Haider Aid

  • Breaking News

    विकास कार्यों के लिए महिला पार्षद लगा रही अपने अध्यक्ष व कार्यकारी अधिकारी से गुहार






  • We News 24 Hindi »हिमाचल प्रदेश/राज्य

    सोलन/रिपोर्टर सत्यदेव शर्मा सहोड़

    विकास कार्यों के लिए महिला पार्षद लगा रही अपने अध्यक्ष व कार्यकारी अधिकारी से गुहार
  • सीवरेज की खुदाई तो कर दी, लेकिन बिखरा कचरा नहीं उठाया


  • बददी (सोलन)।जब एक महिला पार्षद की अपने ही वार्ड में विकास कार्य नहीं हो रहा, तो वह अन्य लोगों के साधारण काम कैसे करवा सकती हैं। सूरतेहाल जिला सोलन की नगर परिषद बददी का है। यहां नगर परिषद के वार्ड दो की पार्षद को अपने ही अध्यक्ष, कार्यकारी अधिकारी तथा कनिष्ठ अभियंता कृष्ण कांत शर्मा से गली दुरुस्त करने की गुहार लगानी पड़ रही है। वार्ड दो की पार्षद मोनिका कौशल ने एक पत्र लिखकर इस संबंध में स्थानीय विधायक परमजीत सिंह पम्मी, नगर परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र कुमार, कार्यकारी अधिकारी आरएस वर्मा तथा कनिष्ठ अभियंता से उक्त गली को दुरुस्त करने की गुहार लगाई है। 

    ये भी पढ़े-मुजफ्फरपुर में अंधाधुंध फायरिंग, कारोबारी को खदेड़कर मारी गोली


    आलम यह है कि वार्ड नंबर दो की इस गली का निर्माण कार्य लॉक डाउन से ठीक पहले शुरू हुआ था, लॉकडाउन लगने के बाद यह कार्य बंद करवा दिया गया। इस गली में उखाड़ी गई ईंटें वैसे ही बिखरी पड़ी हैं। आम लोगों को आवाजाही में भारी कठिनाई झेलनी पड़ रही है। वार्ड के बाशिंदे अपनी चुनी हुई पार्षद के पास बार-बार शिकायत लेकर आ रहे हैं। पार्षद महोदय अपने अध्यक्ष, कार्यकारी अधिकारी तथा कनिष्ठ अभियंता के समक्ष बार-बार गुहार लगा रही है। ऐसे कैसे चल रही है नगर परिषद की व्यवस्था। एक चुने हुए जनप्रतिनिधि को अपने अधिकारियों को लिखित रूप में काम करवाने पड़ रहे हैं। इस बात का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है कि जब एक चुने हुए जनप्रतिधि की बात मौखिक तौर पर न सुनी जा रही हो तो आम नागरिकों का क्या हाल होता होगा। 




    वार्ड नंबर दो की चुनी हुई पार्षद मोनिका कौशल ने अपने वार्ड की गली को दुरुस्त करवाने के लिए विधायक, अध्यक्ष, कार्यकारी अधिकारी तथा कनिष्ठ अभियंता को लिखित रूप में आवेदन करना पड़ रहा है। मोनिका कौशल कहा कि मेरे वार्ड की गली में लॉक डाउन से पहले सीवरेज का काम शुरू हुआ था, लेकिन लॉक डाउन के चलते बंद हो गया था। इसके चलते गली में कुछ हिस्से की खुदाई हो चुकी है और खुदाई में से निकले हुए पत्थर गली में ही पड़े है। जिससे की स्थानीय लोगों को काफी दिक्कत हो रही है। हैरत इस बात की है कि लगभग तीन महीने से सीवरेज के लिए की गई खुदाई के बाद यह पत्थर तथा अन्य कचरा लोगों के दरवाजों के बाहर ही पड़ा हुआ है। 

    ये भी पढ़े-इस वक़्त कि बड़ी खबर , होने वाला है फिर से सब कुछ बंद लगेगा लॉकडाउन

    नगर परिषद में विकास किस गति से दौड़ रहा है, इसकी वानगी वार्ड नंबर दो में खोदी गई गली से ही लगाई जा सकती है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि नगर परिषद बददी में अन्य विकास कार्य किस गति से हो रहे होंगे। एक चुने हुए जनप्रतिनिधि को अपने वार्ड का कार्य करवाने के लिए विधायक से गुहार लगानी पड़ रही है। क्या नगर परिषद बददी में विकास कार्यों में भेदभाव हो रहा है अथवा नगर परिषद के अधिकारी जानबूझ कर विकास कार्यों को रोक रहे हैं। 


    पार्षद मोनिका कौशल के पत्र से इस ओर ही इशारा जा रहा है। पार्षद मोनिका कौशल ने इसके लिए विधायक, नगर परिषद के अध्यक्ष, कार्यकारी अधिकारी तथा कनिष्ठ अभियंता से मांग की है कि गली की खुदाई के बाद बिखरे पड़े इन पत्थरों को उठवा दे। ताकि आम जनता को कोई परेशानी न हो। पार्षद मोनिका कौशल की इस गुहार का कितना असर होता है अब यह देखने वाली बात है।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad