Header Ads

  • BREAKING NEWS

    Muzaffarpur News:हर खेत को पानी योजना से सम्बंधित सिंचाई व्यवस्था का अद्यतन सर्वे का कार्य शुक्रवार से आरंभ




    We News 24 Hindi » बिहार/राज्य/मुजफ्फपुर

    नीरज कुमार की रिपोर्ट 


     मुजफ्फपुर:जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय के सभाकक्ष में आहूत की गई। बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी ने जानकारी दी कि प्रत्येक खेत पर सिंचाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से प्लॉटवार सिंचाई व्यवस्था संबंधित सर्वेक्षण के कार्य को लेकर आरंभिक प्रक्रियाएं पूरी  कर ली गई हैं। 

    कल से सर्वे का कार्य शुरू होगा जो आगामी 20 दिनों तक चलेगा। बैठक में सर्वे कार्य से संबंधित तकनीकी एवं प्रशासनिक पहलुओं पर विस्तृत परिचर्चा की गई एवं इस संबंध में  महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने इसके लिए जिला स्तर पर विभिन्न विभागों की बनी समन्वय समिति के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी विभाग अपने - अपने उत्तरदायित्व का अक्षरशः निर्वहन करें ताकि उक्त कार्य निर्धारित अवधि तक पूरा किया जा सके। इस सर्वे का उद्देश्य प्रत्येक खेत पर सिंचाई व्यवस्था सुनिश्चित करना है। 


    सर्वे के माध्यम से सिंचित क्षेत्रों में वर्तमान सिंचाई के स्रोत तथा असिंचित क्षेत्रों में संभावित उपयुक्त सिंचाई के स्रोत की जानकारी प्राप्त की जाएगी।यह कार्य राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के डिजिटाइज्ड भू अभिलेख के आधार पर तैयार किए गए विशेष ऐप के माध्यम से किया जाएगा। ऐप में पूर्व से उपलब्ध राजस्व विवरणी के आलोक में जमाबंदी वार एवं प्लॉट वार उपलब्ध सिंचाई व्यवस्था एवं संभावित सिंचाई के स्रोत की जानकारी प्राप्त कर अपलोड किया जायेगा।

    ये भी पढ़े-व्यंग : गरीब हटाओ आंदोलन के नेता जी ने मुझे बुलाया


    सर्वेक्षण कार्य में डिस्ट्रिक्ट इरीगेशन प्लान, जल संसाधन विभाग एवं लघु जल संसाधन विभाग की परिसंपत्तियों, पांचवा एवं छठा लघु सिंचाई गणना के आंकड़े तथा जल जीवन हरियाली अभियान के तहत सृजित एवं विकसित जल स्रोतों के आंकड़ों का भी उपयोग किया जा सकेगा।सर्वेक्षण का कार्य मुख्य रूप से कृषि विभाग के कृषि समन्वयक एवं किसान सलाहकार द्वारा स्थल भ्रमण कर किया जाएगा। इसका सत्यापन अंचलाधिकारी एवं भूमि सुधार उप समाहर्ता तथा अनुमोदन अपर समाहर्ता करेंगे । प्रत्येक पंचायत और हल्का के लिए एक कृषि समन्वयक या किसान सलाहकार को नामित किया गया है। 


    सर्वे में भूमि से संबंधित अभिलेख के बारे में आवश्यक जानकारी एवं सहयोग देने के लिए राजस्व ग्राम वार सर्वेक्षण हेतु रोस्टर तैयार कर राजस्व कर्मचारी और अंचल निरीक्षक की प्रतिनियुक्ति सभी अंचलाधिकारी सुनिश्चित करेंगे। सभी अंचलाधिकारी सर्वेक्षण कार्य की अवधि में नियमित रूप से क्षेत्र भ्रमण कर कृषि विभाग एवं राजस्व विभाग के कर्मियों के बीच आवश्यक समन्वय कराएंगे। सभी भूमि सुधार उप समाहर्ता भी समय-समय पर क्षेत्र भ्रमण कर सर्वे कार्य के प्रगति की निगरानी करेंगे तथा जिला पदाधिकारी को इससे अवगत कराएंगे। इस सर्वेक्षण कार्य के जिला स्तर पर निगरानी के लिए जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में एक समिति भी गठित की गई है, जो समय- समय पर बैठक कर प्रगति की समीक्षा करेगी।



    बैठक में जिलाधिकारी ने सभी पदाधिकारियों को उनके दायित्वों के बारे में विस्तृत एवं स्पष्ट रूप से जानकारी दी। ए०ड़ी ०आई ०ओ प्रवीण कुमार झा ने बताया कि सर्वेक्षण कार्य में लगाए जा रहे कर्मियों को इस ऐप के उपयोग की प्रक्रिया के बारे में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आवश्यक प्रशिक्षण दिया जा रहा है।कहा कि  मास्टर ट्रेनर को भी सभी तकनीकी बारीकियों से अवगत कराया जा रहा है।मालूम हो कि इस कार्य मे एनआईसी का महत्वपूर्ण रोल है। सिंचित क्षेत्रों के लिए सिंचाई स्रोत की जानकारी प्राप्त कर ऐप के माध्यम से अपलोड करेंगे। इसी प्रकार असिंचित क्षेत्रों के लिए संभावित उपयुक्त सिंचाई के साधनों के बारे में किसानों एवं आसपास के लोगों से जानकारी प्राप्त कर ऐप पर अपलोड करेंगे। सर्वेक्षण का कार्य जियो टैगिंग के साथ किया जाएगा।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad