Header Ads

  • BREAKING NEWS

    kathmandu:चीन के कठपुतली नेपाल ने भारत के खिलाफ एक नया पैतरा चला ,इन कामो में डाल रहा अड़ंगा



    We News 24 Hindi » काठमांडू/नेपाल 

    मिडिया रिपोर्ट


    #International  Nepal News 


    नई दिल्ली/काठमांडू : एक तरफ लद्दाख में सीमा पर सड़कों के निर्माण से चीन बौखला गया तो इन दिनों चीन के  इशारे पर बन्दर का नाच कर  रहे नेपाल भी बॉर्डर पर भारतीय इन्फ्रास्ट्रक्चर से दिक्कत होने लगी है, जबकि ये पूरी तरह असैन्य हैं। बाढ़ का बहाना बनाकर नेपाल ने भारतीय सड़कों और बांधों को लेकर आपत्ति जताई है। उसने बकायदा राजनयिक पत्र भेजकर विरोध किया है। इसमें कहा गया है कि भारत ने नेपाल से दक्षिण की ओर बहने वाली नदियों और नदियों के प्राकृतिक प्रवाह को रोकने के लिए बांधों, तटबंधों, सड़कों और अन्य संरचनाओं का निर्माण किया है।

    ये भी पढ़े-Rajsthan Political Fight भाजपा ने कांग्रेस द्वारा जारी ऑडियो टेप के लिए कांग्रेस नेताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई

    नेपाल के प्रमुख समाचारपत्र कांतिपुर ने यह खबर दी है। इसमें कहा गया है सिंचाई मंत्रालय के सचिव रवींद्रनाथ श्रेष्ठ के हवाले से कहा गया है कि विदेश मंत्रालय के माध्यम से एक राजनयिक पत्र भारत को भेजा गया है। उन्होंने बताया कि इस मुद्दे को सुलझाने के लिए भारतीय पक्ष के साथ अनौपचारिक बातचीत की जा रही है। नियमित कार्यक्रम के अनुसार, बाढ़ और जल प्रबंधन पर नेपाल-भारत संयुक्त समिति (JCIFM) की बैठक नवंबर में होने वाली है। इस साल भारतीय पक्ष को बैठक को समय से पहले आयोजित करने के लिए कहा गया है।  

    ये भी पढ़े-Rajasthan Political Crisis :राजस्थान SOG टीम को मानेसर रिसॉर्ट में जाने से हरियाणा पुलिस ने रोका

    हालांकि, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता भरतराज पौड्याल ने कहा कि राजनयिक नोटों के माध्यम से अन्य मंत्रालयों से संबंधित देशों को पत्र भेजने का काम नियमित है। उन्होंने कहा कि नेपाल और भारत दोनों आवश्यक होने पर राजनयिक नोट्स का आदान-प्रदान करते हैं। नेपाल के लिए भारत को राजनयिक नोट भेजना कोई नई बात नहीं है। खबर के मुताबिक राजनयिक नोट में कहा गया है कि  भारत ने सीमा क्षेत्र में बने बांधों और तटबंधों की ऊंचाई बढ़ाकर और नदी के दोनों किनारों पर तटबंधों का निर्माण कर प्राकृतिक प्रवाह को रोक दिया है।


    ये भी पढ़े--Coronavirus News Update:थमी दिल्ली में लगी कोरोना पर ब्रेक, इन राज्यों की अभी भी बिगड़ रहे है हालात


    गौरतलब है कि पिछले दिनों नेपाल के गृहमंत्री राम बहादुर थापा ने कहा था कि भारत ने सीमा के समानांतर सड़कों और अन्य इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण करके पानी की निकासी रोक दी और नेपाल को डूबो दिया है। उन्होंने भारत पर नेपाल से बहने वाली नदियों में हस्तक्षेप और संधियों-समझौतें के उल्लंघन का भी आरोप लगाया। प्रतिनिधि सभा की लोक प्रशासन और सुशासन समिति की एक बैठक में थापा ने कहा कि भारत ने सीमा के समानांतर सड़कों का निर्माण किया है इसलिए तराई क्षेत्र बाढ़ग्रस्त है। अगर कोई रास्ता नहीं निकला तो नेपाल पूरी तरह डूब जाएगा।  Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें



    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad