Header Ads

  • BREAKING NEWS

    UNHRC विशेषज्ञों ने चीन में मानवाधिकारों के दमन पर गहरी चिंता जताई




    We News 24 Hindi »अंतर्राष्ट्रीय खबर 


    जेनेवा, प्रेट्र। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने चीन में मानवाधिकारों के दमन पर गहरी चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि शिंजियांग के मुस्लिम बहुल इलाके में उइगर मुसलमानों के साथ बेहद बर्बर व्यवहार हो रहा है । चीन ने तिब्बत के स्वायत्त क्षेत्र की आज़ादी भी छीन ली है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायोग कार्यालय ने शुक्रवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहा कि चीन की सरकार से नागरिकों की मौलिक आज़ादी का दमन रोकने के लिए कई बार बात की जा चुकी है । 

    संयुक्त राष्ट्र ने शिंजियांग प्रांत और तिब्बत के लोगों के दमन को लेकर एतराज़ जताया था। वहां वकीलों को बंदी बनाए जाने और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के ग़ायब होने पर भी सवाल उठाए थे। संयुक्त राष्ट्र विशेषज्ञों ने कोविड-19 पर जानकारी दे रहे पत्रकारों, स्वास्थ्य कर्मियों के भी दमन की बात भी कही है। 


    हांगकांग में चीन के अत्याचार को लेकर चिंता
    संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग ने हांग कांग में चीन के अत्याचार को लेकर चिंता व्यक्त की है। आयोग ने वहां हो रहे प्रदर्शनों को दबाने और उत्पीड़न के आरोपों पर चीन से सवाल किया है। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में अमेरिका, ब्रिटेन की अपील पर इस मुद्दे पर अनौपचारिक चर्चा की गई थी। 

    ये भी पढ़े-चीन विवाद: राहुल गांधी से अमित शाह बोले, चर्चा करनी है तो आइए,1962 से आज तक सभी बातों पर हो जाय दो दो हाथ हो जाएं...

    'आज़ादी दबाए जाने को लेकर चिंता' 
    UNHRC उच्चायुक्त के ऑफ़िस ने बयान जारी कर कहा है कि संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र विशेषज्ञ ने चीन से लगातार संपर्क किया है और चीन में मूलभूत आज़ादी को दबाए जाने को लेकर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने आरोप लगाया है कि हांग कांग विशेष प्रशासन में विरोध प्रदर्शनों और लोकतंत्र की वकालत को दबाया जाता है। 

    ये ही पढ़े-नीतीश-चिराग में अन बन ,बिहार चुनाव से पहले चौंकाने वाला बयान दिया चिराग पासवान


    'हांग कांग में बलप्रयोग और महिलाओं का शोषण-उत्पीड़न' 
    UNHRC ने यह भी आरोप लगाया है कि वहां पुलिस को अत्यधिक बलप्रयोग की भी इजाज़त है। प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केमिकल एजेंट्स तक इस्तेमाल किए जाते हैं। यही नहीं, महिला प्रदर्शनकारियों के पुलिस स्टेशनों में यौन शोषण और प्रताड़ना और हेल्थ केयर वर्कर्स की प्रताड़ना के आरोप भी लगे हैं। चीन हांग कांग पर पकड़ मजबूत करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लाया है। इस पर काम करने के लिए उसने एक ब्यूरो भी खोलने का फैसला किया है। चीन ने इसे आंतरिक मुद्दा बताया है। इस कानून के लागू होने के बाद हांग कांग में विरोध प्रदर्शन करना आसान नहीं होगा। 

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad