Header Ads

  • BREAKING NEWS

    Political News: फिर से बनगे राहुल गांधी कोंग्रेस के अध्यक्ष ,AICC अधिवेशन में लग जाएगी मुहर


    We News 24 Hindi »नई दिल्ली 

    रोहित ठाकुर   की  रिपोर्ट 


    नई दिल्ली : ये बात तो तय है की अगले कोंग्रेस के अध्यक्ष  राहुल गांधी होंगे। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के अधिवेशन में उनके नाम पर मुहर लग जाएगी। इस बीच, पार्टी संगठन में उनकी नई टीम भी तैयार हो जाएगी। ताकि, अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालने के बाद वह अपने मुताबिक निर्णय कर सके।  


    कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे असंतुष्ट नेताओं के पत्र को लेकर हुई पार्टी कार्यसमिति (CWC) की बैठक में लगभग हर सदस्य ने राहुल गांधी से अध्यक्ष बनने का आग्रह किया है। CWC ने सर्वसम्मति से जो बयान जारी किया है, उसमें भी सोनिया गांधी के साथ राहुल गांधी के नेतृत्व की तारीफ की गई है।





    यह भी पढ़ें-कांग्रेस कार्यसमिति बैठक में हंगामा ,राहुल पर भड़के सिब्बल और आजाद

    CWC  के मुताबिक, "सरकार की विफलता और विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ सबसे ताकतवर आवाज सोनिया गांधी और राहुल गांधी की है। राहुल गांधी ने भाजपा सरकार के खिलाफ जनता की लड़ाई का दृढ़ता से नेतृत्व किया है।" बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने एक बार फिर दोहराया कि सभी कांग्रेसजनों की इच्छा है कि राहुल गांधी  ही अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालें।


    पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, राहुल गांधी कांग्रेस अधिवेशन में कांग्रेस अध्यक्ष चुने जा सकते हैं। इसके लिए पार्टी लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव की प्रक्रिया को भी अपना सकती है। हालांकि, यह तय है कि सभी प्रदेश कांग्रेस कमेटियां सर्वसम्मति से राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित करेंगी।



    यह भी पढ़े-मुजफ्फपुर : देखे JDU के भावी प्रत्याशी डॉ राजीव कुमार ने उड़ाई लॉकडाउन की धज्जियां, निकाले बैंड बाजे के साथ रैली ,होनी चाहिए इन पर FIR


    कोरोना काल में कांग्रेस अधिवेशन होने तक पार्टी अध्यक्ष के तौर सोनिया गांधी संगठन में जरुरी बदलावों को अंजाम दे सकती हैं। पार्टी के एक नेता ने कहा कि संगठन में राहुल गांधी की पसंद के नेताओं को जगह मिल सकती है। सीडब्ल्यूसी ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर सोनिया गांधी को अधिकृत कर दिया है। सीडब्ल्यूसी में गांधी परिवार से इतर अध्यक्ष बनाने पर कई सदस्यों ने अपनी बात रखी। इन सदस्यों ने किसी अन्य नेता के विकल्प को खारिज करते हुए कहा कि कोई और व्यक्ति पार्टी को नहीं संभाल सकता है।


    राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी में दो माह से अधिक पूरी तरह शून्य था, पर उस वक्त भी पार्टी कोई और नाम नहीं तय पाई थी, बाद में सोनिया गांधी को यह जिम्मेदारी संभालनी पड़ी थी।

    Header%2BAidWhats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad