधे से कंधा मिला कर उनके मनोबल को बनाए रखने में सहायक सिद्ध हो रहा है।

    ये भी पढ़े-चीन ने नेपाली ज़मीन पर कर रहा कब्‍जा, ड्रैगन से डरने लगा नेपाल ,कहा चीन नहीं हथिया रहा है हमारी ज़मीन


    सुमीत ने कहा कि जहां कांग्रेस, भ्रष्टाचार व षडय़ंत्र में लगी हुई है वहीं हिमाचल की जयराम सरकार द्वारा प्रदेश में कार्यरत 10000 पीटीए, पैट और पैरा टीचर्स को नियमित की मंजूरी देकर जन-भावनाओं के अनुरूप सराहनीय व स्वागतयोग्य फैसला किया है। इस फैसले के लागू होने से इन टीचर्स के परिवारों की आर्थिक मजबूती मिलेगा। वहीं प्रदेश में एमआईएस के तहत सेब के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी और साथ ही आम, अचारी-आम, गलगल, किन्नू और संतरा के ग्रेडिंग आधारित समर्थित मूल्य तय कर किसान व बागवान को इस महामारी में आर्थिक बल देने का सफल कार्य किया है। वहीं इस विपदा काल में पर्यटन से जुड़े होटल इंडस्ट्री को भी नीतिगत सहयोग कर प्रशसनीय फैसला लिया है।

    उन्होंने बताया कि पूर्व में भी जयराम सरकार ने आंगनवाड़ी, आशावर्कर्स व जलरक्षक इत्यादि अन्य कर्मियों के मानदेय में भी बढ़ोतरी की थी। सुमीत ने ई-पंचायत के तहत प्रदेश को देशभर में प्रथम स्थान अर्जित करने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व कैबिनेट मंत्री वीरेंदर कंवर को बधाई दी है और विश्वास प्रकट किया है कि दोनों नेताओं के नेतृत्व में हिमाचल के गांव, गरीब, गाय और मनरेगा को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से निरन्तर मजबूती प्रदान की जा रही है। जिस कारण प्रदेश के युवाओं व श्रमिकों को गांव के स्तर पर ही स्वरोजगार प्राप्त करने में सहायक होगा।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad