Header Ads

  • BREAKING NEWS

    VIDEO:महाराष्ट्र के अलीबाग से टकराया तूफान निसर्ग ; महाराष्ट्र के 21 और गुजरात के 16 जिलों में असर





    We News 24 Hindi »महाराष्ट्र/मुंबई 

    अनिल पाटिल की रिपोर्ट 

    मुंबई : चक्रवात निसर्ग बुधवार दोपहर को महाराष्ट्र के तटों से टकराया. इस दौरान, कई जगहों पर बारिश और तेज़ हवाएँ चलने की ख़बरें आई आ रही हैं. मौके पर एनडीआरएफ की टीमें मौजूद हैं और लोगों को राहत शिविरों में शिफ्ट किया गया है. चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग' अब से कुछ देर बाद  महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के अलीबाग से टकराएगा. चक्रवात की वजह से अलीबाग में तेज़ बारिश हो रही है. 

    ये भी पढ़े-Cyclone Nisarga:दोपहर में मुंबई के अली बाग़ में टकराएगा तूफान,मुंबई एलर्ट पर

    भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की मुम्बई इकाई के उप महानिदेशक के. एस. होसालिकर ने बताया कि चक्रवात अलीबाग के दक्षिण के पास से 100-110 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गुजरेगा और इस दौरान 120 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से हवाओं चलेगी. उन्होंने ट्वीट किया कि ‘निसर्ग' आज तीन जून को सुबह साढ़े पांच बजे अलीबाग से 165 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में और मुम्बई से 215 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में अरब सागर पहुँचेगा. उन्होंने एक बार फिर मुम्बई और थाणे, रायगढ़ तथा पाल घर जैसे पड़ोसी जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी.

    ये भी पढ़े-भारत में पहली बार ईस कंपनी ने पांच लेयर फिल्टरेशन वाली N 95 मास्क बनाया

    निसर्ग के खतरे को देखते हुए, मध्य रेलवे ने मुंबई से कुछ ट्रेनों के मार्ग को बदला और कुछ के समय में परिवर्तन किया है.



    मध्य रेलवे (सी आर) ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि मुम्बई से चलने वाली पांच विशेष ट्रनों का समय बदला गया है और तीन विशेष ट्रेनों के मार्ग को बदला जाएगा. बदलाव के बाद एलटीटीई- गोरखपुर विशेष अब सुबह 11 बज कर 10 मिनट की बजाय रात आठ बजे रवाना होगी. एलटीटीई- तिरुवनंतपुरम विशेष सुबह 11 बज कर 40 की बजाय शाम छह बजे और एलटीटीई-दरभंगा विशेष दोपहर सवा 12 की बजाय रात साढ़े आठ बजे रवाना होगी. 

    ये भी पढ़े-NDRF ने चक्रवाती तूफान निसर्ग से निपटने के लिए चालीस टीमों को तैनात किया


    मौसम विभाग (आईएमडी) ने मंगलवार को बताया था कि अरब सागर में कम दबाब के क्षेत्र के कारण चक्रवाती तूफान निसर्ग के और प्रबल होने की संभावना है. यह बुधवार दोपहर उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तट पर पहुँचेगा और इसे पार कर जाएगा. 

    महाराष्ट्र और गुजरात ने आपदा से मुकाबले के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के दलों को तैनात कर दिया है और जिन क्षेत्रों के चक्रवात से प्रभावित होने की आशंका है वहां से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है. कोविड-19 महामारी के संकट से पहले से जूझ रहे दोनों पश्चिमी राज्यों ने चक्रवात से मुकाबले के लिए कमर कस ली है.

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को इन दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर उन्हें केंद्र द्वारा हर संभव सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया था.

    Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad