Header Ads

  • BREAKING NEWS

    Muzaffarpur:पहली बार बाबा गरीबनाथ मंदिर में नहीं हुआ जलाभिषेक




    We News 24 Hindi » बिहार/राज्य/मुजफ्फपुर

    नीरज कुमार की रिपोर्ट

    #Muzaffarpur Bihar News

    मुजफ्फरपुर: ऐसा पहली बार हुआ है। सावन माह की पहली साेमवारी हाे और शिवभक्त बाबा मंदिर में नहीं पहुंच सकेंगे। बाबा गरीबनाथ सहित जिले के प्रमुख शिव मंदिर में श्रद्धालु जलाभिषेक ही नहीं, शिवलिंग का दर्शन तक नहीं कर पाए । पिछले वर्ष तक प्रत्येक साेमवारी काे शिव भक्ताें की भीड़ काे नियंत्रित करने के लिए शहर में बैरिकेडिंग हाेती थी। और  इस साल मंदिर में भक्ताें के प्रवेश पर राेक लगाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से  कई किलोमीटर दूर से ही बरकेटिंग लगा दिया गया है। 



    सावन मेले में लाखों की दुकानदारी होता था

    साथ ही दुकानदारों ने बताया कि सावन मेले में लाखों की दुकानदारी होता था जो सब ठप रहा है। जहां लोखों की भीड़ नजर आती थी वहां पूरा दिन सुनसान रहा। पंडित विनय पाठक ने बताया कि पहली सोमवारी को लाखो कावरिया जलाभिषेक करते थे जो आज कारोना महामारी को लेकर बंद है एवं सावन भर मंदिर के गेट बंद रहेगें।


    सभी प्रमुख शिव मंदिराें में मजिस्ट्रेट व फाेर्स तैनात


    जिले के सभी प्रमुख शिव मंदिराें में मजिस्ट्रेट व फाेर्स तैनात किए गए हैं ताकि, काेई श्रद्धालु शिव मंदिर तक न पहुंचें। प्रशासन काे आशंका है कि विभिन्न शिव मंदिराें में जलाभिषेक के लिए भीड़ बढ़ सकती है। ऐसे में काेराेना का संक्रमण राेकने तथा विधि-व्यवस्था बनाए रखने के लिए एसडीओ पूर्वी ने बाबा गरीबनाथ मंदिर समेत 4 प्रमुख शिव मंदिराें के आसपास 12 मजिस्ट्रेट की तैनाती की है। इसमें बाबा गरीबनाथ मंदिर के मुख्य द्वार, पश्चिम में सुधा डेयरी के पास व माखनसाह चाैक पर 6 मजिस्ट्रेट व 3 एएसआई काे प्रतिनियुक्त किया गया है।

    ये भी पढ़े-Waqar Malik अपने आने वाले सिंगल गुलाबी के लिए पूरी तरह तैयार है ।

    सावन में पांच सोमवार पड़ना शुभ संकेत

    भगवान शिव का प्रिय महीना सावन की शुरुआत 6 जुलाई यानी आज से हो रही है। इस बार सावन की शुरुआत ही सोमवारी को हो रही है। इस बार लंबे अरसे के बाद सावन महीने में पांच सोमवारी पड़ रही है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, सावन में पांच सोमवार पड़ना भगवान भोले की पूजा-पाठ के हिसाब से शुभ संकेत है। 

    सावन सोमवार से शुरू सोमवार को ही समाप्त 

    सालों बाद ऐसा संयोग बन रहा है। पंडित के अनुसार, सावन के महीने में भगवान शिव की पूजापाठ का विशेष महत्व होता है। खासतौर से कुंवारी कन्याओं और विवाहिताओं के लिए। वहीं इस बार का सावन खास भी है। क्योंकि इस बार सावन सोमवार से शुरू होकर सोमवार को ही संपन्न हो रहा है। इस बार कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रशासन ने मंदिरों के लिए विशेष गाइडलाइन जारी कर दी है। इसके अनुसार कहीं भी भीड़ नहीं लगाना है। शिव मंदिरों में भगवान शिव पर जल अर्पण करने के लिए दूर से ही व्यवस्था की गई है।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें


    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad