Header Ads

  • BREAKING NEWS

    Political News:राजस्थान में देखे कौन जीतता है वर्चस्व या स्वाभिमान ,सचिन पायलट खेमा ने खोला अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा



    We News 24 Hindi » राजस्थान/राज्य

    जयपुर से विजेंद्र सिंह  की रिपोर्ट

    #Political News

    राजस्थान: में हाईवोल्टेज  सियासी संग्राम थमता नहीं दिख रहा है आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है अशोक गहलोत खेमा और सचिन पायलट खेमा एक दुसरे के पाले में गेंदा फेकते नजर आ रहे है दोनों खेमा जनता को अपनी-अपनी सफाई देने में जुटे है क्योकि ये साड़ी लड़ाई वर्चस्व और स्वाभिमान का है कहे तो वर्चस्व अशोक गहलोत का और स्वाभिमान सचिन पायलट का अब पायलट ने भी अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है |


    और इसी के  बीच कांग्रेस के बागी विधायक स्पीकर के नोटिस के खिलाफ कोर्ट जाने का मन बना लिया है वो  हाईकोर्ट जाएंगे या सुप्रीम कोर्ट अभी यह तय नहीं है। हालांकि, खबरें आ रही हैं कि इसे लेकर कानूनी सलाह ली जा रही है। बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने सचिन पायलट समेत 19 कांग्रेस विधायकों को नोटिस भेजकर 17 जुलाई तक जवाब देने को कहा है। 

    ये भी पढ़े-Big Breaking :सबसे सुरक्षित जेल 5 कैदी फरार,जेल महकमे में मचा हडकंप

    उधर, बुधवार देर रात पायलट खेमे के 2 विधायक मुरारी लाल और रमेश मीणा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के हॉर्स ट्रेड्रिंग और भ्रष्टाचार के आरोपों को खारिज कर दिया। दोनों ने कहा कि हमारी लड़ाई आत्मसम्मान की है। इनका कहना है कि हम गहलोत के काम से संतुष्ट नहीं हैं।
    'जादूगर गहलोत जनता को भ्रमित कर रहे'



    विधायक मुराली लाल ने कहा, 'लोग मुख्यमंत्री गहलोत को जादूगर कहते हैं। उन्होंने हम लोगों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। यह इस बात को पुख्ता करता है कि वे वास्तव में असली जादूगर हैं। उनमें भ्रमित करने की क्षमता है। वे जादू से ऐसी चीज दिखा रहे हैं, जो हकीकत में नहीं है।' उन्होंने हम पर करप्शन के आरोप लगाए हैं। मैं उनसे पूछना चाहूंगा कि पिछली बार जब उनकी सरकार थी और बहुजन समाज पार्टी से जब हम कांग्रेस में आए थे, तब हमने उनके कितने पैसे लिए थे। वे स्पीच देते थे कि इतने ईमानदार लोग, इतने ईमानदार विधायक मैंने जीवन में नहीं देखे। तो उस समय हम इतने ईमानदार थे और आज भ्रष्ट कैसे हो गए? वे हमें डराना चाहते हैं, लेकिन हमारे संस्कार डरने वाले नहीं हैं।

    ये भी पढ़े-Bihar News:बिहटा स्थित केंद्रीय गृह रक्षा वाहिनी में भी पहुचा कोरोना 37 होमगार्ड जवान हुए पॉजिटिव ।

    'हम मुख्यमंत्री के काम से सहमत नहीं' 
    विधायक रमेश मीणा ने कहा, 'सीएम ने जो स्टेटमेंट दिया है। वह अनुचित है। लोग उनकी कार्यशैली से और उनके कामकाज से असंतुष्ट हैं। राजस्थान में ब्यूरोक्रेसी हावी है। जनप्रतिनिधियों के काम नहीं हो रहे। हमने जो मांगे रखीं, उन पर सीएम ने ध्यान नहीं दिया।'


    कांग्रेस की शिकायत पर स्पीकर ने नोटिस भेजे
    मुख्य सचेतक महेश जोशी ने विधानसभा सचिवालय में शिकायत की थी कि ये विधायक पार्टी की विधायक दल की बैठक से बिना सूचना दिए गैरहाजिर रहे। जबकि पार्टी ने व्हिप जारी किया था। इन पर एंटी डिफेक्शन लाॅ (दल-बदल कानून) लागू होता है। इसके तहत विधायकों की सदस्यता खत्म किए जाने का प्रावधान है। सचिन पायलट, रमेश मीणा, विश्वेंद्रसिंह, दीपेंद्रसिंह, भंवरलाल शर्मा, हेमाराम चौधरी, मुकेश भाकर, हरीश मीणा समेत 19 विधायकों को बुधवार दोपहर में नोटिस भेजे गए थे।

    ये भी पढ़े-Bihar News:बिहार में कोरोना का महाविस्फोट, एक साथ मिले 1320 नये मरीज, सिर्फ पटना में 242


    मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा- सरकार गिराने में जुटे थे पायलट
    बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पहली बार सीधा हमला करते हुए गंभीर आरोप लगाए। कहा- 'पायलट भाजपा के साथ मिलकर सरकार गिराने की साजिश में लगे थे। 20 करोड़ का सौदा था। मेरे पास इसके सबूत भी हैं।'

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad