Haider Aid

  • Breaking News

    हिमाचल 49.22 करोड़ की डीपीआर तैयार जल्द बिछाई जाएगी सिंचाई की पाईप लाइन






    We News 24 Hindi »हिमाचल प्रदेश/राज्य

    ऊना/रिपोर्टर सत्यदेव शर्मा सहोड़

    मैहतपुर (ऊना)।मैहतपुर से रायपुर सहोड़ा को जाने वाले मार्ग में बिछी पानी की पाईप की लीकेज को लेकर आईपीएच विभाग हरकत में आया है। जल शक्ति विभाग ने पाईप की बार-बार मरम्मत से निजात पाने के लिए अब नवीनीकरण का फैसला लिया है। इसके लिए विभाग ने 49.22 करोड़ की डीपीआर तैयार कर ली है और इसकी स्वीकृति के लिए केंद्र सरकार को भेज दिया है। विभाग का कहना है कि डीपीआर स्वीकृति व धन की उपलब्धता पर इस पाईप लाईन को बदला जाएगा। इसको लेकर चार माह पहले जिला परिषद वार्ड 10 रायपुर सहोड़ा के सदस्य पंकज सहोड़ ने आवाज उठाई थी और ज्ञापन जल शक्ति विभाग को सौंपा था। 

    बता दें कि मैहतपुर से रायपुर सहोड़ा को जाने वाले मार्ग में बिछी पानी की पाई करीब छह जगह से लीकेज है, जिससे रोजाना हजारों लीटर बहुमुल्य स्वच्छ जल व्यर्थ बह रहा है। विभाग की अनदेखी आज से नहीं, बल्कि करीब 10 से 15 वर्षों से हो रही है। इतना ही नहीं लीकेज पाईप के ऊपर ही लोक निर्माण विभाग ने भी तीन से चार बार सड़क बना दी, लेकिन समस्या को हल नहीं किया गया। 




    ग्रामीणों द्वारा मामले की जानकारी जिला परिषद सदस्य पंकज सहोड़ को दी गई। ग्रामीणों का कहना है कि हर रोज हजारों लीटर के हिसाब से पानी बह रहा है। लेकिन लीक करती इन पाईपों को ठीक नहीं करवाया गया और न ही स्थाई हल के लिए कोई उचित कार्यवाई ही अमल में लाई गई। रायपुर सहोड़ा वार्ड के जिला परिषद सदस्य पंकज सहोड़ ने समस्या को लेकर जिला परिषद अध्यक्ष को पत्र लिखा गया है और इस संदर्भ में स्वयं आईपीएच के अधिकारियों से भी बातचीत भी की। अब जल शक्ति विभाग द्वारा हरकत में आया।

    ये भी पढ़े--नवंबर में दादा साहेब फाल्के आइकन अवार्ड फिल्म का होगा आयोजन तैयारी जोरों पर

     

    जल शक्ति विभाग के अधिशषी अभियंता का कहना है कि सिंचाई योजना विभौर साहिब चरण द्वितीय के अंतर्गत गांव गोराबढ़ मुख्य वितरण भंडारण से गांव रायपुर तक डाली गई थी। यह आरसीसी पाईप 450 मी.मी. ब्यास की है। वर्ष 1996 में मुख्य सड़क के साथ-साथ डाली गई थी। इस पाईप लाइन को बिछाए हुए करीब 23 वर्ष हो गए है। सड़क पर अधिक यातायात होने के कारण इस पाईप लाइन में कई जगह सिसाव होना शुरू हो गया है। 


    विभाग इस पाईप लाईन की समय-समय पर मुरम्मत व रख रखाव करवाता रहा है, लेकिन अब बार-बार मम्मत से निजात पाने के लिए नवीनीकरण का फैसला लिया है। इसकी 49.22 करोड़ रुपये की डीपीआई तैयार कर केंद्र सरकार को भेज दी गई। पैसा मंजूर होते ही काम शुरू करवा दिया जाएगा। उधर, जिला परिषद सदस्य पंकज सहोड़ ने विभाग द्वारा कार्य करने पर आभार जताया है।


    Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने Mobile में save करके इस नंबर पर Missed Call करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi  और https://twitter.com/Waors2 पर पर क्लिक करें और पेज को लाइक करें।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad