Header Ads

  • BREAKING NEWS

    एमवाई प्‍लस समीकरण के साथ बिहार के 150 सीटों पर जनता दल राष्‍ट्रवादी लड़ेगी चुनाव : रंजन यादव



    We News 24 Hindi »पटना/बिहार 

    सर्वेश कश्यप  की रिपोर्ट




    •  👉एमवाई प्‍लस समीकरण के साथ बिहार के 150 सीटों पर जनता दल राष्‍ट्रवादी लड़ेगी चुनाव : रंजन यादव
    • 👉15 साल बनाम 15 साल से मुक्ति दिलाने को तैयार जनता दल राष्‍ट्रवादी : अशफाक रहमान


    पटना : जनता दल राष्‍ट्रवादी बिहार के चाणक्‍य, पूर्व सांसद सह मशहूर डॉ. रंजन प्रसाद ने आज पटना में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि उनकी पार्टी बिहार में होने वाले विधान सभा चुनाव में एमवाई प्‍लस समीकरण के साथ 150 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्‍होंने कहा कि पार्टी की ओर मुख्‍यमंत्री के उम्‍मीदवार यादव होंगे और उप मुख्‍यमंत्री मुसलमान और दलित। रंजन यादव ने पत्रकारों से बातचीत में लालू यादव और नीतीश कुमार के शासनकाल को भी निशाने पर लिया और कहा कि दोनों सरकारों ने दलित और अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के लोगों के साथ घोर अन्‍याय किया है। हमारी पार्टी दलितों और अल्‍पसंख्‍यकों के साथ हुए अत्‍याचार की पूरी ईमानदारी के साथ भरपाई करेगी और उनको वाजिब हक मिलेगा। 



    मौजूदा सरकार में जो उर्दू के साथ नाइंसाफी हो रही है, उसको खत्‍म करके उर्दू व हिंदी के अलावा सभी क्षेत्रिय भाषा को उसका मुकाम दिलायेंगे। हमारी सरकार किसानों की बेहतरी के लिए हर मुमकिन कदम भी उठायेगी।  जनता दल राष्ट्रवादी बिहार के चाणक्य और विकास पुर के नाम से मशहूर डॉ. रंजन प्रसाद के नेतृत्‍व में चुनाव लड़ेगी। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान ये बातें पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अशफाक रहमान ने कही। उन्‍होंने कहा कि बिहार को एक नई दिशा देने का वक्त आ गया है। बिहार के लोगों को भरोसा और फरेब के मायाजाल में एक लंबे अरसे तक रखा गया। 


    Header%2BAid


    बिहार में अबतक सिर्फ बातें और वादा का ही सिलसिला चलता रहा। पिछले 30 सालों में सिर्फ उद्योगों को ही बर्बाद नहीं किया गया, बल्कि बिहार से शिक्षा एवं स्वास्थ्य को भी पूरी तरह नैस्तनाबूद कर दिया गया। उद्योग और शिक्षा के चौपट होने से मजदूरों का पलायन हुआ। साथ ही प्रतिभा का भी बिहार से पलायन हुआ। इन तीस वर्षों में रोजगार बिहार के लिए एक सपना बनकर रह गया। दोनों सरकारों में शासन या तो निरंकुश बना रहा या फिर मूकदर्शक बना रहा। अपराध का ग्राफ बढ़ता चला गया।


     हत्याएं होती रहीं। सूबे में अशांति और गुंडाराज रहा, लेकिन दोनों सरकारों के मुखिया का इस पर कभी कोई ध्यान नहीं गया।उन्‍होंने कहा कि जंगलराज बनाम महाजगलराज से मुक्ति पाने का समय 2020 है। ऐसे में डॉ रंजन यादव के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा। बिहार विधानसभा चुनाव में एक नया शिक्षित और नेतृत्व-विकल्प जनता को दिया जा रहा है। 

    ये भी पढ़े-क्या DGP गुप्तेश्वर पांडेय वीआरएस लेकर लड़ेंगे बक्सर से चुनाव ?



    इस अवसर पर राष्ट्रीय प्रवक्ता (वरिष्ठ पत्रकार) ए आर आजाद, राष्ट्रीय महासचिव शौकत अली रिजवी एवं डॉ. नाग नारायण प्रसाद कुशवाहा, प्रदेश अध्यक्ष जुलफक्कार आफताब, महिला प्रदेश अध्यक्ष माला ठाकर, दलित प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष अनिल राम, अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ प्रदेश के  सुरेद्र चौधरी आदि उपस्थित थे।




    Header%2BAid

    Whats App पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 9599389900 को अपने मोबाईल में सेव  करके इस नंबर पर मिस्ड कॉल करें। फेसबुक-टिवटर पर हमसे जुड़ने के लिए https://www.facebook.com/wenews24hindi और https://twitter.com/Waors2 पर  क्लिक करें और पेज को लाइक करें

    WE NEWS 24 AID

    Post Bottom Ad