Haider Aid


 

  • Breaking News

    नितीश कुमार के चाणक्य निति सामने नहीं टिक पाया उद्धव ठाकरे,इस चाल से खा गया मात



    We News 24 Hindi »बिहार/पटना 

    अमिताभ मिश्रा   की  रिपोर्ट 

    पटना: राजनीती गलियारे में  कहा जाता है कि नीतीश कुमार ( Nitish Kumar) भारतीय राजनीति के ऐसे 'चाणक्य' हैं जो जो उनका दांव कभी खाली जाता है . ऐसे ही दांव सुशांत सिंह राजपूत (Sushant singh rajput) मौत के मामला में खेले है, और एक बार फिर सीएम नीतीश ने यह साबित किया है और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) उनके सामने नौसीखिए हुए साबित नहीं टिक पाए नितीश के  चाणक्य निति के सामने .


     सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुशांत मौत केस सीबीआई को सौंपे जाने को सीएम नीतीश भले ही सियासत से जोड़कर नहीं देखने की बात कहते हैं, लेकिन उनकी रणनीति ये साबित करती है कि इस मामले में उनकी सियासत काफी गहरी है.


    बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत केस सीबीाआई को सौंपते हुए साफ कहा कि बिहार की राजधानी पटना में पिता केके सिंह द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर सही है. जाहिर है इस फैसले से नीतीश सरकार का स्टैंड सही साबित हुआ और तमाम राजनीतिक सवालों पर भी एक तरह से विराम लग गया.

    ये भी पढ़े-ऐसा लगता है कि मोदी सरकार हर चीज को कर देगी निजीकरण ,अब IRCTC की बारी है


    गौरतलब है कि इस मामले को लेकर बीते दो महीने से अधिक वक्त से सियासत जारी है. यह तब और तेज हो गई जब सुशांत के पिता केके सिंह ने 28 जुलाई को पटना में प्राथमिकी दर्ज करवाई. इसके बाद 29 जुलाई को जब पटना पुलिस अनुसंधान के लिए मुंबई गई तो महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर आरोप लगे कि उसने लगातार जांच में बाधा पहुंचाई. यहां तक कि मुंबई पुलिस भी अपना कर्तव्य भूल बैठी और बिहार पुलिस का कोई सहयोग नहीं किया.

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad