Header Ads

  • BREAKING NEWS

    Coronavirus News Update:थमी दिल्ली में लगी कोरोना पर ब्रेक, इन राज्यों की अभी भी बिगड़ रहे है हालात


    We News 24 Hindi »दिल्ली/एनसीआर

    कविता  चौधरी  की रिपोर्ट


    नई दिल्ली:भारत में कोरोना वायरस जिस रफ्तार से पैर पसार रहा है उसने सबको डरा दिया है। हर दिन रेकॉर्ड मरीज सामने आने के बाद देश और प्रदेश की सरकारें भी चिंतित हैं। पर दिल्ली में अच्छी खबर ये है की जिस यंहा रफ्तार से कोरोना ने तेजी पकड़ा है उसी रफ़्तार से लोग ठीक भी हो रहे है दिल्ली में अभी तक 1.19 लाख लोग संक्रमित हुए जिसमे से 97,693लोग  ठीक होकर अपने घर गए और अब कुल एक्टिव केस 17,407 बचा है तो  थमी दिल्ली में कोरोना की रफ्तार मगर इन प्रदेशों में अब बिगड़ रहे हालात


    इसी बीच दुनिया की सबसे पुरानी और प्रसिद्ध चिकित्सा पत्रिकाओं में से एक ‘द लांसेट’ के एक अध्ययन के अनुसार मध्य प्रदेश,बिहार और तेलंगाना के कुछ जिलों में कोरोना विकराल रूप लेता जा रहा है।

    ये ही पढ़े-Hariyali Teej 2019:हरियाली तीज 23 जुलाई को ,आइये जानते है कैसे मनाय इस बार तीज महोत्सव को


    इन प्रदेशों में महामारी का बुरा असर
    मध्य प्रदेश के कुछ जिले कोविड-19 वैश्विक महामारी के लिहाज से सबसे अधिक संवेदनशील हो सकते हैं और उनके बाद बिहार तथा तेलंगाना के कुछ जिलों में इस वैश्विक महामारी का सबसे बुरा असर पड़ सकता है। अध्ययन में इन राज्यों में आवास, स्वच्छता और स्वास्थ्य प्रणाली जैसे अहम मानकों का विश्लेषण किया गया है। नयी दिल्ली स्थित जनसंख्या परिषद के राजीव आचार्य समेत वैज्ञानिकों के अनुसार अनुसंधान में संवेदनशीलता का मतलब संक्रमण के नतीजों के खतरों से है जिसमें संक्रमण का प्रसार, मरीजों की संख्या, मृत्यु दर और महामारी के सामाजिक एवं आर्थिक प्रभाव शामिल हैं।


    इन नौ राज्यों में कोरोना हावी
    अध्ययन में कहा गया है कि 30 बड़े राज्यों में नौ राज्यों मध्य प्रदेश, बिहार, तेलंगाना, झारखंड, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और गुजरात में कोविड-19 महामारी का सबसे बुरा असर पड़ा है। वैज्ञानिकों ने अध्ययन में कहा, ‘हमारे सूचकांक का मकसद नीति निर्माताओं को कोविड-19 महामारी से निपटने में बेहतर तैयारी के लिए संसाधनों का आवंटन करने और जोखिम दूर करने की रणनीतियां बनाने के लिए क्षेत्रों का चयन करने में मदद करना है।’




    अभी नहीं तो आगे प्रभावित हो सकते हैं राज्य
    उन्होंने भारत में कई संवेदनशील जिलों की पहचान की है जहां अभी कोविड-19 के ज्यादा मामले नहीं है लेकिन वे इस महामारी से बुरी तरह प्रभावित हो सकते हैं। अध्ययन में जहां इस संक्रामक रोग के लिहाज से मध्य प्रदेश को सबसे अधिक संवेदनशील बताया गया है, वहीं सिक्किम में इसका सबसे कम असर पड़ेगा। शोधकर्ताओं ने कहा कि इस अध्ययन में इस्तेमाल डाटा दो से पांच साल पुराना है और ऐसा हो सकता है कि उन जिलों में संवेदनशीलता का सटीक आकलन न हो जहां अभी तक बहुत तेजी से बदलाव हुए हैं।

    ये भी पढ़े-Sonu Punjaban Story: जिससे की शादी उसका हुआ एनकाउंटर,ऐसे बनी गीता अरोड़ा से सोनू पंजाबन लेडी डॉन, पढ़े पूरी कहानी


    कोरोना के केस 10 लाख पार
    कोरोना वायरस के 36 हजार से ज्‍यादा नए मामले गुरुवार को सामने आए। इसी के साथ ही, भारत 10 लाख कोरोना केसेज वाला दुनिया का तीसरा देश बन गया। मौतों की संख्‍या भी 25 हजार से ज्‍यादा हो गई है। हालांकि जनसंख्‍या के लिहाज से देखें तो प्रति 10 लाख आबादी पर 18 व्‍यक्तियों की मौत हुई है। यह दर दुनिया के कई देशों के मुकाबले बेहद कम है। मसलन अमेरिका में प्रति 10 लाख जनसंख्‍या में 415 मरीजों की मौत हो रही है। दुनियाभर में 1.4 करोड़ से ज्‍यादा लोगों को इन्‍फेक्‍ट कर चुकी यह बीमारी अबतक 5,80,000 से ज्‍यादा मौतों की वजह बनी है।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad