Header Ads

  • BREAKING NEWS

    India China Tension :LAC से पीछे हटने को तैयार नहीं चीन, अभी भी चीन के 40 हजार सैनिक तैनात


    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    कविता चौधरी की रिपोर्ट

    #India China Tension


    नई दिल्ली : ऐसा लगता है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव कम करने के मूड में नहीं है। कई दौर पर बातचीत के बावजूद वह तनाव को कम करने की बजाय उसे बढ़ाने पर तुला है। चीन की तरफ से अभी भी पूर्वी लद्दाख के फ्रंट और डेप्थ इलाकों में करीब 40 हजार सैनिक तैनात हैं।


    समाचार एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पूर्वी लद्दाख में टकराव वाली जगहों से तनाव कम करने को लेकर वह प्रतिबद्धता का सम्मान नहीं कर रहे हैं। सरकार और सैन्य स्तरों पर कई दौर की बातचीत के दौरान शर्तों पर बनी सहमति के बावजूद वे पीछे नहीं हट रहे हैं।
    सूत्रों ने बताया, चीन ने तनाव कम करने का कोई संकेत नहीं दिया है और युद्ध सामग्री जैसे एयर डिफेंस सिस्टम, लंबी दूरी की तोपें, बख्तरबंद गाड़ियों के साथ अग्रिम इलाकों में करीब 40 हजार की भारी संख्या के साथ सैनिकों को तैनात किए हुआ है। 


    सूत्रों ने बताया कि कॉर्प्स कमांडर्स के बीच पिछले हफ्ते हुई बातचीत के बाद सैनिकों के कम करने की प्रक्रिया में कोई प्रगति नहीं हुई है और न ही ग्राउंड पॉजिशन में किसी तरह का कोई बदलाव हुआ है।

    ये भी पढ़े-Bihar Political News:जनता के हित को छोड़ राजनीति करने में मस्त है बिहार सरकार : शरद यादव


    सूत्रों ने यह भी बताया कि चीन फिंगर 5 एरिया से अपने स्थाई सिरजिप के ठिकाने पर नहीं जाने पर अड़ा हुआ और वह फिंगर एरिया में ऑब्जर्वेशन पोस्ट बनाना चाहता है। इसी तरह, उसने हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा पोस्ट इलाके में भारी निर्माण किया है। पूर्वी लद्दाख सेक्टर में ये दो जगह टकराव के प्वाइंट्स हैं।

    ये भी पढ़े-Bihar News: एनडीआरएफ ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र से सर्पदंश पीड़ित लड़की को बचाया


    हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा इलाके में चीन यह दलील दे रहा है कि अगर वे अपने स्थाई ठिकानों पर लौटता है तो ऐसा संभव है कि भारत सामरिक रूप से अहम ऊंचाई वाले ठिकानों पर अपने कब्जा जमा लेगा। कॉर्प्स कमांडर के बीच आखिरी बार 14-15 जुलाई को हुई बैठक के दौरान यह सहमति बनी थी कि दोनों पक्ष सैनिकों के कम करने को मॉनिटर करेंगे और अगरे कुछ दिनों में उसको वैरिफाई करेंगे।


    राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान यह साफ किया था कि विवाद के समाधान और दोनों पक्षों की संतुष्टि के लिए दोनों पक्षों को अपने स्थाई ठिकानों पर वापसी करना होगा।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad