Haider Aid

  • Breaking News

    VIDEO:विष्णु पुराण धरावाहिक में कलवार कलवार,कलार,कलाल,समाज के अराध्य भगवान सहस्त्रार्जुन के चरित्र को विकृत एवम अपमानित किया है





    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 


    एडिटर एंड चीफ दीपक कुमार के साथ विशाल चौधरी की रिपोर्ट

    नई दिल्ली :  दूर दर्शन पर चलने वाले विष्णु पुराण धरावाहिक के माध्यम से कलवार|कलार, कलाल,समाज के अराध्य भगवान सहस्त्रार्जुन के चरित्र को विकृत एवम अपमानित करने का प्रयास किया जा रहा है |  पूरे देश  में इसको लेकर विरोध हो रहा है| कलवार,कलार, कलाल,समाज के लोग पत्राचार, ईमेल, ट्वीटर, सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार और केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री  से विरोध जता रहे है |

      बीआर चोपड़ा द्वारा निर्मित विष्णु पुराण के  एपिसोड नं 49 से 63 तक  बिना किसी प्रमाण के मनग्रन्थ  बातों के सहारे हमारे अराध्य भगवान राज राजेश्वर सहस्त्रार्जुन महराज के चरित्र को विकृत एवम  अपमानित  , करने का प्रयास किया गया है | उसे अविलम्ब बंद करे | नहीं तो कलवार,कलार, कलाल,समाज के लोग आन्दोलन करेने पर मजबूर हो जायेंगे |



    ये भी पढ़े-VIDEO:गालवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में शहीद बिहटा के लाल के लिए कैंडिल मार्च निकाला कर श्रधांजलि दी गयी





    ईस सब विषय को लेकर अखिल भारती जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा के राष्ट्रिय अध्यक्ष अशोक जी जयसवाल के मार्गदर्शन में दिल्ली  के जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा के अध्यक्ष  शैलेन्द्र कुमार जायसवाल ऐडवोकेट , जो पिछले 40 दिन से इस पर  सीधी कार्यवाही कर रहे है। उनके  टीम के सभी सदस्यों द्वारा दिल्ली में लगातार प्रयास के बाद अपने समाज की सांसद  माननीय  श्रीमती रमा देवी  , पीठासीन - सभा पति लोकसभा  व चेयरपर्सन -सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता संसदीय समिति लोकसभा के 13 जून 2020 को पहली बार  12:40 pm पर शैलेन्द्र जायसवाल दिल्ली के फ़ोन से ही  मा. प्रकाश जावड़ेकर जी को बात किया और मंत्री जी ने संसद महोदया को कहा  कि धारावाहिक विष्णु पुराण  का विवादित एपिसोड 49 से 63 तक का  प्रसारण रोकेंगे । इसका प्रसारण नही होगा । 



    ये भी पढ़े-VIDEO:चीन पर सर्ज़िकल स्ट्राइक करो या पहन लो चूड़ियां : शम्स शाहनवाज


    फिर एक बार 18 जून 2020 को प्रातः 11:30 बजे रामा देवी सांसद महोदया के निवास पर  शैलेन्द्र जायसवाल  अध्यक्ष दिल्ली ,  विजय भगत पूर्व उप महापौर के साथ दिल्ली  के प्रमुख  पूरी टीम ,इस संदर्भ में ,मीडिया के साथ मिलने पहुँचे । सांसद  रामा देवी जी  को फिर एक नया ज्ञापन का  पूरा सेट दिया गया , उन्होंने फिर  चर्चा में मीडिया को  बताया कि मेरी बात मंत्री सी दूसरी बार भी हो गयी  है ,  उन्हीने प्रसारण रोकने के लिए वचन दिया है।  इसके बाद प्रधानमंत्री जी  , गृहमंत्री जी को एक पूरा सेट का ज्ञापन दिया गया ।

    आइये जानते है भगवान कार्तवीर्यार्जुन के बारे में 

    भगवान कार्तवीर्यार्जुन को कोई युद्ध में नहीं हरा सकता था पुराणों धार्मिक ग्रंथों में कार्तर्ववीर्यर्जुन भगवान विण्णु के अंश चक्रा अवतार थे किसी भी धार्मिक ग्रंथों श्लोक ,चौपाई ,छंद,आदि मे मृत्यु के सम्बन्ध में प्रमाण के रूप में कहीं नहीं वर्णन मिलता है भ्रांतियां फैलाई गई कि परशुराम ने भगवान सहस्त्रार्जुन का वध किया था जो निराधार व भ्रामक कहानियां गढी गई हैं 

     उक्त विचार व्यक्त करते हुए अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा की राष्ट्रिय कार्यकारी अध्यक्ष शैलेन्द्र जायसवाल ने कहा 

    स्वयं परशुराम जी ने माता सीता के स्वयंवर के समय में भगवान राम के द्वारा टूटी हुई धनुष के प्रसंग में  परशुराम ,ने लक्ष्मण जी से  संवाद करते हुए कहा सहस्त्रबाहु भुज छेदन हारा |परसु बिलोकु महीप कुमारा|| इसका वर्णन तुलसी कृत रामायण के बालकांड में  भगवान श्रीराम, लक्ष्मण परशुराम संवाद मे पढ़ा, देखा जा सकता है परशुराम जी ने सिर्फ भुजाओं का छेदन करने की बात कही है* *शेषाअवतार लक्ष्मण जी से,यह नहीं कहा कि मैने सहस्रवाहु का वध किया है |

    कबीर दास के बीजक आठवें शब्द की 11 वीं पंक्ति में वर्णित है परशुराम क्षत्रिय  नहीं मारे छल माया  किन्हीं| अर्थात परशुराम  छल छदम मायाजाल मायावी उपाय करने के बाद भी पराजित नहीं कर सके *वर्तमान में इसका साक्ष्य महेश्वर  स्थित सहस्त्रबाहु की समाधि पर मंदिर है* इससे स्पष्ट है सहस्त्रवाहु के पुत्र जयध्वज के राज्याभिषेक के बाद तपस्या योग के बाद समाधि ली थी इसलिए यह समाधि स्थल मंदिर कहलाता है  आज भी सभी समाज के लोग मन्नत मानते हैं मन्नत पूर्ण होने पर देसी घी का चिराग जलाने हेतु देसी घी दान करते हैं |


    और आज उसी कलार, कलाल,समाज के अराध्य भगवान सहस्त्रार्जुन के चरित्र को विकृत एवम अपमानित करने का प्रयास किया जा रहा है | दूर दर्शन पर चलने वाले विष्णु पुराण धरावाहिक के माध्यम से |भगवान सहस्त्रार्जुन के चरित्र हनन करने का प्रयास विष्णु पुराण को माध्यम बनाकर टीवी सीरियल से प्रसारित करने का शाजिस के तहत कुचक्र एक विशेष वर्ग द्वारा रची गई है इसकी जितनी भी निन्दा की जाय कम है। 


    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें



    Post Top Ad

    Post Bottom Ad